उत्तर प्रदेश - बीएचयू में शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे बेटियां पर बरपा कहर


बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छेड़छाड़ और कैंपस में महिला सुरक्षा को लेकर पिछले दो दिनों से छात्राओं को प्रदर्शन चल रहा था,जो शनिवार रात को  हिंसक हो गया।
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे के साथ देश मे राज करने वाली पार्टी के प्रधानमंत्री वाराणसी दौरे पर रहते हुए रस्मअदायगी के लिए भी आंदोलन कर रहे इन बेटियों के सुरक्षा से जुड़े सवालों को तवज्जों नहीं दिए और चुपचाप लौट के दिल्ली चले आए।

वाराणसी ।। छेड़खानी के विरोध में दो दिन से धरना-प्रदर्शन कर रहीं छात्राओं पर शनिवार देर रात लाठीचार्ज कर दिया गया। रात 10 बजे वीसी आवास पर प्रदर्शन करन जा रहीं छात्राओं को वीसी के सुरक्षा गार्डों और पुलिस ने महिला महाविद्यालय के सामने रोककर लाठीचार्ज कर डाला। इसमें कई छात्र छात्राएं घायल हुए हैं। इसके बाद छात्रों का गुस्सा बेकाबू हो गया। लाठीचार्ज के जवाब में छात्रों ने पथराव शुरू कर दिया तो पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और फायरिंग कर दी। रात 12.15 बजे हॉस्टल से ताबड़तोड़ 8 पेट्रोल बम फेंके गए। हॉस्पिटल में घुसकर पथराव किया, इससे मरीजों-तीमारदारों में भगदड़ मच गई। लंका चौराहे पर पुलिस कर्मियों को छात्रों ने दौड़ाया।
सिंहद्वार के बाहर खड़ी मोटरसाइकिलों को आग लगा दी, पुलिस बूथ उखाड़ दिया। 23 थानों की फोर्स, एक दर्जन वज्र वाहन और 5 कंपनी पीएसी परिसर में बुला ली गई। पूरी घटना में बीएचयू प्रशासन की घोर लापरवाही मानी जा रही है। उधर, तनाव को देखते हुए 25 सितंबर के बजाए तीन दिन पहले से ही विश्वविद्यालय में 2 अक्तूबर तक के लिए छुट्टी की घोषणा कर दी गई।
इससे पहले एलबीएस हॉस्टल के पास जहां छात्रों ने कुलपति की हठवादिता के खिलाफ पीएम मोदी की होर्डिंग्स में आग लगा दी थी। परिसर में खड़ी तीन स्कूटी भी फूंक दी। उधर, घटना की सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने छात्रों पर आंसू गैस के गोले दागे और और 18 राउंड हवाई फायरिंग भी की। छात्रों के उपद्रव के दौरान डीएम योगेश्वर राम मिश्र, एसओ लोहता समेत तीन पुलिसकर्मी, बीएचयू के तीन सुरक्षागार्ड, सात छात्र और कुछ पत्रकार घायल हो गए। गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई।

छात्रों के शान्तिपूर्वक कर रहें आंदोलन पर लाठीचार्ज से उग्र हुआ आंदोलन।

रात करीब दस बजे तक तो सब शांतिपूर्वक चल रहा था लेकिन मामला वहां से बिगड़ा जब छात्र कुलपति आवास पर उनसे मांग करने गए थे। यहां सुरक्षा गार्डों ने उन्हें भगाने के लिए लाठीचार्ज किया, इसके बाद से ही गुस्सा भड़क गया। इसकी सूचना मिलते ही पास के हॉस्टलों से छात्र सड़क पर आ गए और विरोध शुरू कर दिया। एलबीएस हॉस्टल से लेकर रुईया हॉस्टल तक का सड़क छात्रों से पैक हो गया। छात्र इतने आक्रोशित थे कि पहले वहां लगे पीएम मोदी के होर्डिंग्स में आग लगाई फिर वहां गए एक सुरक्षा कर्मी की स्कूटी में आग लगा दी।


जवाब में पुलिस ने लाठीचार्ज करने के साथ ही पुलिस ने आंसू गैस का गोले छोड़े और छात्रों को भगाने के लिए हवाई फायरिंग भी की। आरोप है कि छात्रों की ओर से भी हवाई फायरिंग की गई। इस घटना के बाद पूरा कैंपस पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है। बीएफए की छात्रा के साथ बाइक सवार दो युवकों द्वारा छेड़खानी के विरोध में मुकम्मल सुरक्षा की मांग को लेकर शुक्रवार की सुबह शुरू हुआ छात्राओं का आंदोलन शनिवार की देर रात तक जारी रहा था। छात्राओं के आक्रोश पर विश्वविद्यालय प्रशासन काबू नहीं कर सका।

यह भी पढ़ें - पीएम नरेंद्र मोदी के वाराणसी आगमन से पहले BHU की छात्राओं का प्रदर्शन।

सबसे अधिक पथराव हॉस्टल रोड और मेन गेट की तरफ हुआ। घायल पांच छात्र-छात्राओं के अलावा दो पुलिसकर्मी और चार बीएचयू सुरक्षाकर्मी को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है।एक छात्रा की हालत गंभीर बतायी जा रही है। पूरे परिसर को पुलिस ने घेर लिया था और हॉस्टलों की तलाशी की तैयारी चल रही थी।

कुलपति का पुतला फूंक कर जताई नाराजगी

बीएचयू सिंह द्वार से महिला महाविद्यालय और कुलपति आवास तक धरना-प्रदर्शन चलता रहा। इस दौरान कई बार कुलपति ने प्रॉक्टोरियल बोर्ड के सदस्यों, सभी अधिकारियों, हॉस्टल वार्डन आदि को बातचीत के लिए भेजा लेकिन खुद कभी सामने नहीं आए और यही कारण है कि यह छात्राओं का गुस्सा बढ़ता जा रहा है। प्रदर्शनकारी छात्राएं चाहती हैं कि कुलपति धरनास्थल पर आए और उनकी बातों का भरे मंच से जवाब दें, लेकिन कुलपति सामने आने को तैयार ही नहीं। बीएचयू कैंपस से उठी विरोध की चिंगारी शहर के अन्य विश्वविद्यालयों तक पहुंच गई है। बीएचयू प्रशासन के रवैये के विरोध में काशी विद्यापीठ में छात्रनेताओं ने मार्च निकाला और कुलपति का पुतला फूंक कर नाराजगी जताई।

उर्जांचल टाइगर" की निष्पक्ष पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिकमदद करें।

Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget