झोलाछाप डॉक्टर एवं बिना रजिस्ट्रेशन के बंगाली क्लिनिको के विरूद्ध करें कार्यवाही - कलेक्टर

अभियान चलाकर मलेरिया बीमारी की रोकथाम किया जायें - कलेक्टर
सिंगरौली ।। जिले में मलेरिया की बीमारी सें बचाव हेतु अभियान चलाकर मच्छरदानी रक्त पट्टी जॉच एवं कीटनाशक दवाईयों का छिड़काव अभियान चलाकर किया जायें। उक्त आशय का निर्देश कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी ने कलेक्ट्रेट सभा में आयोजित मलेरिया संबंधित बैठक के दौरान उपस्थित सिविल सर्जन सहित मलेरिया अधिकारी को निर्देश दिया गया। आगे उन्होने ने जिले में मलेरिया के रोकथाम हेतु चर्चा करते हुऐ निर्देश दिये की इस आशय की सूचना प्राप्त हुई है कि माढ़ा उप-स्वास्थ्य केंन्द्र में डॉक्टर नही बैठ रहे है। जिसके कारण मलेरिया एवं अन्य बीमारियों के उपचार में कठीनाई आ रही है। कलेक्टर के द्वारा बैठक में ही निर्देश दिया गया की एक सप्ताह प्रभारी सी.एम.ओ. डॉक्टर महेन्द्र पटेल एवं एक सप्ताह जिला मलेरिया अधिकारी तथा अन्य डॉक्टरो की भी ड्यूटी माढ़ा उपस्वाथ्स्य केन्द्र में लगाई जायें। आगे उनके द्वारा यह भी निर्देश दिया गया की समस्त आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ के माध्यम से मरीजो कर रक्त पट्टी की जॉच कराई जाऐं तथा तथा लोगो को मच्छरदानी का वितरण चिन्हित गावों में कराया जाए एवं भ्रमण के दौरान लोगो को इस आशय से अवगत कराया जायें की घर के सामने पानी का जमाव नही होने दे साथ आस-पास के अपने सफाई करने हेतु जागरूक किया जायें साथ कीटनाशक दवाई का छिड़काव नालियों में ग्रामीण क्षेत्र में मलेरिया अधिकारी एवं शहरी क्षैत्र में नगर-निगम के अधिकारी अभियान चला कर छिड़काव कराया जाना सुनिश्चित करें इसके अलावा प्रमुख कालोनियो में जहा घनी आबादी है। उन्हे चिन्हित कर कीटनाशक का छिड़काव कराया जाऐं मलेरिया के रोकथाम हेतु किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगी साथ ही शिक्षा विभाग एवं ट्रायबल विभाग के हॉस्टलो में अनिवार्य रूप से मच्छरदानी लगाये जाने हेतु व्यवस्थापक ध्यान देवे कोई बच्चा मच्छरदानी के बिना नही रहे। आगे उन्होने यह भी निर्देश दिया की अतिक्रमण के कारण जहा जल-भराव कि स्थित बनी है ऐसे स्थलो में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रो में अतिक्रमण तत्काल हटावें।
झोलाछाप डॉक्टर एवं बिना रजिस्ट्रेशन के बंगाली क्लीनिको के विरूद्ध होगी कार्यवाही
झोपाछाप डॉक्टरो एवं बिना रजिस्ट्रेशन के बंगाली क्लीनिक एवं अन्य ऐसी क्लीनिको के विरूद्ध जॉच करने हेतु सिविल सर्जन के साथ-साथ संबंधित क्षेत्रो के एस.डी.एम भी अपने भ्रमण के दौरान किया जाना सुनिश्चित करेगे। प्रायः झोलाछाप डॉक्टरो के द्वारा गलत दवाओ का उपचार किया जाता है। जिससे मरीज की हालात गम्भीर हो जाती है। इससे बचाव हेतु कलेक्टर के द्वारा जॉच कर इनके विरूद्ध कार्यवाही किये जाने हेतु निर्देश दिये गये। बैठक के दौरान संयुक्त कलेक्टर श्री सीताराम प्रधान, सिविल सर्जन श्री डॉक्टर एन.के जैन, कार्यपालन यंत्री व्ही.पी उपाध्याय, अतिरिक्त मुख्य-कार्यपालन अधिकारी जे.एस राठौर, होमगार्ड कमान्डेन्ट रजनी खटिक, अदि उपस्थित रहें।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget