धूमधाम से मना एनसीएल का 32वां स्थापना दिवस

NCL

  • मुश्किलों से पार पाने में टीम एनसीएल के जज्बे पर गर्व- तापस कुमार नाग
  • आयोजित हुए कई सांस्कृतिक कार्यक्रम 

सिंगरौली।।निज संवाददाता।। भारत सरकार की मिनी रत्न कंपनी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) के 32वां स्थापना दिवस का सांस्कृतिक एवं पुरस्कार वितरण समारोह मंगलवार को धूमधाम से मनाया गया। सिंगरौली स्टेडियम में आयोजित समारोह में एनसीएल के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री तापस कुमार नाग बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थे। साथ ही, कंपनी की निदेशक (कार्मिक) सुश्री शांतिलता साहू, मुख्य सतर्कता अधिकारी (सीवीओ) श्री के पी वेंकटेश्वर राव, निदेशक (तकनीकी/संचालन) श्री गुणाधर पाण्डेय, निदेशक (वित्त) श्री पी एस आर के शास्त्री, निदेशक (तकनीकी/परियोजना एवं योजना) श्री जे एल सिंह, जेसीसी सदस्य श्री हीरामणि यादव एवं श्री मुन्नीलाल यादव, एनसीएल के कृति महिला मण्डल की अध्यक्षा श्रीमती नीना नाग, उपाध्यक्षा श्रीमती मालती लता राव, श्रीमती प्रतिमा पाण्डेय, श्रीमती कौशल्या शास्त्री एवं श्रीमती रीता सिंह और सीएमओएआई के अध्यक्ष श्री तारकेश्वर प्रसाद एवं सचिव श्री सर्वेश सिंह बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित थे। 
कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए श्री नाग ने कहा कि इस वर्ष अतिवृष्टि से हुई प्राकृतिक कठिनाइयों से चरमराए कोयला उत्पादन एवं प्रेषण को पटरी पर लाने में टीम एनसीएल ने जिस जज्बे का परिचय दिया है, उस टीम का शीर्ष नेतृत्व होने पर मुझे गर्व है। उन्होंने बताया कि एनसीएल ने वित्त वर्ष के शुरुआती महीनों में कोयला उत्पादन एवं प्रेषण में लगभग 12 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी दर्ज कराई थी। भारी बारिश से हुई कठिनाई के बावजूद इस वर्ष कोयला उत्पादन एवं प्रेषण में एनसीएल पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले बेहतर स्थिति में है। चालू वित्त वर्ष में अक्टूबर तक एनसीएल ने पिछले वर्ष की समान अवधि में किए गए कोयला उत्पादन एवं प्रेषण से 2 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी दर्ज की है। इस मौके पर उन्होंने एनसीएल के हर उस अधिकारी-कर्मचारी को धन्यवाद दिया, जिन्होंने दिन-रात एक करके बारिश से उत्पन्न चुनौती को सामान्य बनाने में अपना समर्पित योगदान दिया। साथ ही, उन्होंने उम्मीद जताई कि कंपनी मौजूदा चुनौतियों से पार पाकर निर्धारित सभी लक्ष्यों को सफलतापूर्वक पूरा करेगी। 

सांस्कृतिक संध्या का आयोजन

कंपनी स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित सांस्कृतिक संध्या में एनसीएल की परियोजनाओं/इकाइयों से स्कूली बच्चों की टीमों, एनसीएल परिवार के सदस्यों एवं सिंगरौली वासियों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं। एनसीएल मुख्यालय स्टेडियम प्रांगण में उपस्थित सभी अतिथियों और दर्शकों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का जमकर लुत्फ उठाया और उन्हें खूब सराहा। सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए नेहरू शताब्दी चिकित्सालय (एनएससी) की टीम को प्रथम पुरस्कार मिला। झिंगुरदा परियोजना की टीम दूसरे और जयंत परियोजना की टीम तीसरे स्थान पर रही। 

कंपनी स्तर पर उत्कृष्ट कार्य के लिए पुरस्कार

कार्यक्रम में कंपनी स्तर पर विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों और टीमों को पुरस्कृत किया गया। झिंगुरदा परियोजना को सुरक्षा पुरस्कार प्रदान किया गया। निगाही परियोजना को गुणवत्ता और पर्यावरण के लिए दो पुरस्कार दिए गए। उत्कृष्ट निगमित सामाजिक दायित्व (सीएसआर) कार्यों के लिए खड़िया परियोजना को प्रथम और ब्लॉक-बी परियोजना को द्वितीय पुरस्कार मिला। कंपनी के महाप्रबंधक (सिविल) श्री ए के चौरसिया को कंपनी के कार्यों में उत्कृष्ट योगदान देने के लिए व्यक्तिगत एक्सिलेंस अवार्ड दिया गया। दुधीचुआ परियोजना की सुरक्षा टीम को वीरता पुरस्कार प्रदान किया गया। इनोवेशन-नॉन-टेक्निकल कैटेगरी में अमलोरी परियोजना के उप महाप्रबंधक (खान) श्री सतीश झा एवं वरीय प्रबंधक (माइनिंग/प्लानिंग) श्री आर बी सिंदूर को पहला और एनसीएल मुख्यालय के सहायक प्रबंधक (वित्त) श्री हेमंत कुमार सिंधवानी को दूसरा पुरस्कार दिया गया। तकनीकी क्षेत्र में रचनात्मक कार्य के लिए केंद्रीय कर्मशाला (सीडबल्यूएस) जयंत के श्री अरविंद कुमार को पहला और कृष्णशिला परियोजना के श्री अवधेश कुमार यादव को दूसरा पुरस्कार मिला। 

समारोह में चित्रों के माध्यम से एनसीएल के प्रत्येक पक्ष को दर्शाने वाली पिक्चर बुक ‘कोलाज’ का विमोचन भी किया गया। 
कार्यक्रम में एनसीएल मुख्यालय एवं परियोजनाओं के महाप्रबंधक गण, श्रमिक संघों के पदाधिकारी सहित बड़ी संख्या में कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी, उनके परिजन और आम जन उपस्थित थे।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget