तस्करो के खिलाफ पाली पुलिस की सर्जिकल स्ट्राइक जारी, जब्त किया भारी मात्रा में अफीम



रमेशपुरी गोस्वामी(राजस्थान/पाली) रायपुर पुलिस ने बुधवार को बाईक सवार दो तस्करों को गिरफ्तार कर अफीम का सवा आठ किलो दुध बरामद किया है।इस अफीम का बाजार कीमत करीब 12 लाख रूपये आंकी जा रही हैं।जोधपुर जिले के यह तस्कर इस खैप को मंदसौर से खरीदकर लाए थे।जिसे जोधपुर में अलग-अलग तस्करों को सप्लाई करने जा रहे थे।

पुलिस ने अफीम का दुध व बाईक जब्त कर तस्करों के खिलाफ मादक पदार्थ तस्करी का प्रकरण दर्ज किया है।पुलिस इन तस्करों से गहनता से पुछताछ कर रही हैं।पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव के निर्देशन में मादक तस्करी की रोकथाम को लेकर जिले मे विशेष अभियान चलाया जा रहा है।इसे लेकर रायपुर थाना प्रभारी राजेंद्रसिंह चारण ने शाम बर-रायपुर के बीच फोरलेन स्थित टोल प्लाजा पर नाकाबंदी की।पुलिस वाहनों की जांच कर रही थी।इसी बीच बर से रायपुर की तरफ से तैज रफ्तार एक बुलेट मोटरसाइकिल आती दिखी।इस बाईक पर सवार दो जनों ने पुलिस को देख बाईक को बर की तरफ मोड़ने का प्रयास किया, लेकिन ट्राफिक होने से वे नाकाम रहे।उन्होंने बाईक को टोल नाके के पास छोडकर भागने का प्रयास किया।पुलिस टीम ने पीछा कर दोनों को दबोच लिया।इनके पास एक कपड़े का बड़ा थैला था।जिसकी तलाशी लेने पर उसमे प्लास्टिक की दो बड़ी थैलियां निकली ,जिनमें अफीम का दुध था।पुलिस ने इन्हें थाने लाकर गहनता से पुछताछ की।

इन्हें किया गिरफ्तार

पुलिस ने जोधपुर के भोजासर थाना क्षेत्र के नोखड़ा गोदारान निवासी विकास बिश्नोई पुत्र सहीराम बिश्नोई व जोधपुर के डांगियावास थाना क्षेत्र के जालेली फौजदाराम निवासी हनुमानाराम बिश्नोई पुत्र भागीरथराम बिश्नोई को गिरफ्तार किया।अब तक कि पड़ताल में सामने आया कि बीस वर्षीय विकास नामी तस्कर हैं।ये डोडा पोस्त तस्करी के मामले में भीलवाड़ा पुलिस के हत्थे चढ़ा था।जमानत मिलने के बाद इसने अफीम तस्करी चालू कर दी।

मंदसौर से खरीदी बाईक

ये तस्कर जिस बाईक पर मंदसौर से जोधपुर जा रहे थे।उन्होंने मंदसौर मे रह रहे रामनिवास बिश्नोई से खरीदी थी।इस बिना नम्बर की बाईक के पिछे जाट लिखा हुआ था।

पांच गुना कर देते अफीम

तस्करों की माने तो ये इस अफीम के दुध मे मिलावट कर पांच गुना कर देते।इससे इन्हें पांच गुना अधिक फायदा होता हैं।तस्करों ने पुलिस को बताया कि अफीम के दुध व बनाया हुआ अफीम के ग्राहक दोनों मिल जाते है।

सोजत होकर जाते जोधपुर

बर से जोधपुर जाने का सीधा रास्ता भी है, लेकिन इस मार्ग पर पकड़े जाने का डर था।इससे वे फौरलैन के रास्ते से सोजत जाते।वहां से अटबड़ा होकर बिलाड़ा पहुंचे, वहां से जोधपुर निकल जाते।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget