आतंकवाद के विरुद्ध मस्तराम कर रहे एकजुट होने का आह्वान


मायानगरी की माया छोड़,काशी की मस्ती की मस्ताने हुए मस्तराम।
मस्तराम की महारथ गायन,वादन संग गीत लेखन में।
वालीवुड के अनेक सितारों के साथ किया है काम।

वाराणसी।मायानगरी की मोहमाया को त्याग मडुवाडीह के आदर्श नगर में गुजर बशर कर रहे मस्तराम को अचानक काशी घूमने के दौरान इतना यहाँ की माटी से इस कदर लगाव हुआ कि वालीबुड की रंगीन और चमक धमक भरे शहर की ललक भी इनके काशी मोह को नही छुड़ा सकी।और मस्तराम ने सब कुछ छोड़ काशी में रहकर गंगा संरक्षण एवं आतंकवाद जैसे मुद्दों पर अपने गीतों के माध्यम से अलख जगा रहे हैं।

देश में कुछ लोग भले ही देश की अस्मिता और अखंडता को सांप्रदायिकता के गर्त में धकेल रहे हो पर अभी भी कुछ ऐसे लोग भी समाज के अंधेरों में रहकर देश को उजाले की तरफ बढाने में अपनी सहयोगिता और योगदान को नेपथ्य से ही सही पर दिशा दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। मस्तराम एक ऐसे ही भागीरथ की भूमिका में है जो अपने बेहतरीन गीतों के माध्यम से हिंदू मुस्लिम भाईचारा को देश की अखंडता को अपने गीतों के द्वारा एक बने रहने की सिख देते है। वैसे तो मस्तराम मूलतः उत्तर प्रदेश के बांदा जिले से ताल्लुक रखते हैं, लेकिन इनके जीवन का अधिकांश समय मुंबई में ही गुजरा है।इन्होंने मायानगरी के अनगिनत नामचीन कलाकारों के साथ लेखन,गायन,वादन के माध्यम से सेवा दिया है।

एक दशक पूर्व काशी आये।

मस्तराम करीब दस वर्ष पूर्व पत्नी आरती अवस्थी, दो पुत्रिया अंबिका और आकृति के साथ बनारस घूमने की नीयत से आये।पर काशी की मस्ती देख इस कदर प्रभावित हुए की से सदैव के लिए काशीवासी हो गए।मौजूदा समय में मस्तराम मडुवाडीह बाजार में परिवार संग साधारण सी जिंदगी व्यतीत कर बच्चों और नौजवान पीढ़ी में आतंकवाद के खिलाफ व गंगा संरक्षण का संदेश दे रहे हैं ।

यू ट्यूब पर है गीत



इनके गीतों में गायन,वादन और लेखन को देखा जाय तो तीनों में ही इनको महारत हासिल है।इनके द्वारा गंगा को साफ रखने को लेकर गाए गीत" नैतिक कर्म है हम सबका गंगा साफ रखें "और "आतंकवाद को दफनाना है"और बदलेंगे हम बदलेंगे इस देश की किस्मत बदलेंगे यू ट्यूब पर खूब धूम मचा रहे हैं ।

अनेक कलाकारों से रही नजदीकिया।

इनकी माने तो इन्होंने मुम्बई में फ़िल्म अभिनेता और निर्देशक आमिर खान के बेटे जुनैद खान को लगातार आठ वर्षो तक शिक्षा देने का कार्य किया।तारक मेहता के उल्टा चश्मा के हंसराज उर्फ डॉक्टर हाथी हो या फिल्म स्टार गोविंदा सभी ने मस्तराम के गीतों पर लटके झटके लगाए हैं।इस्कान थिएटर मुंबई में अमजद खान ,गोविंदा,अनु मलिक, महाभारत धारावाहिक के किरदार धृतराष्ट्र के गिरजाशंकर और भीष्म पितामह का रोल अदा करने वाले मुकेश खन्ना संग प्रख्यात गायिका व हीरोइन सुलक्षणा पंडित के साथ भी काम कर चुके हैं।मस्तराम ने बातचीत में बताया कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी से भी बहुत प्रभावित है,उन्होंने मुख्यमंत्री योगी को उत्तर प्रदेश के विकास से जोड़ते हुए भी गीत गाया है।प्रदेश के विकास में योगी के योगदान को लेकर गाए गए गीत भी यू ट्यूब पर खूब धूम मचा रहे हैं।इनमें कलाओं की कई विधाओं जैसे मिमिक्री,गायन,वादन व लेखन में महारत हासिल है।उसको बच्चो में बाँट रहे है।

Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget