आयरन लेडी इरोम विवाह के बंधन में बंध गईं।



न्यूज डेस्क।। नागरिक अधिकार कार्यकर्ता इरोम शर्मिला गुरुवार को तमिलानाडु के कोडइकनाल में अपने प्रेमी डेसमंड कोटिन्हो से विवाह के बंधन में बंध गईं। डिंडीगुल जिले मेंसब-रजिस्ट्रार के कार्यालय में एक छोटा सा समारोह हुआ। सब-रजिस्ट्रार कार्यालय के एक कर्मचारी ने बताया, “दोनों सुबह आए और औपचारिकताओं को पूरा किया। उन्होंने एक दूसरे को पुष्पमाला पहनाई। शर्मिला मणिपुर की है और उन्होंने आर्म्ड फोर्सेस (स्पेशल पावर्स) एक्ट (आफ्सपा) के खिलाफ 16 वर्षो तक भूख हड़ताल की थी। इस साल अपने राज्य में विधानसभा चुनाव में हारने के बाद उन्होंने कोडइकनाल में रहने का निश्चय किया। सब-रजिस्ट्रार कार्यालय में विवाह के लिए जरूरी दो महीने की नोटिस अवधि के दौरान कुछ राजनैतिक संगठनों और लोगों ने उनका विरोध किया तो वहीं कुछ ने उन्हें अपना समर्थन भी दिया। 

शर्मिला ने हिंदू विवाह अधिनियम के तहत आवेदन दायर किया। उप रजिस्ट्रार ने उन्हें बताया कि यह एक अंतर-धार्मिक विवाह है, इसलिए उन्हें विशेष विवाह अधिनियम के तहत आवेदन दायर करना होगा। राजेश ने कहा कि उनके आवेदन को नोटिस बोर्ड पर लगाया जाएगा और 30 दिनों के नोटिस की अवधि पूरी होने के बाद ही शादी होगी। 

शर्मिला मणिपुर से कोडइकनाल शिफ्ट हो गई हैं और वह पिछले कुछ समय से अपने दोस्त के साथ ही रह रही थीं। उस समय शर्मिला ने संवाददाताओं को बताया था कि वह कोडइकनाल शांति की तलाश में आई थीं और उन्हें यह जगह पसंद आई। हालांकि, वह अपनी लड़ाई हार गई हैं लेकिन उन्होंने अपना मकसद नहीं छोड़ा है। शर्मिला आफ्सपा हटाने की मांग को लेकर अपनी जिंदगी का बड़ा हिस्सा अनशन पर गुजार चुकी हैं। आफ्सपा नहीं हटा और अंतत: उन्हें अपना अनशन तोड़ना पड़ा था।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget