उर्जांचल टाईगर

.
Latest Post
FEATURED NEWS URJANCHAL NATIONAL NEWS वाराणसी UPNEWS BIHAR सिंगरौली slide NEWS Police SPECIAL REPORT मध्य प्रदेश सच से रु ब रु चन्दौली MADHYA PRADESH पटना JAMUI स्वास्थ्य राजनीति ऊर्जांचल देश-विदेश POLTICS उत्तर प्रदेश बिहार BJP EXCLUSIVE STORY खास खबर SONEBHADRA मुद्दा अपराध SOCIETY STATE NEWS बिजली विभाग अपनी बात सुशासन NCL पर्यावरण Education धर्म-कर्म अर्थ-व्यापार BHU लखनऊ शख्सियत Editorial आधि-दुनियां जयंत CRIME MEDIA आपकी-खबर शिक्षा खेल-जगत Entertenment CONGRESS Election ध्रर्म-कर्म INTERNATIONAL NATIONAL NEWS YOGI CURRENT AFFAIRS कविता-गज़ल किसान शिवराज सिंह चौहान EVENT Rail मीडिया JHARKHAND लखीमपुरखीरी BHOPAL NTPC झारखंड हादसा CINEMA DELHI GANDHI RAJASTHAN PRESS RELEASE शेखपुरा Social Media व्यंग हमसमवेत नरेंद्र मोदी सोनभद्र Gujrat MUZAFFARPUR SHELTER HOME रांची विस्थापन संपादकीय अध्यात्म असंगठित श्रमिक नज़रिया रोहतास स्वतंत्रता दिवस विशेष Chhattisgadh MOB LYNCHING SIDHI कबाड़ का गोरखधंधा योगदिवस व्यापम घोटाला Babri Masjid CHAMPARAN Coal mines Emergency GANGA Petrol karnatak अटल बिहारी बाजपेयी उर्जांचल गंगा न्याय विकास BANK COW Gudget & Technology Job Journalist Naxali अंडरवर्ल्ड डॉन आधार उर्दू कृषि घोटाला डिजिटल इंडिया देवसर नोटबंदी पत्रकारता भाषा रीवा श्रम कानून सृजन घोटाला स्वच्छता अभियान Coal GST International News SATANA अक्षय ऊर्जा अधिकारियों के नवीन पद-स्थापना अनोखा शहर अमेठी अयोध्या आधिदुनिया उचित मूल्य के दुकान कालाधन कासगंज किशनगंज जम्मू-कश्मीर दरभंगा दैनिक भास्कर नोटबन्दी फिल्म समीक्षा राजस्थान राज्य सेवाओं की हलचल राहुल गाँधी लखीसराय विस्फोट सपा स्मार्ट सिटी हाजीपुर 23 जुलाई जयंती पर विशेष AWARD BREAKING NEWS Corruption DIWALI Gaurilankessh ISRO Journalst MCD Miss World 2017 NRC RTO TATA TRUMP अखबार से अधिसूचना अल्ट्रा मेगा सोलर परियोजना आप आरक्षण उज्जैन एमपी हाऊसिंग बोर्ड कव्वाली कुपोषण केंद्र कर्मचारी खादी गाजीपुर गुजरात गोरखपुर डाॅ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम डी तीन तलाक़ तीरंदाजी विश्व कप त्योहार दस्तावेज़ देवराज नरकटियागंज नवादा नवानगर निवास पंकज के. सिंह पुस्तक-समीक्षा पूर्वांचल बक्सर बसंत बुलेट ट्रेन भूकंप महापौर मिर्जापुर यूनिफार्म सिविल कोड रोहनियां लेख वायरल सच समाधान ऑनलाइन सहारनपुर सुपौल स्टार न्यूज़ एजेंसी स्थानीय निवासी प्रमाण-पत्र फ़ैज़ाबाद ‘यंग एंटरप्रन्योर अवार्ड-2015

खाना पूर्ति,के लिए निर्मित रपटा भी चढ़ गया घटिया निर्माण की भेंट

नौशाद  अन्सारी
ब्यूरो सोनभद्र,उर्जांचल टाइगर 

म्योरपुर विकास खण्ड के ग्राम पंचायत पिण्डारी के बिच्छी नदी पर बने रपटा के टूटने से ग्रामीणों को बरसात के मौसम में नदी पार करने ने परेशानी हो रही है। 

गांव के श्याममनोहर, दुदील यादव,दया यादव ने बताया कि बिच्छी नदी पर पिछली सरकार ने रपटा का निर्माण कराया था लेकिन वह भी भरस्टाचार की भेंट चढ़ गया और पिछली बरसात में ही बाढ़ की भेंट चढ़ गया है। बरसात बीतने के बाद हम लोगो ने रपटा के बगल में मिट्टी डाल फिर से आवा गमन शुरू कर दिया था। 

ऐसा आज कितने सालो से चलता आ रहा है हमने इसकी शिकायत तहसील दिवस व जिलाधिकारी को प्राथना पत्र देकर पुलिया निर्माण के लिये मांग किया लेकिन हम लोगो की समस्या को उच्याधिकारियो द्वारा गम्भीरता से न लेने के कारण आज भी हम लोग बरसात में पानी के बहाव के साथ नदी पार करने के लिए विवश है।


पान मति,संगीता ने बताया की हमारे बच्चे नगराज से पिण्डारी प्रथमिक विद्यालय में पड़ते है रास्ते मे बिच्छी नदी पड़ने के कारण हमें डर लगा रहता है कि कैसे अपने बच्चो को पढ़ने भेजे अगर बच्चे स्कूल भी जाते है तो जब तक वापस घर नही आ जाते हम लोगो का ध्यान बच्चो पर ही लगा रहता है। 

बताया कि बरसात के मौसम में हम अपने बच्चों को स्कूल ही नही भेजते है।उपरोक्त ग्रामीणों का कहना है कि जिला प्रशासन और जन प्रतिनिधि इस मामले में अनदेखी कर रहे है। आखिर दो माह हमारे बच्चे स्कूल नही जा रहे है इसकी जिमेवारी कौन लेगा दो माह में आधी किताब तो पढा दी जाएगी।नगराज के दर्जनों बच्चे  उस पढ़ाई से बंचित हो जा रहे है।मांग उठाई की बिछी नदी पर तत्काल पुलिया का निर्माण कराया जाए। 

क्या कहते हैं जिम्मेदार 

लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता पाल का कहना है कि निर्माण कार्य अब बरसात के बाद ही होगा।

मुकेश कुमार
स्टेट हेड , बिहार , उर्जान्चल टाईगर
बिहार।।सूबे के बिहार के जमुई के पूर्व विधायक व कद्दावर भाजपा नेता अजय प्रताप ने पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है।अजय प्रताप ने अपने शोक संदेश में कहा है कि अटल बिहारी वाजपेयी के रूप में देश ने सबसे बड़े राजनीतिक शख्सियत के साथ ही प्रखर व्यक्ता, कवि, लेखक, चिंतक, विचारक और करिश्माई व्यक्तित्व को खो दिया है। अटल बिहारी वाजपेयी ने उच्च राजनीतिक मूल्यों एवं आदर्शों के बदौलत सार्वजनिक जीवन में उच्च शिखर को प्राप्त किया। उन्होंने अपने व्यक्तित्व के बदौलत राजनीतिक सीमाओं के पड़े सभी विचारधारा की राजनीतिक दलों का आदर एवं सम्मान प्राप्त किया।
पूर्व विधायक व कद्दावर भाजपा नेता अजय प्रताप 
अजय प्रताप ने कहा कि अटल जी में सभी विचारधारा के लोगों को साथ लेकर चलने की अद्भुत क्षमता थी।उन्होंने अपने जीवन में लोकतांत्रिक मूल्यों को सर्वोपरि रखा।उनके नेतृत्व में देश का चहूँमुखी विकास हुआ तथा विश्व पटल पर एक सशक्त राष्ट्र के रूप में अपनी छवि स्थापित की।वहीं श्री प्रताप ने कहा कि हमेशा साम्प्रदायिक सौहार्द एवं सामाजिक सद्भाव के मूल्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता अटल बिहारी वाजपेयी जी ने दिया है।उन्होंने अटल जी के निधन को व्यक्तित्व क्षति बताते हुए कहा कि उन्हें सदैव अटल जी का स्नेह और मार्ग दर्शन प्राप्त होता रहा। उनसे सार्वजनिक जीवन में भी काफी कुछ सीखने को मिला।पूर्व विधायक अजय प्रताप ने कहा कि अटल जी के निधन से उन्होंने अपना अभिभावक खो दिया है।अजय प्रताप ने दिवंगत आत्मा को चिर शांति तथा सभी को इस दुख की घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।


मुकेश कुमार
स्टेट हेड , बिहार , उर्जान्चल टाईगर
बिहार।।सूबे बिहार के अंग क्षेत्र के जन-जन के लोकप्रिय युवा महानायक व चकाई के पूर्व विधायक,जदयू नेता सुमित कुमार सिंह उर्फ विक्की सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्रद्धेय श्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा दुःख एवं शोक प्रकट किया है।उन्होंने कहा कि भारत के तीन बार प्रधानमंत्री रहनेवाने श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी भारत ही नहीं, अपितु विश्व के अत्यन्त लोकप्रिय नेताओं में अहम थे। भारतीय राजनीति में वे एक सर्वमान्य नेता के रूप में जाने जाते थे जिनका विरोधी दल के भी प्रायः सभी नेता सम्मान करते थे,वे सदा कहते थे कि राजनीति में मतभेद हो सकते थे, मनभेद नहीं।उनकी अद्वितीय विदेश नीति का सभी सराहना करते हैं। भारतीय राजनीति में वे सफल गठबंधन की राजनीति के निर्माता के रूप में भी जाने जाते हैं। उन्होंने लोकतंत्र में कभी भी अमर्यादित भाषा का प्रयोग नहीं किया।अपने व्यक्तित्व से वे सबके लिए आदर्श बने।
पूर्व विधायक सुमित कुमार सिंह ने कहा कि श्रद्धेय श्री अटल जी भारत माता के ऐसे सपूत थे जिन्होंने अपना जीवन देश और देशवासियों के उत्थान एवं कल्याण के लिए जिया। उन्होंने भारतीय अर्थव्यस्था में सुधार लाने का तेज गति से कार्य किया। उन्होंने स्वर्णिम चतुर्भुज योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, सर्वशिक्षा अभियान,महिला उत्थान के लिए स्वयं सहायता समूह का गठन जैसे कई अहम योजनाओं को संचालित करने का कार्य किया जो देश को तेज गति से विकास के पथ पर ले जाने में कारगर साबित हुआ।उन्होंने संचार क्रान्ति लाने में अहम भूमिका निभाई।उन्होंने पोखरण परमाणु परीक्षण जैसे कई साहसिक निर्णय लिया,कारगिल युद्ध में सेना का मनोबल बढ़ाते हुए देश को विजयी बनाने का कार्य किया।उन्होंने हिन्दी भाषा को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान दिलाने का कार्य किया।वे इस युग के महान राजनीतिज्ञ के साथ कुशल कवि, पत्रकार और प्रखर वक्ता भी थे।उनकी वाणी देश के लोगों को उल्लासित करती थी। देश में कई कुशल एवं दूरगामी प्रभाव वाले योजनाओं को संचालित करने हेतु वे सदा स्मरण किये जायेंगे।सुमित कुमार सिंह ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र एवं राजनीति में भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की अत्यन्त ही कमी महसूस की जायेगी। उन्होंने कहा कि ईश्वर उनकी आत्मा को चिरशांति प्रदान करें।


मुकेश कुमार
स्टेट हेड, बिहार, उर्जान्चल टाईगर
बिहार।।बिहार सरकार द्वारा बिहार को नशामुक्त प्रदेश बनाने के लिए कई तरह के योजनाओ द्वारा आम जनता को जागरूक किया जा रहा है।जिसे लेकर पुलिस प्रशासन व उत्पाद विभाग द्वारा लगातार शराब के विरुद्ध अभियान चलाते हुए बिहार राज्य में पूर्ण शराब बन्दी किया गया।कई जगह में लोग कहते है कि पुलिस द्वारा शराब बेचने में साथ दे रहे है। तो मैं यह नही कहता कि यह नही हो सकता। लेकिन अगर आप के द्वारा पूर्ण साक्ष्य के साथ अगर आप सबूत दे तो कितना भी बड़ा पुलिस अधिकारी या पदाधिकारी हो उसे सलाखों के पीछे भेजते हुए उसे उसके पद से बर्खास्त कर दिया गया है। उक्त बाते सरकार के द्वारा चलाये जा रहे पूर्ण शराब बन्दी को लेकर जागरूक कार्यक्रम में प0 चंपारण जिला के बेतिया नगर भवन में सभा को संबोधन करते हुए बिहार प्रदेश के डीजी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने कही। उन्होंने आगे कहा कि ख़ास कर किसी भी व्यक्ति की पहचान उसकी व्यक्तित्व से होता है। जिसमे उसके घर का माहौल,आस-पास का माहौल, समाज का माहौल आदि के साथ ही किसी भी व्यक्ति के व्यवहार में पाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मैं यह नही कहता कि कोई व्यक्ति खराब होता है लेकिन अफीम,गांजा, शराब आदि का सेवन करने वालो पर जब नशा अपना असर करता है तो वह आदमी खराब हो जाता है। नशे में वह कई गलतियां कर बैठता है। आज कल ख़ासकर के 15 वर्ष, 20 वर्ष 25 वर्ष आदि उम्र में युवक रुमाल में लोसन सूंघ कर नशा कर रहे जो उनके साथ राज्य के भविष्य भी खराब हो रहे है।आइये हम सब संकल्प ले अपने जिले सहित बिहार को नशामुक्त बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे। यही वह चंपारण की धरती है जो अंग्रेजो के खिलाफ कई आंदोलन चंपारण के क्रांतिकारी वीर भी शामिल रहे और उन वीरो के नाम सुनकर अंग्रेजो के रोंगटे खड़े हो जाते थे। अगर एक बार आम जनता जागरूक हो गए तो भ्रष्टाचार, अत्याचार आदि सहित नशा को भी जड़ से मिटा सकते है। उसके पूर्व कई वक्ताओं ने सभा को संबोधन करते हुए अपने-अपने विचार रखे। ख़ास कर सभा का माहौल खुशनुमा तब हुआ जब एक तरफ डीजी गुप्तेश्वर पांडेय बिहार को नशामुक्त बनाएंगे कहते थे तो दूसरी तरफ उपस्थित जनता जय बिहार का नारा लगाते देखे गए।उसके पूर्व बिहार डीजी गुप्तेश्वर पाण्डेय के आगमन पर नगर भवन परिसर में गार्ड ऑफ़ ऑनर दिया गया एवं जाते समय भी गार्ड ऑफ़ ऑनर के साथ विदाई किया गया। वही मंच संचालन शिकारपुर थानाध्यक्ष जितेंद्र प्रसाद ने किया।मौके पर चंपारण क्षेत्र रेंज डीआईजी लालन मोहन सिंह, पुलिस अधीक्षक जयंतकांत, बेतिया एसडीपीओ पंकज कुमार रावत,नरकटियागंज एसडीपीओ नेसार अहमद, नगर थानाध्यक्ष नित्यानंद चौहान,मुफ्फसिल थानाध्यक्ष उपेन्द्र कुमार सहित कई अधिकारी व आम जनता उपस्थित रहे।



सगीर ए खाकसार
वरिष्ठ पत्रकार,उर्जांचल टाइगर 

देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी अब हमारे बीच नहीं रहे।वो करीब दो माह से दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती थी।बुधवार को उनकी तबियत ज़्यादा बिगड़ गयी थी ।उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था।बृहस्पतिवार की शाम 05 बजकर 05 मिनट उन्होंने आखिरी सांस ली।उनके निधन से पूरे देश में शोक की लहर है।अटल जी के निधन की खबर ज्यूँ ही यूपी के बलरामपुर पहुंची जिले में शोक की लहर दौड़ गयी।बलरामपुर जिला कई मामले में बेहद महत्वपूर्ण है।साहित्यिक और राजनैतिक दोनों रुप से बहुत ही उर्वरशील है।अली सरदार जाफरी,बेकल उत्साही सरीखे आलमी शोहरत याफ्ता शायरों की यह जन्म भूमि है तो वहीं दूसरी और देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की सियासी कर्म भूमि के रूप में पूरे हिंदुस्तान में अपनी अलग पहचान रखती है।अटल जी पहली बार बलरामपुर से ही लोकसभा में जनसंघ के टिकट पर पहुंचे थे।

भारत नेपाल की सीमा से सटे जिला बलरामपुर से पूर्व प्रधान मंत्री अटल विहारी बाजपेयी का गहरा रिश्ता था।देश की सबसे बड़ी पंचायत लोकसभा में पहली बार 1957 में वो बलरामपुर लोक सभा सीट से ही चुने गए थे।यह आज़ादी के बाद दूसरा लोक सभा का चुनाव था।जनसंघ ने उन्हें तीन स्थानों लखनऊ,मथुरा,और बलरामपुर लोक सभा सीट से चुनाव लड़ाया था।वो लखनऊ हारे और मथुरा से जमानत जब्त हो गयी।लेकिन बलरामपुर की जनता ने उन्हें यहां से जिता कर लोकसभा में पहुंचा दिया।

आप को बता दें कि 1952 में जनसंघ को सिर्फ चार सीट मिली थी जिसमें एक सीट बलरामपुर की थी।बलरामपुर लोक सभा क्षेत्र में करीब वो डेढ़ दशक तक सक्रिय रहे।1957 में पहली बार उन्होंने कांग्रेस के प्रत्याशी हैदर अली को पराजित किया।अटल जी की लोकप्रियता को देखते हुए कांग्रेस ने अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए 1962 में सुभद्रा जोशी को अटल जी के खिलाफ मैदान में उतारा।इस बार संघर्ष बड़े कांटे का रहा।कड़े मुकाबले में जोशी जी महज 200 मतों से अटल जी को हराने में कामयाब हो पायीं।हालांकि 1967 के चुनाव में अटल जी ने यह सीट सुभद्रा जोशी से छीन कर फिर अपने झोली में डाल ली।

अटल जी करीब 15 वर्षों तक बलरामपुर की सियासत में सक्रिय रहे।वो यहां के लोगों में रच बस गए थे।वह दौर राजनीति में सादगी और नैतिकता का था।संसाधन इतने ज़्यादा नहीं थे।राजनीति में न तो बाहुबली लोग थे और न ही चुनाव ही ज़्यादा महंगा था।अटल जी जीप से चुनाव प्रचार करते थे।कार्यकर्ताओं के घर ही रात में भोजन और विश्राम करते थे।बारिश के मौसम में उन्हें बैल गाड़ी और घोड़े का भी सहारा लेना पड़ता था।यही नहीं यहां के बड़े बुजुर्गों का कहना है कि अटल जी ने बलरामपुर जिले के गौरा चौराहा,रेहरा,और उतरौला में मूसलाधार बारिश होने पर घोड़े से जनसभा स्थल पहुंच कर जन सभा को संबोधित किया था।अटल जी को जनसंघ ने चुनाव में प्रचार प्रसार के लिए एक जीप मुहैया कराई थी।उसी जीप से अटल जी प्रचार करते थे ।कभी कभी धक्के भी लगाने पड़ते थे।अटल जी के समय के ज़्यादातर लोग अब नहीं रहे।लेकिन कुछ लोग अब भी जिंदा हैं।यहां के बड़े बुजुर्गों में उस वक्त की स्मृतियां अभी भी शेष हैं।

साहित्यिक और सामाजिक संस्था बलरामपुर के अध्यक्ष आज़ाद सिंह अटल जी को याद करते हुए कहते हैं कि 1957 में अटल जी रेल से चुनाव लड़ने बलरामपुर आये थे।उन्हें तत्कालीन जनसंघ के महामंत्री राम दुलारे स्टेशन पर लेने गए थे।वो अटल जी को पहचान नहीं पाए और वापस आने लगे तो पीछे से अटल जी ने राम दुलारे जी को आवाज़ लगाई कि मैं हूँ अटल!श्री सिंह कहते है कि वो लोग सादा लो इंसान थे।तब राजनीति सेवा का जरिया थ।

तुलसीपुर विधानसभा सभा क्षेत्र से संघ के विधायक रहे सुखदेव प्रसाद उनके पुराने साथियों में से हैं ।वो अब भी जीवित हैं और बस स्टैंड के पास रहते हैं।वो दो बार संघ के विधायक रहे हैं।यहां के बड़े बुज़ुर्ग बताते हैं कि संघ के एक समर्पित कार्यकर्ता प्रताप नारायण तिवारी ने अटल जी को चुनाव में प्रचार में जीप मुहैया कराई थी। मुकुल चंद्र अटल जी के चुनाव प्रबंधन की ज़िम्मेदारी निभाते थे।जनसभाएं आयोजित करना और उनके पक्ष में भाषण देने का काम करते थे।उनके अहम सहयोगियों में लातबक्श सिंह,दुली चंद्र जैन,बैजनाथ सिंह,सत्येंद्र गुप्ता ,कैलाश जी,आदि थे।जो अटल जी को पूरा सहयोग देते थे।विडंबना यह है कि अब बलरामपुर लोक सभा का नाम भी बदल दिया गया है।जहाँ से देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी कभी चुनाव लड़ा करते थे।अब इसे श्रावस्ती लोकसभा के नाम से जाना जाता है।हालांकि देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की कर्म भूमि बलरामपुर को उनकी जन्मभूमि ग्वालियर से जोड़ने के उद्देश्य से बलरामपुर से एक ट्रेन सुशासन एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा है।

अटल जी खाने पीने के बेहद शौकीन लोगों में से थे ।ये बात तो सभी लोग जानते हैं।बलरामपुर से भी उनके खाने पीने की शौक की आदतें गहरी जुड़ी हुई हैं।बलरामपुर की मीठी दही और पेड़ा किसी ज़माने में बहुत मशहूर हुआ करता था।मुंशियाईन के "पेड़े" और "मीठी दही"के अटल जी बहुत बड़े मुरीद थे।अब न तो अटल जी हमारे बीच रहे और न ही मुंशियाईन ही ज़िंदा हैं।लेकिन अटल जी हम सबकी स्मृतियों में हमेशा ज़िंदा रहेंगे ,और मुंशियाईन के पेड़े की "मिठास"यहां के बुजुगों की याद में आज भी मौजूद है।


नौशाद अन्सारी
ब्यूरो,सोनभद्र,उर्जांचल टाइगर 

पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में वाहन चोरों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत पन्नूगंज पुलिस व स्वाट टीम द्वारा आज 5 बाइक समेत एक स्विफ्ट डिजायर कार बरामद की गई है साथ ही चार वाहन चोरो को गिरफ्तार किया गया है जबकि दो चोर फरार है।

बताते चले कि कुछ दिनों पूर्व कोतवाली रावर्टसगंज और पन्नूगंज थाना क्षेत्र से एक रायल इनफील्ड बुलेट और टीवीएस अपाचे मोटर साइकिल की चोरी की घटना घटित हुई जिसमें उच्चाधिकारियों द्वारा इन घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए अपराध शाखा की वोटिंग लाइंस व इंटेलिजेंस तथा प्रभारी निरीक्षक के साथ घटना के अनावरण हेतु संयुक्त टीम का गठन किया गया। इस टीम को पुलिस अधीक्षक आरपी सिंह द्वारा विशेष निर्देश दिए गए तथा अपर पुलिस अधीक्षक ऑपरेशन द्वारा पर्यवेक्षक करते हुए सूचना प्राप्त परीक्षण किया गया। इससे ज्ञात हुआ कि वाहन चोरी का है तथा इनके द्वारा वाहन से देर रात दिन कस्बों और शहरों में घूमते हुए नए दो पहिया वाहनों को चिन्हित कर किया जाता है ।

जिन्हें चोरी करके बिहार के औरंगाबाद, सासाराम, रोहतास व झारखंड के विभिन्न स्थानों पर वाहनों को 25000 रुपये में बिक्री कर दी जाती है। 15 अगस्त को थाना प्रभारी पन्नूगंज ने मुखबिर की सूचना पर टीवीएस अपाचे बाइक के साथ राहुल चौधरी पुत्र बलिराम थाना सासाराम , रोहतास बिहार , वीरेंद्र कुमार चौधरी पुत्र श्रीराम निवासी खडगा थाना मुफसिल,सासाराम जनपद रोहतास बिहार, प्रवीण सिंह पुत्र उमेश सिंह निवासी करयवा थाना रिसिअप जनपद औरंगाबाद बिहार, रमेश कुमार सिंह पुत्र अर्जुन सिंह निवासी गोरा थाना मदनपुर औरंगाबाद बिहार पकड़े गए हैं ।साथ ही दो अभियुक्त भागने में सफल रहे जिसमें चंद्रशेखर पुत्र अवध नारायण चौहान निवासी वार्ड नंबर 11 थाना अलीनगर चंदौली व गुप्तेश्वर पुत्र पप्पू चौहान निवासी वार्ड नंबर 10 अलीगढ़ चंदौली है। इनके पास से तीन टीवीएस अपाचे , एक बजाज पल्सर और एक रॉयल इनफील्ड बुलेट बरामद हुई है इसके साथ ही इनकी निशानदेही पर एक स्विफ्ट डिजायर कार भी बरामद की गई।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ये अंतर प्रांतीय वाहन चोर गिरोह के सदस्य है जो अब तक 25 से तीस गाड़िया बेच चुके है ये 2 बजे से 3 बजे रास्त को घटना को अंजाम देते थे इनके पास मास्टर की होता है जिससे आसानी से गाड़ियों को खोल लेते है।

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget