पांच मार्च तक सातवीं इकाई चलेगी फुल लोड -ए पी मिश्रा

सोनभद्र से मनमोहन शुक्ला/नौशाद अन्सारी


  • विदेशी अतिथि गृह में बीएचईएल तथा निगम के अधिकारियों के साथ बैठक करते एमडी एपी मिश्र एवं अन्य। 
  • छह को सीएम के सामने होगा इकाई का प्रस्तुतीकरण 
  • 14 मार्च तक छठीं इकाई भी हो जाएगी सिक्रोनाइज 

सात हजार एक सौ करोड की लागत से बनी एक हजार मेगावाट की अनपरा डी परियोजना जल्द ही प्रदेश को बिजली देने लगेगी। 23 फरवरी को पांच सौ मेगावाट की सातवीं इकाई को सिंक्रोनाइज कर दिया गया, पांच मार्च तक इसे फूल लोड पर ले लिया जाएगा। यह जानकारी उप्र उत्पादन निगम के प्रबंध निदेशक एपी मिश्र ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए अनपरा तापीय परियोजना के विदेशी अतिथि गृह में कहीं। कहा कि छठीं इकाई को भी निर्धारित डेड लाइन 14 मार्च तक सिंक्रोनाइज कर लिया जाएगा। ऐसे में इस गर्मी में प्रदेश वासियों को बिजली की किल्लत बहुत मामूली होगी। 
उत्पादन निगम के प्रबंध निदेशक एपी मिश्र बुधवार की दोपहर अनपरा परियोजना आये। उन्होने दामिनी अतिथि गृह में निगम के अधिकारियों से वार्ता कर अनपरा डी के इकाइयों से शीघ्र वाणिज्यिक उत्पादन लेने के विषय पर चर्चा की। इसके बाद बीएचईएल तथा अन्य अधिकारियों से वार्ता के लिए विदेशी अतिथि गृह के सभागार में पहुंचे। बारीकी से उत्पादन की जानकारी ली। बीएचईएल के अधिकारियों ने उन्हे आश्वस्त किया कि सातवीं इकाई का परफारमेंस शुरूआती समय में बेहतरीन है, सेफ्टी के साथ इसकी कमियों को दुरूस्त कर इसे बेहतरीन यूनिट बनाने में वे कोई भी कोरकसर बाकी नहीं रखेगे। छठीं यूनिट में वाल्ब, ट्यूब सहित कई सौ फीसदी उपकरणों को बदलने की भी जानकारी दी। एमडी ने बताया कि अनपरा डी में सहायक अभियंता तथा जूनियर अभियंताओं व तकनीशियनों की कमी नहीं आने दी जाएगी, इसके लिए निदेशक कार्मिक वीएस तिवारी को निर्देशित कर दिया गया है। इस मौके पर निदेशक वित्त एवं कार्ययोजना आरके त्रिवेदी, बीएचईएल के महाप्रबंधक तकनीकी वीएन राय, सीजीएम अनपरा त्रिभुवन तिवारी, जीएम एके सिंह, चंडी प्रसाद मिश्र, यूसी मिश्र, बीएचईएल के डीजीएम एके श्रीवास्तव, एके राय सहित भारी संख्या में अभियंता मौजूद रहे। 

कार्य में तेजी लाने का निर्देश 

6 मार्च को उत्पादन निगम तथा वितरण निगम की सीएम हाउस पर बैठक रखी गई है, जिसमें मुख्य मंत्री अखिलेश यादव अनपरा डी सहित पूरे प्रदेश में बिजली व्यवस्था को लेकर समीक्षा करेंगे। ऐसे में उच्च प्रबंधन अनपरा डी को लेकर किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरतेगा। प्रबंधन अनपरा डी की सातवीं इकाई को फूल लोड पर चलाकर उसका सीएम से आन लाइन परीक्षण कराएगा। 

धार्मिक स्थलों पर मिलेगी 24 घंटे बिजली 

निगम के प्रबंध निदेशक एपी मिश्र ने बताया कि नैमिषारण्य सहित कई प्रसिद्ध तीर्थस्थल, सारनाथ, गुरूद्वारा, कई मजारों व जैन धर्म स्थलों पर प्रदेश सरकार चैबीस घंटे बिजली देगी। इसकी औपचारिक घोषणा छह मार्च को खुद सीएम अखिलेश करेगे। 132 से 400 केवी के साढ़े तीन सौ से अधिक सब स्टेशनों का भी सीएम लोकापर्ण करेंगे। मौजूदा गर्मी में बिजली की किल्लत दूर करने के लिए मार्च तथा अप्रैल में बिजली की खरीददारी करेंगे, इसके अलावा मई से सितंबर तक आरटीसी के जरिए एक हजार मेगावाट की बिजली व्यवस्था करेंगे। बताया कि फिरहाल गांवों में 10 घंटे, तहसील में 12, जनपदों में 15, मंडल में 18 तथा महानगरों में बीस से चैबीस घंटे बिजली उपलब्ध करा दी गई है। 

990 मेवा बिजली की थर्मल बैकिंग 

सोनभद्र। एमडी एपी मिश्र ने बताया कि अभी कई वजहों से प्रदेश में 990 मेगावाट की बिजली परियोजनाओं को बंद रखा गया है। प्रबंधन ने पनकी 3 उत्पादन क्षमता 105मेवा, ललितपुर की चार सौ मेवा, बीबीएल की 450मेवा की परियोजनाओं को बंद रखा गया है।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget