उर्जांचल टाईगर

Latest Post
FEATURED NEWS URJANCHAL वाराणसी NATIONAL NEWS UPNEWS BIHAR सिंगरौली slide NEWS Police SPECIAL REPORT मध्य प्रदेश चन्दौली MADHYA PRADESH सच से रु ब रु पटना SONEBHADRA JAMUI स्वास्थ्य POLTICS राजनीति ऊर्जांचल देश-विदेश SOCIETY STATE NEWS उत्तर प्रदेश BJP NCL बिहार खास खबर पर्यावरण EXCLUSIVE STORY अर्थ-व्यापार बिजली विभाग मुद्दा अपराध BHU अपनी बात सुशासन MEDIA धर्म-कर्म लखनऊ शख्सियत Education CRIME जयंत खेल-जगत आपकी-खबर शिक्षा CONGRESS Election आधि-दुनियां Entertenment ABDUL RASHID Rail INTERNATIONAL NATIONAL NEWS ध्रर्म-कर्म CURRENT AFFAIRS YOGI किसान कविता-गज़ल शिवराज सिंह चौहान EVENT Social Media Editorial JHARKHAND NTPC मीडिया PRESS RELEASE व्यंग RAJASTHAN लखीमपुरखीरी BHOPAL DELHI झारखंड हादसा CBI CINEMA GANDHI विस्थापन Chhattisgadh Gujrat नरेंद्र मोदी शेखपुरा अटल बिहारी बाजपेयी अयोध्या आधिदुनिया विधानसभा चुनाव 2018 रांची वीडियो सोनभद्र हमसमवेत CHAMPARAN GANGA Kerala MUZAFFARPUR SHELTER HOME बाढ़ संपादकीय HINDALCO RENUSAGAR अध्यात्म अमृतसर रेल हादसा असंगठित श्रमिक कबाड़ का गोरखधंधा तालीमी बेदारी दीपावली नज़रिया रोहतास स्टार न्यूज़ एजेंसी स्वतंत्रता दिवस विशेष #Me_Too AYUSHMAN BHARAT MOB LYNCHING Petrol SIDHI गंगा नोटबंदी बुलंदशहर हिंसा योगदिवस व्यापम घोटाला BANK COW Coal mines Emergency उर्जांचल कृषि डाॅ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम डिजिटल इंडिया न्याय परमधर्मसंसद् 1008 भाषा विकास Corruption Gudget & Technology Job Journalist Naxali karnatak अंडरवर्ल्ड डॉन अयोध्या भूमि मालिकाना हक मामला आधार उर्दू घोटाला देवसर पत्रकारता राहुल गाँधी रीवा श्रम कानून सपा सृजन घोटाला स्वच्छता अभियान Coal GST Gaurilankessh International News JNU NRC SATANA SC/ST Act अक्षय ऊर्जा अधिकारियों के नवीन पद-स्थापना अनोखा शहर अमेठी उचित मूल्य के दुकान कासगंज किशनगंज जम्मू-कश्मीर जय आदिवासी युवा शक्ति दरभंगा दैनिक भास्कर नोटबन्दी पुस्तक-समीक्षा प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) फिल्म समीक्षा राजस्थान राज्य सेवाओं की हलचल लखीसराय लेख विशलेषण विस्फोट शक्तिनगर सिंगरौली विधानसभा चुनाव 2018 सुप्रीमकोर्ट स्मार्ट सिटी हाजीपुर 23 जुलाई जयंती पर विशेष AWARD BREAKING NEWS Deoria ISRO Journalst MCD Miss World 2017 OPINION RTO Research TATA TRUMP UP अखबार से अधिसूचना अल्ट्रा मेगा सोलर परियोजना आप आरक्षण उज्जैन एमपी हाऊसिंग बोर्ड कव्वाली कालाधन कुपोषण केंद्र कर्मचारी खादी गाजीपुर गुजरात गोरखपुर डी तीन तलाक़ तीरंदाजी विश्व कप त्योहार दस्तावेज़ देवराज नरकटियागंज नवादा नवानगर निवास पूर्वांचल बक्सर बसंत बुलेट ट्रेन बड़ी ख़बर भूकंप महापौर मिर्जापुर मुंगेर यूनिफार्म सिविल कोड रोहनियां वायरल सच विश्व डाक दिवस विष्लेषण समाधान ऑनलाइन सरदार पटेल सहारनपुर सुपौल सुप्रीम कोर्ट स्थानीय निवासी प्रमाण-पत्र फ़ैज़ाबाद ‘यंग एंटरप्रन्योर अवार्ड-2015


जीत नारायण सिंह
वाराणसी मे प्रवासी भारतीयों के सम्मेलन के लिए पूरा काशी सज कर तैयार है प्रवासी सम्मेलन तीन दिन का आयोजित है वही जहां प्रशासन के समस्त आला अधिकारी पूरी तरह चुस्त दुरुस्त तैयार हो कर काशी वासियों के सहयोग हेतु बैठे हैं वहीं वाराणसी के ऐड़ेगांव मे टेंट सिटी को पूरी तरह प्रवासी भारतीयों के स्वागत के लिए तैयार कर लिया गया है वहीं वाराणसी मे प्रवासियों को लुभाने के लिए लगभग 200 करोड़ रुपए लागत खर्च हुए हैं। प्रवासियों के स्वागत के लिए लालपुर क्षेत्र मे पूरी तरह से प्रशासन तैयार हैं।

वहीं प्रभारी निरीक्षक सोशल मीडिया सेल के अनुसार प्रवासी भारतीय दिवस के अवसर पर वाराणसी पुलिस द्वारा एक नई तस्वीर पेश करने की तैयारी जोरो पर हैं। इस बार अत्याधुनिक उपकरणों और शस्त्रो से सुसज्जित पुलिस फोर्स इस बार स्मार्ट भी है और तत्पर भी। प्रवासी भारतीयों के लिए बने टेन्ट सिटी में प्रवासी भारतीयों की संपूर्ण सुरक्षा सुविधा एवं सहायता के लिए वाराणसी पुलिस पूरी तरह से तैयार है।

सुरक्षा एवं सहायता के दृष्टिगत टेन्ट सिटी में पुलिस कन्ट्रोल रुम एवं सी.सी.टी.वी. कन्ट्रोल रूम स्थापित किये गये है पूरे क्षेत्र की निगरानी सी.सी.टी.वी. कैमरे के माध्यम से लगातार की जा रही है।

पूरे क्षेत्र में 06 वॉच टावर लगे हैं जिसपर पुलिस के जवान दूरबीन, नाइट विजन डिवाइस से लैस अत्याधुनिक टार्च के साथ 24 घन्टे तैनात रहेंगे।

टेन्ट सिटी के अन्दर सुरक्षा हेतु पेट्रोलिंग पार्टी, पुलिस पिकेट तथा कलस्टर मोबाइलों की व्यवस्था कर 24 घन्टे सतर्क दृष्टि रखी जा रही है।

प्रवासीय भारतीयों के साथ कुशल व्यवहार व अच्छे आचरण हेतु विशेष प्रशिक्षण प्राप्त अधिकारी/कर्मचारीगणों को सादे व वर्दी में नियुक्त किया गया है।


पुलिस अधीक्षक यातायात, के अनुसार प्रवासी भारतीय दिवस- 2019 को दृष्टिगत रखते हुए व्यापार मण्डल एवं मैरिज लाॅन के पदाधिकारियों के साथ बैठक की गयी। बैठक के दौरान लिये गये निर्णय एवं आने वाले डेलीगेट्स एवं जनता की सुरक्षा एवं सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस अधिनियम की धारा 31 में प्रदत्त अधिकारों का प्रयोग करते हुए लगन/शादी-विवाह महोत्सव के दौरान सड़क पर वाहनों की पार्किंग किये जाने एवं सड़क पर आतिशबाजी करने तथा बिना अनुमति के सड़क पर बारात निकालने पर तथा दिनांकः 19.01.2019 से 24.01.2019 तक पूर्णतया प्रतिबन्ध लगाने का निर्णय लेते हुए सड़क पर बारात निकाले जाने हेतु सम्बन्धित मजिस्ट्रेट के कार्यालय में बारात निकालने की दूरी व अवधि के सम्बन्ध में प्रार्थना पत्र देकर सक्षम अनुमति प्राप्त करते हुए यातायात बाधित न किये जाने के सम्बन्ध में मा0 न्यायालय के निर्देशों का पालन कर कार्यक्रम सम्पादित करने की अपेक्षा की गयी है।


महानगर वाराणसी क्षेत्र में आने वाले माल वाहक भारी एवं हल्के समस्त वाहनों को भी दिनांकः 19.01.2019 से 24.01.2019 तक प्रत्येक दिन प्रातः 07.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे तक लोड एवं अनलोड किये जाने तथा महानगर में उक्त अवधि में संचालन पर पूर्णतया प्रतिबन्ध लगाने का भी निर्णय लेते हुए केवल अत्यन्त आवश्यक सेवाओं से सम्बन्धित वाहन को ही उक्त अवधि में अनुमति के उपरान्त नगर में संचालन अनुमन्य किया गया है।यह प्रतिबन्ध दिनांकः 19.01.2019 से 24.01.2019 तक प्रभावी रहेगा।

उर्जांचल टाईगर: बनारस कचहरी भी देखेगे प्रवासी भारतीय

प्रवासी भारतीयो के बनारस कचहरी आने की सुचना है,इस सम्बन्ध मे बनारस बार के पुर्व महामंत्री नित्यानन्द राय ने मंडलायुक्त,जिलाधिकारी,नगर आयुक्त को लिखित प्रत्यावेदन देकर बताया कि बनारस बार के पुर्व सदस्य व सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता अंजनी कुमार सिंह के तमाम प्रवासी अधिवक्ता दोस्त जो लंदन और मारिशस से

वाराणसी पुलिस की अपील

जनपद वाराणसी में दिनांकः21.01.2019 से 23.01.2019 तक प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन किया गया है, जिसमें अन्र्तराष्ट्रीय डेलीगेट्स जनपद वाराणसी में आवागमन तथा प्रवास करेंगे। जिसको दृष्टिगत रखते हुए वाराणसी के नागरिकों से यह अपील की जाती है कि दिनांकः19.01.2019 से 24.01.2019 तक अनुशासित यातायात हेतु निम्नलिखित यातायात नियमों का पालन करके वाराणसी पुलिस प्रशासन का सहयोग करें।

1. 60 डेसिबल से अधिक तीव्रता की ध्वनि के बीच 8 से 10 घण्टे रहने वाले लोगों को हाईब्लड प्रेशर, ह्दय रोग, अनिद्रा व सर दर्द जैसी बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। अत्यधिक आवश्यक होने पर ही हार्न का प्रयोग करें। Noise free Kashi बनाये जाने की दिशा में सहयोग करें।

2. भारत में सड़क दुर्घटनाओं में प्रतिवर्ष 1,50,000 व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। इनमें से एक तिहाई व्यक्ति की मृत्यु Lane Indiscipline तथा खतरनाक ओवर टेक के कारण हो जाती है। कृपया अपनी लेन में चलें तथा खतरनाक ओवरटेक न करें।

3. अपने वाहन को निर्धारित पार्किंग स्थलों में ही पार्क करें। यदि पार्किंग स्थल आस-पास उपलब्ध नहीं है तो वाहनों को गलियों में ले जाकर आस-पास के खाली स्थानों पर पार्क करें।

4. व्यापारी बन्धु अपनी दुकानों के सामान को दुकान के बाहर न लगायें तथा दुकान के आस-पास साफ-सफाई रखें।

5. चौराहों पर लाल बत्ती अथवा ट्रैफिक पुलिस के निर्देशों का सदैव पालन करें तथा वाहन जेब्रा लाइन से पीछे रोकें।

6. दो पहिया वाहन पर दो से अधिक सवारी न बैठायें तथा दो पहिया वाहन चालक हेलमेट का प्रयोग करें।

7. एकल दिशा मार्ग का पालन करें।

8. निर्धारित गति सीमा का पालन करें तथा चौराहे, यू-टर्न अथवा रोड कट पर पहुॅंचने से पहले अपने वाहन की गति धीमी करें।

9. चार पहिया वाहन चालक वाहन चलाते समय सीट बेल्ट का अवश्य प्रयोग करें।

10. यातायात संकेतों एवं सड़क संकेतों का पालन करें।

11. किसी भी प्रकार के शराब आदि नशे का सेवन कर वाहन न चलायें।

12. वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग न करें।

13. पैदल यात्रियों को सड़क पार करते समय रास्ता दें।

14. सड़क की लेन पर अपेक्षाकृत धीमी गति के वाहन जैसे दो पहिया वाहन, आटो रिक्शा, ई-रिक्शा बांयी तरफ चलें तथा कार, एम्बुलेन्स व अन्य तीब्र गति के वाहन लेन के दाहिनी तरफ चलें।

15. जिन वाहनों पर प्रवासी भारतीय डेलीगेट्स का मोनोग्राम लगा हो, उनके आवागमन में उनको प्राथमिकता दें।

16. यातायात सम्बन्धी किसी असुविधा, ट्रैफिक जाम की सूचना या कोई सुझाव ट्रैफिक पुलिस हेल्पलाइन नम्बर 7317202020 पर काल करके अथवा Whats app पर दें।


अंकुर पटेल (विशेष संवाददाता)हरिश्चन्द्र महाविद्यालय, वाराणसी की राष्ट्रीय सेवा योजना के सात दिवसीय विशेष शिविर का आयोजन बावन बीघा परिसर मे आज विधिवत उद्घघाटन के साथ हुआ। 
समारोह के मुख्य अतिथि डॉ ब्रजभूषण सिंह (पूर्व विभागाध्यक्ष प्राणी विज्ञान , हरिश्चन्द्र महाविद्यालय वाराणसी) ने इस अवसर पर स्वयंसेवकों को राष्ट्रीय सेवा योजना को सेवा का बेहतर माध्यम बताया। डॉ पंकज कुमार सिंह ने राष्ट्रीय सेवा योजना को धर्म एवं पंथ निरपेक्ष बताते हुए सबको समान अवसर प्रदान करने का माध्यम बताया।


डॉ विजय कुमार राय ने स्वयंसेवकों का उत्साह वर्धन किया। इस अवसर पर सभी इकाईयो के कार्यक्रम अधिकारी डॉ अशोक कुमार सिंह,डॉ शुभ्रा सिंह एवं डॉ धीरज कुमार सिंह तथा चयनित गांव के ग्राम प्रधान संतोष कुमार सिंह एवं गणेश प्रसाद कन्नौजिया उपस्थित रहे और अपने अपने विचारो को छात्र छात्राओ के बीच रख मन से सेवा करने की प्रेणना दी ।


भोपाल।। जनसम्पर्क मंत्री पी.सी. शर्मा आज यहाँ जर्नलिस्ट यूनियन ऑफ एमपी (जम्प) की कार्य समिति की बैठक में शामिल हुए। शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार मुख्यमंत्री कमल नाथ के नेतृत्व में पत्रकारों के सम्मान को बरकरार रखने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगी।

उर्जांचल टाईगर: अटूट है सरकार और पत्रकार का संबंध - जनसम्पर्क मंत्री

भोपाल।। जनसम्पर्क मंत्री पी.सी.
जनसम्पर्क मंत्री ने कहा कि सरकार शीघ्र ही पत्रकार प्रोटेक्शन एक्ट को विधि एवं विधायी कार्य विभाग के पास आवश्यक परीक्षण के लिए भेज रही है। तत्पश्चात शीघ्र ही आगे की कार्यवाही की जाएगी। यूनियन के प्रदेश महासचिव नवीन आनंद जोशी ने पी.सी. शर्मा को स्मृति-चिन्ह भेंटकर मांग-पत्र सौपा।


अंकुर पटेल 
विशेष संवाददाता

प्रवासी भारतीयो के बनारस कचहरी आने की सुचना है,इस सम्बन्ध मे बनारस बार के पुर्व महामंत्री नित्यानन्द राय ने मंडलायुक्त,जिलाधिकारी,नगर आयुक्त को लिखित प्रत्यावेदन देकर बताया कि बनारस बार के पुर्व सदस्य व सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता अंजनी कुमार सिंह के तमाम प्रवासी अधिवक्ता दोस्त जो लंदन और मारिशस से है ,उनकी इच्छा बनारस कचहरी देखने की है।

प्रवासी भारतीयो के बनारस कचहरी आने की बात से प्रशासनिक हल्के मे हङकंप मचा है क्योकि बनारस कचहरी की हालत बहुत ही खराब है चारो तरफ गंदगी का साम्राज्य है,अधिवक्ताओ की मांग है कि युद्ध स्तर पर सफाई कार्य करके सोमवार तक बनारस कचहरी साफ सुथरा कर दिया जाय।सेंन्ट्रल बार के महामंत्री ब्रजेश मिश्रा ने कहा है कि बार एशोसिएशन अपने सिमित संशाधनो से अपने प्रवासी अधिवक्ता साथियो का भव्य स्वागत करेगा।

वही बनारस बार के अध्यक्ष राजेश मिश्रा ने कहा है कि बार प्रवासी भारतीयो का भब्य स्वागत करेगा। मंडलायुक्त,जिलाधिकारी,नगर आयुक्त को इस सम्बन्ध मे प्रत्यावेदन देने वालो मे नित्यानन्द राय,धनन्जय शर्मा,शैलैन्द्र उपाध्याय,कमलेश त्रिपाठी,अवनीश राय,तरुण कान्त शुक्ला आदि प्रमुख रहे।

हेमेन्द्र क्षीरसागर
भिभूत, आज बाबा साहेब आंबेड़कर का वह सबक याद आ गया जब उन्होंने कहा था हमारी शिक्षा मालिक पैदा करने लिए होना चाहिए नाकि नौकर। इतर हम नौकर बनने का पाठ पढ़ रहें तभी तो देश में मालिक नहीं नौकरों की बाढ़ आ रही है। आह्लादित भविष्यतर देश को आजादी में भी गुलामी झेलनी पड़ेगी जिसका पार्दुभाव बहुदेशीय कंपनियों के मकड़जाल से हो चुका है। प्रतिभूत भुगतमान भोगने अपने साथ आने वाली पीढ़ी को भी तैयार करने में कोई कोताही नहीं कर रहे है ।

मतलब, हम बात कर रहे हैं आज के दौर में प्रचलित शिक्षा प्रणाली और अपनाये जाने वाले रोजगार के भागमभागी भरे संसाधनों की जिसे हर कोई अपने-अपने माध्यमों से पाना ही नहीं अपितु हथियाना चाहता है। बस! इसी मुराद में की मुझे नौकरी मिल जाए चाहे वह सरकारी हो या गैर सरकारी और कुछ नहीं। इसी जद्दोजहद में बड़ी-बड़ी पढ़ाई महंगी-महंगी तालिम नौकरी की तलाश झोंक दी जाती है। भेड़चाल में स्वंय को ही नहीं अपितु अपने समाज और देश को भी सीमित दायरे में बांधकर रख देने में गुरेज नहीं करते। इस खुशी में कि नौकरी मिल गई सब कुछ मिल गया यही तो हमारा मकसद था। अगर एक अदद नौकरी पाने के लिए ही इतनी मशक्कत करनी पड़़ी तो वो सबक, ज्ञान और माता पिता के अरमान किस वास्ते थे ये समझ से परे हो गए। सही मायनों में यह तो धरे के धरे रहने के सिवाय कुछ नहीं रहे बल्कि इनके सहारे देखे गये सुहाने सपने सब्जबाग ही रहे।

खैर! नौकरी करना कोई गुनाह नहीं ये भी गौरवशाली जनसेवा, कल्याण, उन्नति और देशभक्ति द्योतक हैं। चर्चा इसके विरोध प्रतिशोध की ना होकर परिस्थिति की है क्योंकि आज समाज और देश में नौकर के बजाए मालिक की बहुत जरूरत हैं। प्रतिपूर्ति चाकरी से एक कदम आगे बढ़कर स्वरोजगारी को अपनाना ही वक्त की नजाकत हैं। येही हमारे समाज का मूलभाव व मंत्र रहा हैं। स्तुत्य, उत्तम खेती, मध्यम व्यापार, निकृष्ट चाकरी भीख ना दान। फलतः ये फलसफां उल्टा ही दिखाई पड़ रहा है कदमताल बिन सोच -विचारे रणभेरी जोरों से जारी हैं। यदि हालात ऐसे ही बने रहें हमारी अर्थव्यवस्था, मूलभूत ढांचा खासकर ग्रामीण सभ्यता, कृषि, पशुधन, आवरण और स्वरोजगार मूलक संसाधन रसातल में पहुंच जाएंगे जिसे बचाये भी हम नहीं बचा सकते। 

अलबत्ता, अब देर किस बात कि मालिक बनने की भागीदारी युवाओं को हरहाल में निभानी पड़ेगी। अर्थात् हम नौकरी या कहें रोजगार के अलावे तकनीकी युक्त नवाचार खेती, व्यापार-उत्पादन, सेवा और कौशल विकास की नई ईबारत लिखकर संवहनीय आजीविका के साधन अध्ययन काल से ही विकसित करेंगे तो अपने आप मालिक बन जाएंगे। जिसे तन-मन-धन-वचन के साथ आत्मसात कर युवजनों को जागृत और प्रेरित करना हम सबका नैतिक कर्तव्य ही नहीं अपितु दायित्व भी हैं। ये नव चेतना स्वयं के साथ अपनो को अपने पैरों में खड़ा करना का निश्चित तौर पर गुढार्थ रहस्य साबित होगी। 

अभियान में हमें जन-जंगल-जमीन-पशुधन, पांरपरिक पेशा और हुनर का संरक्षण व संवर्धन करते हुए जरूरत के मुताबिक विदोहन करना होगा। तभी हर हाथ को काम और खाली पेट को भोजन मिलेगा मीमांसा ही समाज कल्याण व देश सेवा की अभिलाषा को पूरी करेंगी । सहगमन, हमें ऐसी शिक्षा नहीं चाहिए जहां नौकर बनने का ज्ञान मिलता हो। अविरल, ऐसी काबिलियत सीखनी हैं जहां मालिक बनने का गुर मिलता हो। गौरतलब है कि नौकरी करने से एक ही व्यक्ति को रोजगार मिलता है और सदा वो नौकर ही बनकर रह जाता है चाहे वह किसी भी दायित्व का निर्वहन करता हो। दूसरी ओर स्व-अर्जित जीविका पार्जित करने वाला अपने अलावा औरों को भी रोजी-रोटी मुहैया करवाकर मालिक का दर्जा प्राप्त करता हैं। इसका अर्थ ये नहीं दोनों में उच्च-निच का भाव हैं।

अंतर्मन गेंद हमारे पाले में है कि हम देश को किस दिशा में मोड़कर जागृत करना चाहते हैं, नौकर या मालिक की। देश को जरूरत तो मालिक है ना कि नौकर की फिर देर किसलिए कंठहार उठ खड़े हो जाइऐ इस महायज्ञ में जहां कौशल देश, कुशल देश के अधिष्ठान हो। याद रहें इसमें मातृशक्ति की भागीदारी प्राणपन से होगी अभिइच्छा ही जागृतिसूत अनुष्ठान देश के सांगोपाग समर्पित होगा। अभिष्ठ, अभिनवकारी जयघोष….. स्वावलंबन की झलक पर न्योछावर कुबेर का कोष। कौशलम् वलम्!


सिंगरौली।।गरीब परिवारों को धुंआ रहित ईधन मुहैया कराने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना लागू की गई है। इसके तहत अब प्रत्येक गरीब परिवार को इसका लाभ मिलेगा। इंडियन ऑइल कार्पोरेशन रीवा के नोडल अधिकारी विनय कुमार ने बताया कि उज्ज्वला योजना में केवल वही परिवार इसका लाभ ले पाते थे जिनका नाम एस.ई.सी.सी. की सूची में दर्ज था इसके बाद अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अन्त्योदय अन्न योजना कार्ड धारक को भी इसमें शामिल किया गया था।

पढ़िए - जानिए क्या है प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) 

उर्जांचल टाईगर: प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY)

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) से कमजोर वर्ग के परिवारों खासकर महिलाओं को बहुत राहत मिली है। इसे 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया में लॉन्‍च किया गया था। PMUY में साल 2011 की जनगणना के हिसाब से जो परिवार बीपीएल (BPL)
योजना के तहत लाभार्थी परिवार की महिला के नाम से डिपॉजिट फ्री गैस कनेक्शन दिया जाता है। साथ ही चूल्हा एवं प्रथम रीफिल की राशि भी लोन के माध्यम से उपलब्ध कराई जाती है जो कि उसे मिलने वाली सब्सिडी की राशि ने समायोजित की जाती है। पात्रता के लिए लाभार्थी को 14 बिन्दुओं वाला घोषणा पत्र भरना होगा। साथ ही राशन कार्ड, बैंक खाते इत्यादि की जानकारी गैस वितरक को उपलब्ध कराना होगी।

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget