सतना की बाढ़ का रीवा में असर, हाई अलर्ट पर 29 गाँव


सतना ।। चौबीस घंटे तक लगातार तेज बारिश के चलते पड़ोसी जिले सतना के बांधों से छोड़े जा रहे पानी का रीवा जिले के त्योंथर और जवा क्षेत्र पर असर पड़ा है। टमस नदी उफान पर आ गई है। जिसके चलते नदी से लगे करीब 29 गांवों में जिला प्रशासन ने हाई अलर्ट घोषित किया है। सतना के बकिया बैराज से 4250 क्यूमेक से ज्यादा पानी छोड़ा गया है। जिसके कारण पटेहरा, जवा में टमस नदी का जलस्तर 4 फीट से ज्यादा बढ़ गया है। स्थानीय प्रशासन लगातार सर्चिंग कर प्रभावित गांवों पर नजर बनाए हुए हैं। 

तीन सौ मीटर चौड़ा हुआ टमस नदी का पाट 

टमस नदी का जलस्तर यदि और बढ़ता है तो इससे लगे 29 गांवों में बाढ़ का खतरा बढ़ जाएगा। बताया गया है कि बकिया बराज के सभी 14 गेटों से पानी छोड़ा जा रहा है। जिसके चलते जवा और त्योंथर में टमस नदी का पाट 300 मीटर हो गया है। यही वजह है कि पटेहरा में टमस खतरे के निशान से 5 मीटर नीचे बह रही है। 

ये क्षेत्र होंगे प्रभावित 

टमस नदी का पानी अगर बढ़ता है तो जवा क्षेत्र के कोनी, कैथी, जोन्ही, बरहुला, नगमा, सितलहा आदि गांवों में पानी भर सकता है। जबकि सेमरिया क्षेत्र के लेन, बधरा, बधरी, पवैया, गोरहटा सहित आधा दर्जन गांवों के नजदीक से टमस का पानी बह रहा है। इन क्षेत्रों में जिला प्रशासन ने होमगार्ड के 30 जवान और गोताखोरों को तैनात किया है। साथ ही नाव की भी व्यवस्था भी की गई है। नदी से लगे लोगों के रहने व खाने की व्यवस्था प्रशासन पहले से बना ली है। टमस नदी के जिन पुलों पर पानी चढ़ गया है वहां पुल के दोनों ओर पुलिस बल तैनात किया गया है। 

यहां के मार्ग हुए अवरूद्घ 

टमस नदी के उफान पर आने के कारण जवा, त्योंथर और सेमरिया क्षेत्र के पुल, पुलियों में पानी भरने से आवागमन प्रभावित हुआ है। जिन सड़क मार्गो का आवागमन प्रभावित हुआ है उनमें रीवा-बनकुईयां सेमरिया मार्ग, जवा क्षेत्र के हनुमानगंज रोड शामिल हैं। यहां स्थित खरहरी नाला पानी में डूब गया है। जबकि जोन्ही पुलिया के ऊपर से पानी चल रहा है। जिसके कारण जवा, सिरमौर व सेमरिया क्षेत्र के कई गांवों का संपर्क मुख्य मार्ग से कट गया है।

Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget