महिला की कटी चोटी, दस घंटे बाद भी नहीं आया होश

  • चिकित्सकों ने जिला चिकित्सालय के लिए किया रेफर, परिजन ले गए पूजा-पाठ कराने
  • सिहावल ब्लाक मुख्यालय के बहचरिया टोला में आया मामला सामने
सीधी। राजस्थान, उप्र, हरियाणा के बाद मध्यप्रदेश में भी अदृश्य ताकत द्वारा चोटी कटने की घटनाएं बढ़ती जा रही है। मप्र के श्योपुर, मुरैना, सतना जिले के बाद सीधी जिले के सिहावल में चोटी कटने का मामला सामने आया है। चोटी कटने के बाद महिला ने हल्ला-गुहार किया उसके बाद बेहोश हो गई। परिजनों के द्वारा महिला को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिहावल में भर्ती कराया गया जहां बेहोशी न खुलने पर गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया गया। ऐसा मामला सामने आने पर चिकित्सक भी हैरान हैं। परिजनों के द्वारा बेहोश महिला को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय न लाकर किसी जादू-टोने, भूत-प्रेत की आशंका जताते हुए महिला को उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले में स्थिति गड़बड़ा धाम लेकर गए हैं। अभी तक महिला की हालत में कोई सुधार नहीं हो पाया है।

बताते चलें कि सीधी जिले में चोटी कटने की यह पहली घटना है। शुक्रवार की रात्रि भोजन करने के बाद सिहावल बहचरिया टोला निवासी अंजना पटेल पति धर्मराज पटेल ३५ वर्ष सो रही थी। अचानक उसकी चोटी कट गई, जिससे महिला जोर से चिल्लाई, जब परिजन पहुंचे तब महिला बेहोश हो गई। हालाकि पुलिस पूरा मामला संदिग्ध मान रही है। लेकिन फिर भी अन्य प्रदेश व मप्र के अन्य जिलों मे लगातार चोटी कटनें की घटनाओं या अफवाहों के बीच सिहावल में भी घटना घटित होने से जिले में महिलाओं के बीच दहसत का माहौल बन चुका है। 

देवी मंदिर की शरण में महिला-

चोटी कटने के बाद महिला बेहोश हो गई, जिसे परिजनों के द्वारा उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केद्र सिहावल में भर्ती कराया गया, किंतु बेहोशी से महिला बाहर नहीं निकल पाई, जिस पर उसे चिकित्सको के द्वारा जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया गया। किंतु परिजन जिला चिकित्सालय न लाकर सीधे गड़बढन देवी धाम लेकर गए, जहां महिला का झांड-फूंक के सहारे उपचार चल रहा है।
अद्र्धचेतना की स्थिति में आई थी चोटी कटी महिला-

सिहावल के बहचरिया टोला निवासी एक महिला को उपचार के लिए चिकित्सालय लाया गया, जो अद्र्धचेतना की स्थिति में थी, हांथ-पांव में कंपन हो रही थी, जिसे जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया गया है। चेाटी कटी थी, परिजन कटी चोटी को लेकर हमारे पास आए थे।
डॉ. रिकेश शर्मा बीएमओ, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिहावल

पहले से ही महिला का चल रहा है झाड़-फूंक-
महिला पहले से ही मानसिक रूप से बीमार थी, जिसको परिजनों के द्वारा उपचार की जगह झाड़-फूंक मे लगे हुए हैं, विगत तीन दिवस पूर्व ही उसकी झाड़-फूंक कराई गई थी। महिला का बयान नहीं हो पाया है, अज्ञात ताकत के द्वारा चोटी काटना आज के वैज्ञानिक युग में मजाक सा लगता है। जांच के बाद ही स्थिति सामने आ पाएगी।
नागेश्वर मिश्रा 
चौकी प्रभारी, सिहावल
Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget