क्रिस्टल से घर सजाएं

सरफ़राज़ ख़ान @उर्जांचल टाईगर
घर को सजाने के लिए इन दिनों क्रिस्टल और कांच के सामान से ख़ूब इस्तेमाल किया जा रहा हे। यह आकर्षक होने के साथ-साथ घर को विशेष लुक भी देता है। क्रिस्टल के सामान को अलमारियों, टेबल और शोकेस में सजाया जाता है। 
दुनियाभर में उत्तम क्रिस्टल की वस्तुओं में स्वरोवस्की संग्रह का नाम सबसे अधिक है। इन पीसिज़ के संग चौबीस कैरेट की पक्की कोटिंग का इस्तेमाल होता है या कुछ क्रिस्टल इसके बिना भी होते हैं। जब एक सदी पहले स्वरोवस्की ने पहला क्रिस्टल तराशा था, तब उसने कभी सोचा भी नहीं होगा कि वह कितनी महान कृति को जन्म दे रहा है। इसके बाद ऑस्ट्रिया में स्थित इस स्वरोवस्की क्रिस्टल फ़ैक्ट्री ने हज़ारों डायमंड और क्रिस्टल बनाए, जो दुनियाभर में मशहूर हुए। इस फ़ैक्ट्री के दो मुख्य आकर्षण हैं-पहला बारह टन की क्रिस्टल की दीवार और दूसरा क्रिस्टल ग्लोग, जिसके अंदर आप चहल-क़दमी कर सकते हैं। अपने अनगिनत प्रतिबिंबों को देख सकते हैं। 
भारत में भी ऊंचे स्तर के कट ग्लास के कांच के सामान का उत्पादन किया जाता है, जो विदेशी क्रिस्टल की तुलना में कहीं सस्ता है। क्रिस्टल या कट ग्लास के संग्रह की सबसे अच्छी बात है कि इसे आप पारंपरिक या आधुनिक गृह सज्जा वाले दोनों प्रकार के घरों में सजा सकते हैं। इन्हें इतनी बारीकी से तराशा जाता है कि ड्रांइग रूम में सजा हुआ क्रिस्टल स्वयं ही अपनी ओर ध्यान आकर्षित करता है। ये अनेक आकारों और डिज़ाइनों में बाज़ार में उपलब्ध है, जैसे छोटे फूलदान, फूल, घड़ियां, केक स्टैंड, सर्विंग बाउल आदि मिलते हैं। सुंदर क्रिस्टल के झूमर और लैम्प से अपने घर को प्रज्वलित करें। बाज़ार का एक विशेष प्रभाव वातावरण में फैल जाता है। बाज़ार में महंगा स्वरोवस्की झूमर से लेकर कम क़ीमत वाले आकर्षक झूमर उपलब्ध हैं। 
आजकल घर में 'फेंगशुई' वस्तुएं रखने का प्रचलन है। कट ग्लास में इसके कई फ़िगर मिलते हैं, जैसे घोड़ा, डालफ़िन, कछुआ और लाफ़िंग बुङ्ढा आदि। इसका रखरखाव भी बहुत आसान है। क्रिस्टल को हर रोज़ नरम कपड़े से साफ़ करें। महीने में एक बार इन्हें पानी से धोएं। इसके लिए एक टब में पानी लें और उसमें सर्फ़ अच्छी तरह घोल लें। फिर उसमें क्रिस्टल का सामान कुछ देर के लिए छोड़ दें, जिससे कोनों में जमी धूल-मिट्टी निकल जाए। फिर उसे साफ़ पानी से धोकर सूखे कपड़े से पोंछ दें। ध्यान रहे कि चौबीस कैरेट प्लेटिंग वाले क्रिस्टल को या अन्य धातु लगे क्रिस्टल को पानी से नहीं धोना चाहिए।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget