सशक्त भारत बनाना असंभव नहीं - इंद्रेश कुमार

सशक्त भारत



नई दिल्ली। सशक्त भारत बनाना असंभव नहीं है। भारत सदियों से सशक्त रहा है। देश अभी भी सशक्त हो सकता है अगर हम कुछ नीतियों में सुधार करें और देश को स्वाभिमान के साथ आगे ले जाने का प्रयत्न करें। आरएसएस के अखिल भारतीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार ने मंगलवार को प्रगति मैदान में चल रहे पुस्तक मेले में पंकज के. सिंह द्वारा लिखित पुस्तक ‘समर्थ भारत’ के लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा।

इंद्रेश कुमार ने कहा कि चाहे उद्योग की समस्याएं हों, या शिक्षा की हों या समाज की समस्याएं हों, उनको सुलझाना कोई मुश्किल नहीं है। लेकिन इसके लिए हमें अपने अंदर ही समस्याओं का हल खोजना होगा न कि हम सोचें कि कोई विदेशी आकर हमारी मदद करे। इंद्रेश कुमार ने कहा कि गांधी जी ने देश को आजादी दिलाई लेकिन कांग्रेस ने देश का विभाजन करा दिया। नेताजी सुभाष चंद्र बोस देश की इंच-इंच भूमि को मातृभूमि समझते थे। लेकिन दुर्भाग्य से नेहरू भारत को सिर्फ भूमि समझते। इसी का नतीजा रहा कि है आजादी के बाद भारत ने अपनी एक लाख वर्गमीटर से ज्यादा भूमि गंवा दी।

इंद्रेश कुमार ने कहा कि समाज सरकार पर आश्रित न रहें। समाज चाहे तो गरीब बच्चों की शिक्षा की व्यवस्था कर सकता है। गरीब कन्याओं की शादी करा सकता है। जरूरतमंदों की बुनियादी बुनियादी जरूरतों को पूरा कर सकता है। इससे समाज और देश में जो संकट पैदा हुआ है, उस संकट से समाज उबर सकता है।

इस मौके पर आरएसएस के मुखपत्र पांचजन्य के संपादक हितेश शंकर ने कहा कि इस किताब से देश में नए प्रकार की सोच आ सकती है और अगर लोग इस सोच को अपनाएं तो देश का भला हो सकता है। समर्थ भारत पुस्तक के लेखक यूपी में डिप्टी सेल्स टैक्स कमिश्नर पंकज के सिंह हैं। प्रशासनिक सेवा में आने से पहले पंकज पत्रकार थे। उन्होंने भारतीय जनसंचार संस्थान नई दिल्ली से पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। इस पुस्तक को डायमंड बुक्स ने प्रकाशित किया है।

इस कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार वेद प्रताप वैदिक, दूरदर्शन में एडीजी रंजन मुखर्जी, संदीप मारवाह आदि मौजूद रहे।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget