नीतीश कुमार दोबारा लेंगे बिहार के सीएम पद की शपथ, तेजस्वी की जगह मोदी होंगे डिप्टी सीएम

नीतीश कुमार दोबारा लेंगे बिहार के सीएम पद की शपथ, तेजस्वी की जगह मोदी होंगे डिप्टी सीएम

पटना (बिहार)।। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद राज्य में तेजी से बदल रहे सियासी घटनाक्रम के बीच अब आ रही खबरों के अनुसार गुरुवार सुबह 10 बजे नीतीश कुमार सीएम पद की और सुशील मोदी डिप्टी सीएम पद की शपथ लेंगे। करीब डेढ़ घंटे राजभवन में रहने के बाद बीजेपी और जदयू के नेता बाहर आ चुके हैं। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए बताया कि उन्होंने राज्यपाल को 132 विधायकों को लिस्ट सौंप दी है। कल सिर्फ नीतीश और सुशील ही शपथ लेंगे बाकि कैबिनेट बाद में शपथ लेगी। वहीं तेजस्वी ने भी राज्यपाल से मिलने का समय मांगा था। उन्हें 11.30 बजे का समय दिया भी गया लेकिन उससे पहले अगर शपथ हो जाती है तो इस मुलाकात का कोई मतलब नहीं रह जाता ऐसे में तेजस्वी ने कल पूरे दिन धरना प्रदर्शन और मार्च करेंगे। शपथ ग्रहण समारोह का पीएम मोदी भी पटना पहुंच कर हिस्सा बन सकते हैं। इससे पहले वहीं तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट करके जानकारी दी विधानसभा में सबसे बड़ा दल होने के नाते उन्होंने भी राज्यपाल से समय मांगा है और वो भी सरकार बनाने का दावा पेश करने जा रहे हैं। इस मुद्दे भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने यहां कहा, “बिहार में नीतीश के नेतृत्व में अगर कोई भी सरकार बनती है, तो भाजपा उसका समर्थन करेगी। भाजपा विधानमंडल दल नीतीश कुमार को बतौर नेता विश्वास प्रकट करती है।” सुशील ने बताया कि इसकी सूचना टेलीफोन के जरिए नीतीश कुमार को भी दे दी है, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा भी सरकार में शामिल होगी। उन्होंने बताया कि जल्द ही इस फैसले से राज्यपाल को भी अवगत करा दिया जाएगा। बिहार में भ्रष्टाचार के एक मामले में फंसे उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव को लेकर हुए विवाद के बीच बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इसके साथ ही महागठबंधन की 20 महीने पुरानी सरकार गिर गई।

इस्तीफा के बाद नीतीश क्या बोले - सुनिए 

बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने बुधवार को कहा कि जितना संभव हो सका, उन्होंने गठबंधन धर्म का पालन करने की कोशिश की, लेकिन बीते घटनाक्रम में जो चीजें सामने आईं उसमें काम करना मुश्किल हो गया था। उन्होंने कहा, “नोटबंदी का मसला आया तो हमने नोटबंदी का समर्थन किया। मेरे ऊपर न जाने क्या-क्या आरोप लग रहे थे। हमने नोटबंदी का समर्थन करते हुए यह भी साफ-साफ कहा था कि बेनामी संपत्ति पर भी रोक लगे। हम हमेशा जनपक्षधरता के समर्थन में रहे।”
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget