चिल्काटांड बस्ती का होगा पूर्नविस्थापन !

चिल्काटांड बस्ती

राजेन्द्र अग्रहरी(ब्यूरो) 
  @उर्जांचल टाईगर 
------------------------

चिल्काटांड बस्ती का हो पूर्नविस्थापन, पीएमओ के पहल पर कोयला मंत्रालय का एनसीएल सीएमडी को 30 दिन में कार्यवाही का आदेश ।


एनटीपीसी सिगरौली परियोजना द्वारा विस्थापित गांव चिल्काटांड बस्ती को 35 वर्ष पूर्व पूर्नवास किया गया था, तबसे लेकर अब तक चिल्काटांड के विस्थापित गांव वासी मूलभुत सुविधाओं से वंचित नरकीय जीवन व्यतीत करने को मजबूर रहें हैं। चिल्काटांड बस्ती के ग्रामीण प्रदुषण, शिक्षा, चिकित्सा, बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहे हैं। एनटीपीसी एवं एनसीएल परियोजना के सौतेलेपन और अनदेखी के शिकार गांव वालों के पास आज कोई विकल्प ही नहीं है सिवाय नारकीय जिंदगी जीने के, हर साल बरसात में एनसीएल खडिया परियोजना की हजारों टन ओबी गांव में बरसाती पानी के साथ घुस कर तबाही मचाती है इन सब समस्याओं को आनलाइन लोक शिकायत पोर्टल के माध्यम से विस्थापित प्रतिनिधि एवं आरटीआई कार्यकर्ता हेमंत मिश्र द्वारा प्रधानमन्त्री कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई गई जिसे संज्ञान में लेतें हुए कोयला मंत्रालय ने एनसीएल सीएमडी को 30 दिन में कार्यवाही के लिए आदेशित किया है.

सबसे अहम सवाल यह है के सरकार द्वारा सम्मानित कम्पनियां आखिर गरीब इंसानों के साथ ऐसी बेरुखी करती ही क्यों है ? क्या उनके लिए इंसानी जिन्दगी के मायने गरीबों के लिए बदल जाते हैं ?या परियोजनाओं के जिम्मेदारी अधिकारी अपने आलाधिकारियों से वाहवाही लुटने और प्रमोशन के लिए सब कुछ मैनेज कारते हैं ?


  • हमारी टीम आगे भी अमानवीय,संवेदनहीनता और भ्रष्टाचार को बेनकाब करती रहेगी. सामाजिक सरोकार से जुड़ा कोई भी मुद्दा हो तो हमें जरुर लिख भेजें आपका सहयोग और सुझाव हमारे लिए महत्वपूर्ण है

Post a Comment

डिजिटल मध्य प्रदेश

डिजिटल मध्य प्रदेश

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget