जागरूक हो

राजस्थान से अभिषेक चंचल ।। राजस्थान के झुंझुनू जिले में स्थित उच्च प्राथमिक विद्यालय गोविन्दपुरा जहाँ पर पाँच शिक्षकों के साथ लगभग100 बच्चों का नामांकन है, मुस्लिम समुदाय बाहुल्य यह इलाका आस-पास के स्कुल से कही बेहतर काम कर रहा है जिसका ही परिणाम है, कि गांव के लगभग बच्चें सरकारी स्कुल में आ रहे है। गरीब इलाका होने के चलते इस समुदाय में जानकारी का अभाव है, लेकिन यहां के बच्चें नें अपने शिक्षकों के मद्तऔर गांधी फेलो संघमित्रा त्रिपाठी के मदत् से एक साहसिक कदम उढ़ा रहे है। अपने स्कुल में संसाधन को बढ़ाने के लिए ये हर सम्भव प्रयास करना चाह रहे है। जिसमे पानी की समस्या को हल करना, स्कूल में कम्प्यूटर शिक्षा देना, एवं ठण्ड से बचने के लिए पोशाक वितरण करना साथ ही स्कूल में तकनिकी यंत्र को लाना शामिल है।

पिछले डेढ़ वर्षों से लगातार बच्चों के सीखने में प्रयासरत गांधी फेलो संघमित्रा त्रिपाठी कहती है, कि एक दिन स्कुल के बच्चों ने मेरे टैबलेट के बारे पूछा, फोटो कैसे लिया जाता है, और इसे कैसे चलाया जाता है। बच्चों की जागरूकता देख मैंने उन्हें अच्छे से सब कुछ समझाया, तभी एक बच्चा नें पुछा कि आखिर हमारे विद्यालय में कंप्यूटर क्यूँ नहीं जबकि निजी विद्यालयों में कंप्यूटर के साथ-साथ बच्चों के पास ड्रेस, टाई, ब्लेट, एंव जूते भी होते है। बच्चों के इस मासूमियत भरे सवाल मुझे झकझोर कर रख दिया और सोचने पर मजबूर कर दिया की इन बच्चों के लिए कुछ करु। इसके लिए मैंने समुदाय के लोगों से बात की मगर उनकी आर्थिक हालात और जागरूकता की कमी की वजह से बच्चों को लेकर उतना गंभीर नहीं बस जिस प्रकार शिक्षा चल रही है संतुष्ट हैं| फिर मैं सोशल मीडिया के माध्यम से इस समस्या ता हल निकालने का प्रयास कर रही हुं।

इस प्रयास का ही देन है की आज स्कूल के संसाधन को जुटानें में गांवों वालों एवं शिक्षकों के सहायता से तक़रीबन 30000 सहयोग राशि एकत्र हो गयी है। राशि को एकत्र करने के लिए संघमित्रा सोशल मीडिया का सहारा ले रही है। दरासल बच्चों के अन्दर जो सीखने की ललक, रचनात्मकता, ऊर्जावान दिखाई पड़ती है सचमुच में प्रेरणादायक है, लेकिन आर्थिक हालत ठीक न होने की वजह से उन बच्चों के सपने मात्र सपने बन कर रह जाते है। मेरा यह छोटा सा प्रयास बस इन बच्चों के सपने को कुछ हद तक पूरा करने का है। जिसे सभी के योगदान से ही पूरा किया जा सकता है, और शायद इन बच्चों के जीवन में खुशी ला सकता है।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget