जमुई के बहुचर्चित कैदी मुन्ना सिंह की मौत के आरोपी दारोगा का कोर्ट में आत्म समर्पण।

मुकेश कुमार,पटना(बिहार ब्यूरो)।सूबे बिहार के जमुई जिले के बहुचर्चित कैदी मुन्ना सिंह की पुलिस हिरासत में पिटाई से हुई दर्दनाक मौत के मामले में विगत तीन वर्ष से फरार चल रहे बर्खास्त आरोपी दारोगा व तत्कालीन जमुई थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार ने सोमवार को जमुई के सीजेएम के अदालत में नाटकीय ढंग से आत्म समर्पण कर दिया।बताते चले की उक्त घटना में अन्य आरोपी बर्खास्त दारोगा व तत्कालीन गिधौर थानाध्यक्ष सत्यव्रत भारती ने पिछले वर्ष कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया था।उल्लेखनीय है की निचली अदालत से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक में उक्त सभी आरोपियों की जमानत याचिका पूर्व में ख़ारिज हो चुकी है।क्या था मामला - जमु

ई थाना क्षेत्र के नवीनगर गांव से कपड़ा व्यवसायी बैकुंठ वर्णवाल का फिरौती के लिये अपहरण बीते 05 मई,2013 को हुआ था।पुलिस ने उक्त मामले में अन्य संदिग्धों के साथ लखापुर निवासी मुन्ना सिंह वल्द कुशेश्वर सिंह को भी गिरफ्तार कर जमुई न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। जिसके उपरांत पुलिस ने कैदी मुन्ना सिंह को कोर्ट से पूछताछ के लिये रिमांड पर लिया था।पूछताछ के दौरान पुलिस ने बड़ी ही बेरहमी से कैदी मुन्ना की पिटाई की थी।उसके मल द्वार में मिर्च के पाउडर और पेट्रोल भी डंडे के प्रहार से डालें गये थे।जिसके कारण उसकी हालत खराब हो गयी थी और आनन-फानन में उसे जमुई जेल भेज दिया गया था।कैदी मुन्ना सिंह की हालत जेल में बुरी तरह बिगड़ने के बाद उसे जमुई सदर अस्पताल में भर्ती करवाया गया और तत्कालीन जिला व सत्र न्यायाधीश ज्योति कुमार श्रीवास्तव ने मामले की गम्भीरता को देखते हुए कैदी मुन्ना सिंह से मिले और उसके बयान को कलमबंद करवाया।हालत ज्यादा बिगड़ने पर उसे पीएमसीएच, पटना रेफर किया गया।इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।जिसके उपरांत गैर इरादतन हत्या की धारा 304 को पलटते हुए तत्कालीन सीजेएम,ब्रजमोहन सिंह ने तत्कालीन गिधौर थानाध्यक्ष,सत्यव्रत भारती और जमुई के थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार के विरुद्ध प्रथम दृष्टया हत्या की धारा 302 में संज्ञान लेते हुए उनके खिलाफ लाल वारंट जारी कर दिया था।बताते चले की उक्त मामले में भागलपुर के आई.जी. जितेंद्र कुमार ने अपने जांच प्रतिवेदन में तत्कालीन आरक्षी अधीक्षक दीपक वर्णवाल को क्लीन चिट दे दिया था।वही मुंगेर के तत्कालीन डीआईजी,सुधांशु कुमार ने उक्त दोनों आरोपी दारोगा को सेवा से बर्खास्त कर दिया था।कैदी मुन्ना सिंह की हत्या के मामले में लंबे अरसे से फरार चल रहे आरोपी दारोगा जितेंद्र कुमार ने सोमवार को कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया।जिसे जमुई न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget