जे एल सिंह ने एन.सी.एल. के निदेशक (तकनीकी) का कार्यभार संभाला

एन.सी.एल



     ब्यूरो।सिंगरौली।
   @उर्जांचल टाईगर 
  ----------------------


जे.एल.सिंह ने भारत सरकार की मिनी रत्न कंपनी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड(एनसीएल) के निदेशक (तकनीकी) का कार्यभार शनिवार को संभाला। ओपनकास्ट एवं अंडरग्राउंड कोल माइनिंग के क्षेत्र में 36 वर्षों का अनुभव रखने वाले श्री सिंह यह कार्यभार संभालने से पहले कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) की अनुषंगी कंपनी सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल) में महाप्रबंधक (अंडरग्राउंड) के पद पर कार्यरत थे।

इंडियन स्कूल ऑफ माइंस (आईएसएम) धनबाद से वर्ष 1979 में माइनिंग इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट श्री सिंह ने उसी वर्ष जेट (माइनिंग) के रूप में सीआईएल में अपनी सेवाएं शुरू कीं।

कोल इंडिया की विभिन्न अनुषंगी कंपनियों में एक तेजतर्रार माइनिंग इंजीनियर के रूप में अपनी सेवाएं देते हुए उन्होंने अपनी पदस्थापना की परियोजनाओं में न सिर्फ लक्ष्य से अधिक उत्पादन किया, बल्कि उत्पादन एवं उत्पादकता से जुड़ी सभी जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन किया। मिसाल के तौर पर, सीसीएल की गिरीडीह कोलियरी के कबरीवाद रीऑर्गेनाइजेशन प्रोजेक्ट में बतौर कोलियरी मैनेजर कार्य करते हुए श्री सिंह ने इस कोलियरी के उत्पादन को लगभग दोगुना कर दिया और इस शानदार कामयाबी की बदौलत इस परियोजना को 1995 में राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार हासिल हुआ।

इसी तरह, सीसीएल में बतौर महाप्रबंधक (संचालन) श्री सिंह ने आउटसोर्सिंग के जरिये आम्रपाली और कोनार जैसी नई परियोजनाएं खोले जाने में अहम योगदान दिया। अद्भुत प्रबंधकीय क्षमता एवं नेतृत्व कौशल के लिए जाने जाने वाले श्री सिंह ने आईएसएम धनबाद से वर्ष 1994 में पर्यावरण प्रबंधन पर शॉर्ट पीरियड कोर्स भी किया। उन्होंने वर्ष 2014 में पहले आईआईएम कोलकाता, फिर फ्रैंकफर्ट स्कूल ऑफ फाईनैंस एंड मैनेजमेंट जर्मनी तथा उसके पश्चात गैलेन विश्वविद्यालय स्विट्जरलैंड में ‘एडवांस्ड मैनेजमेंट प्रोग्राम’ में हिस्सा लिया, जो सीआईएल द्वारा स्पॉन्सर किया गया था।

मूल रूप से बिहार के गया जिले के रहने वाले श्री सिंह यूरोप के दो बड़ी माइंस (आरडब्ल्यूई द्वारा संचालित जर्मनी की माइंस एवं स्वीडन में एलकेएबी द्वारा संचालित किरूना अंडरग्राउंड माइंस) का दौरा कर चुके हैं। वे माइनिंग सेक्टर से जुड़े राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय सेमिनार में भी हिस्सा ले चुके हैं।

गौरतलब है कि पब्लिक इंटरप्राइजेज सेलेक्शन बोर्ड (पीईएसबी) ने 21 मई 2015 को श्री सिंह का चयन एनसीएल के निदेशक (तकनीकी) पद के लिए किया था।

Post a Comment

डिजिटल मध्य प्रदेश

डिजिटल मध्य प्रदेश

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget