सिंगरौली जिले में पेयजल उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें - मंत्री श्री शुक्ल

पेयजल


सिंगरौली।। प्रदेश के उर्जा खनिज एवं जनसंपर्क मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने जिला योजना समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुये कहा की सिंगरौली जिला सुखाग्रस्त जिला है सुखे के कारण यहा का भू-जल स्तर दिनो दिन नीचे चला जा रहा है अतः ग्रामो मे पेयजल सुनिश्चित कराने के लिये बंद पडे हैण्डपंपो को राईजिंग पाईप लगाकर चालू किया जाये और 41 खाराब पडे नल जल योजनाओ को सुधार कर इन्हे तत्काल चालू किया जाये ताकि पेयजल की कोई समस्या न आये। पेयजल विहिन ग्रामो मे पेयजल परिवहन की कार्य योजना तैयार कर पेयजल उपलब्ध कराना चालू किया जाये। बताया गया कि जिले मे 11 हजार हैण्डपंपो मे से 10 हजार पॉच सौ हैण्ड पंप चल रहे है। इसी प्रकार 56 नल जल योजनाओ मे से 41 नल जल योजनाये खराब है। इन्हे तत्काल सुधार कर चालू किया जाये। मंत्री श्री शुक्ल ने कहा कि जीन हैण्डपंपो मे राईजिंग पाईप कि आवश्यकता है वहा राईजिंग पाईप लगाये जाये और जिनमे पंप कि आवश्यकता है वहा दो हॉस पॉवर का पंप लगाकर हैण्डपंप चालू किया जाये किसी भी दशा मे पेयजल समस्या नही होनी चाहिये। 

बैठक मे सांसद श्रीमती रीती पाठक, सिंगरौली विधायक,रामलल्लू वैश्य, देवसर विधायक राजेन्द्र मेश्राम, धौहनी विधायक कुवॅर सिंह टेकाम, सिंहावल विधायक कमलेश्वर पटेल, चितरंगी विधायक श्रीमती सरस्वती सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष अजय पाठक, कलेक्टर शशांक मिश्रा, पुलिस अधीक्षक रूडोल्फ अल्वारीस, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत निधिनिवेदिता, सहित जन प्रतिनिधि एवं जिला अधिकारी उपस्थित थें। 
मंत्री श्री शुक्ल ने सीधी से सिंगरौली मार्ग की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये इस बहुप्रतिक्षित मार्ग को अतिशीघ्र बनाया जाये उन्होंने कहा की प्रत्येक माह मार्ग निर्माण मे 25 करोड़ की जगह 50 करोड़ रूपये का काम किया जाये। बताया गया की सीधी से सिंगरौली 204 किलों मीटर मार्ग मे अब तक 80 किलो मीटर सडक मे टाईरींग कि जा चूकी है। सिंगरौली मे 26 किलोमीटर और सीधी मे 22 किलो मीटर सडक का उपयोग होने लगा है सडक निर्माण मे 58 पुलिया और 51 बक्स पुलिया पुर्ण कर ली गई है। सडक निर्माण को पॉच सेक्सन सीधी से बहरी, बहरी से करथूआ, करथूआ से बरगंवा, बरगंवा से सिंगरौली तक सडक निर्माण किया जा रहा है वर्षात के महिने मे इसे मोटरेबल बना लिया जायेगा बताया गया कि सीधी से सिंगरौली मार्ग मार्च 2017 तक पूर्ण कर ली जायेगी। मंत्री श्री शुक्ल द्वारा विद्युत वितरण की समीक्षा के दौरान बताया गया कि दिनदयाल योजना के अंतर्गत अविद्युतकृत ग्रामों मे विद्युतकरण के लिये 58 करोड़ रूपये का प्रस्ताव स्वीकृत किया गया हैं। एन.टी.पीसी, द्वारा विद्युतीकरण के लिये आधोसंरचना निर्माण की समाग्री उपलब्ध करायी गई है इसमे 115 ट्रांसफार्मर मे से 108 ट्रांसफार्मर लगाये जा चूके है और उन्हे चार्ज भी किया जा चुका है। मंत्री श्री शुक्ल ने यह निर्देश दिये कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति के बीपी.एल धारी उपभोक्ताओं के बिल 250 रूपये से अधिक न आये इन्हें 25 यूनिट तक छूट है उन्होंने बताया कि विद्युत विभाग द्वारा समाधान योजना के अंतर्गत 1.5 करोड रूपये की आय हूई है जबकी किसानो और बीपी.एल धारी ब्याक्ति को 2.5 करोड रूपये की छूट दी गई है।
प्रभारी मंत्री श्री शुक्ल के समीक्षा के दौरान बताया गया की प्रधानमंत्री सडक योजना के अंतर्गत कुल 239 सडके है इन सडको मे से जिनके पांच वर्ष पूर्ण हो गये है उनकी मरम्मत के लिये टेंण्डर और कार्यादेश की प्रक्रीया प्रांरभ कर दी गई है। 
कलेक्टर शशांक मिश्रा ने जिला योजना समिति की बैठक का संचालन करते हुये बताया की सिंगरौली जिले मे ग्रामीणों की राजस्व संबंधित समस्याओं के निराकरण के लिये व्यापक स्तर पर राजस्व सिविर एवं ग्राम सभाओ के माध्यम से प्रत्येक पंचायत मे 20-20 नामांत्रण, बटवारा एवं सीमांकन के प्रकरण निराकृत कर उन्हें दायरा पंजी मे दर्ज किया जा रहा है। आगामी 14 अप्रैल से ग्रामोदय कार्यक्रम के तहत ग्राम सभाओ का आयोजन कर खसरे की नकल वितरित कि जायेगी उन्होंने बताया की जिले मे वर्तमान मे 100 बिस्तर का अस्पताल है। जो पर्याप्त नही है अतः और 200 बिस्तर के अस्पताल का प्रस्ताव स्वास्थ विभाग मे भेजा गया है। उन्होंने बताया की चितरंगी मे 1 करोड रूपये की लागत से रेस्टहाउस का निर्माण किया जायेगा

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget