जनपद खीरी की तहसील निघासन में किया जा रहा राजस्व अभिलेखों में फेरबदल

हरिजन आबादी हेतु आरक्षित जमीन नवीन परती के रूप में कागजात खेतौनी की गयी

दीप शंकर मिश्र"विद्यार्थी"विशोष संवाददाता
लखनऊ (लखीमपुर)।।उत्तर प्रदेश के तेजतर्रार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जैसे ही मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाली थी सबसे पहले भू माफियाओ पे लगाम कसनी शुरू की थी मगर इसका कुछ खास असर नही देखने को मिला क्योंकि शायद मुख्यमंत्री के आदेश अधिकारियों के लिए कुछ मायने नही रखते जिसका जीता जागता सबूत जनपद लखीमपुर खीरी की तहसील निघासन में देखने को मिल रहा है जहाँ ग्राम समाज से लेकर आबादी व मरघट की जमीन पे दबंगों ने कब्जा कर रक्खा हुआ है यहाँ तक तहसील के गाँव झंडी में भू माफियाओं ने हरिजन आबादी हेतु आरक्षित जमीन को नवीनपरती में दर्ज करवा दिया है जिससे तहसील प्रशासन अनिभिज्ञ है।
तहसीलदार पूरन सिंह राणा 

बताते चलें कि तहसील निघासन की ग्राम सभा लालपुर की गाटा संख्या 2392 व 2492 हरिजन आबादी हेतु आरक्षित भूमि के रूप में राजस्व अभिलेखों में दर्ज थी परंतु वर्तमान में उक्त जमीन राजस्व अभिलेखों में नवीन परती के रूप में दर्ज कागजात की गई है उक्त गाटा नम्बर की जमीनों पर काफी समय से भू माफियाओ का कब्जा चला आ रहा है।

उपजिलाधिकारी अखिलेश यादव
इस संबंध में जब हमारे विशेष संवाददाता दीप शंकर मिश्रा ने निघासन के उपजिलाधिकारी अखिलेश यादव व तहसीलदार पूरन सिंह राणा से बात की तो उन्होंने बताया कि यह प्रकरण गंभीर प्रतीत होता है अभी तक यह मेरे संज्ञान में नही था इसकी जांच करवाकर अवैध कब्जेदार से कब्जा हटवा कर दोषी के विरुद्ध उचित कार्यवाही की जाएगी।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget