महान संघर्ष समिति ने पेड़ों को राखी बांधकर जंगल को बचाने का लिया संकल्प



सिंगरौली।। इस साल भी रक्षा बंधन के अवसर पर महान संघर्ष समिति के सदस्यों ने महुआ पेड़ को राखी बांधकर अपने जंगल को बचाने का संकल्प दोहराया। अमिलिया में स्थित महुआ पेड़ को महिलाओं और बच्चों ने भी राखी बांधी।

राखी महोत्सव को लेकर उत्साहित महान संघर्ष समिति के कार्यकर्ता व अमिलिया निवासी उजराज सिंह खैरवार ने कहा, “यह जंगल हमारे लिये काफी महत्वपूर्ण है और जो लोग हमारे जंगल को उजाड़ना चाहते थे, उनके खिलाफ हमारी जीत न सिर्फ हमारे गाँव के लिये बल्कि उन समुदायों के लिये भी एक नयी उम्मीद है जो अपने जंगल को बचाने के लिये आंदोलनरत है। यही वजह है कि इस बार हम दोगुने उत्साह से इस राखी महोत्सव को मना रहे हैं”।

ग्रामीणों ने राखी को महुआ के पेड़ में बांधा क्योंकि यह पेड़ जंगलवासियों के जीवन में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। बाजार में नगद उत्पाद के रूप में बेचे जाने वाला महुआ स्थानीय ग्रामीणों का महत्वपूर्ण आर्थिक आधार है। दूसरे अन्य कई कामों में भी महुआ का काफी महत्व है।



साल 2014 से महान संघर्ष समिति महान जंगल में पेड़ को राखी बांधकर जंगल बचाने के संकल्प लेती है। पिछली बार इस राखी महोत्सव को पूरे देश से भारी समर्थन मिला था। देश के विभिन्न शहरों से करीब 9000 राखी भेजी गयी थी, जिसे महुआ के पेड़ पर बांधा गया था।



महान का प्राचीन जंगल करीब एक हजार हेक्टेयर में फैला हुआ है, जिसमें लगभग 50 हजार से अधिक गांव वालों की जीविका निर्भर है। इस जंगल में कोयला खदान प्रस्तावित था, जिसे स्थानीय ग्रामीणों के आंदोलन के बाद इस साल कोयला ब्लॉक की नीलामी सूची से हटा दिया गया था।


Post a Comment

डिजिटल मध्य प्रदेश

डिजिटल मध्य प्रदेश

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget