नवागत आईजी पहुंचे सीधी, दिए सौहाद्र्ध बनाए रखने के निर्देश

नवागत आईजी पहुंचे सीधी, दिए सौहाद्र्ध बनाए रखने के निर्देश।

आईजी ने स्वीकारा साइबर क्राईम में हो रही है बढ़ोत्तरी
पुलिस कर्मिंयो की बैठक लेकर सिखाए गए अपराध को रोकने के नुक्से
सीधी से क्राईम रिपोर्टर सुभाष तिवारी।। नवागत पुलिस महानिरीक्षक अंशुमान यादव पहली मर्तवा जिले में आकर पुलिसिंग से वाकिफ हुए। इस दौरान उनके द्वारा पुलिस अधिकारियों की बैठक लेकर शांति ब्यवस्था बनाए रखने व अपराधों पर अंकुश लगाने के टिप्स सिखाए गए। वहीं पुलिस विभाग की बैठक लेने के बाद वे पत्रकार वार्ता आयोजित कर अपनी प्राथमिकताएं गिनाए। आईजी अंशुमान यादव के द्वारा कहा गया कि मेरा उद्देश्य है कि संभाग में शांति ब्यवस्था बनी रहे, इसके लिए चित्रकूट के जंगल में आतंक का पर्याय बन चुके डकैतों को नश्ता-नाबूत किया जा चुका है। सिंगरौली जिले सहित सीधी के कुशमी अंचल में नक्सली मूवमेंट मिलती रहती है, जिस पर खास नजर है। यद्यपि अभी तक जिले में नक्सली गतिविधियां नहीं हुई हैं फिर भी पुलिस पूरी तरह से सक्रिय है, मैं खुद सतत मानीटरिंग कर रहा हूं। जिसकी समय-समय पर पेट्रोलिंग व सर्चिंग भी की जा रही है।
उन्होनें कहा कि सीधी में अवैध उत्खनन की शिकायतें मिल रही हैं, जिस पर स ती से निपटने के निर्देश पुलिस अधीक्षक को दिए गए हैं। क्राईम मीटिंग में सतत समीक्षा की जा रही है। मादक पदार्थ की तस्करी, कोरेक्स के अवैध कारोबारियों पर भी नजर रखी जा रही है। 

साईबर क्राईम से स ती से निपटा जाएगा

जिले में साइबर अपराधों में बढोत्तरी हो रही है, जिससे निपटने के लिए साईबर सेल को दुरूस्त किया जाएगा। साईबर अपराधों पर अब विशेष नजर रहेगी। सोसल मीडिया फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर समाज को प्रभावित करने वाले फर्जी पोस्ट किया जा रहा है, जो गंभीर अपराध की श्रेणी में आता है। इसके साथ ही व्हाट्सप ग्रुप पर भी अनापत्ति पोस्ट किए जा रहे हैं, जिस पर पुलिस की विशेष नजर है। इसके साथ ही एटीएम, पेटिएम व बैंकिंग कार्य में भी लोगों के खाते से फर्जी तरीके से राशि आहरण की वारदातों पर साईबर सेल के माध्यम से ही विशेष नजर रहेगी।

किया गया पुलिस वेबसाईड का लांच


महानगरों की तर्ज पर अपराध की सूचना मिलने तथा आम जन तक पुलिस संवाद को मजबूत करने के उद्देश्य से आईजी के द्वारा पुलिस अधीक्षक कार्यालय से सीधी पुलिस वेबसाईड का लांच किया गया है। जिसमें जिले व संभाग के सभी पुलिस अधिकारियों, थाना, चौकी प्रभारियों व बीट प्रभारियों का मोबाईल नंबर अंकित किया गया है। इस वेबसाईड के माध्यम से लोग अपना सुझाव व शिकायते दर्ज करा सकतें है। इस वेबसाईड के लांच हो जाने से लोगों की यदि सुनवाई थाने में नहीं हो पा रही है तो पुलिस अधीक्षक व आईजी के पास चक् कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी बल्कि वे वेबसाईड में शिकायत दे सकते हैं जिसका समुचित निराकरण पुलिस अधिकारियों के द्वारा किया जाएगा।

भदौरा रेल्वे स्टेशन में पुलिस चौकी का प्रस्ताव

आईजी के द्वारा बताया गया कि भदौरा रेल्वे का स्टापेज हैं, जहां लोग रेल पकडऩे के लिए आते हैं। जिस पर सांसद रीती पाठक के द्वारा आईजी से भदौरा में पुलिस चौकी संचालित करने की मांग की गई थी। जिस पर आईजी के द्वारा भोपाल पुलिस मु यालय प्रस्ताव को भेजा गया है जहां से स्वीकृति मिलने के बाद भदौरा में पुलिस चौकी संचालित की जाएगी।
लेबल:
प्रतिक्रियाएँ:

एक टिप्पणी भेजें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget