बुराई पर अच्छाई का जीत का प्रतीक दशानन के दहन की तैयारी पूरी


  डीरेका में सुरक्षा की व्यवस्था चाक चौबंद
वाराणसी। डीजल रेल इंजन कारखाना में शनिवार को दशहरे का मेला देखने के लिए आसपास के इलाकों से हजारों की संख्या में पहुंचते हैं । सुरक्षा के लिए रेलवे रेलवे पुलिस ने 125 अतिरिक्त जवानों की तैनाती की है ।

डीरेका के केंद्रीय खेल मैदान पर ढाई घंटे तक चलने वाले रूपक नाटक की तैयारियां पूरी कर ली गई है मैदान को आकर्षक तरीके से सजाया गया है अशोक वाटिका राम दरबार और रावण के दरबार को आकर्षक तरीके से बनाया गया है यहां पर ढाई घंटे तक रूपक होने के बाद अत्याधुनिक तरीके से बनाए गए रावण मेघनाथ और कुंभकरण के पुतलों का दहन किया जाएगा। विजयादशमी समिति डीरेका ने ढाई घंटे तक होने वाले रूपक को देखने के लिए आगंतुकों को बैठने के लिए 7000 कुर्सियों की व्यवस्था की है । रूपक परिसर में प्रवेश के लिए लाल हरा सफेद और पीले रंग के पास जारी किए गए हैं । ढाई हजार हरा पास, 15 सौ सफेद पास ,15 सौ लाल और 15 सौ पीले पास जारी किए गए हैं । पीला और हरा पास धारक प्रशासनिक भवन की तरफ से बनाए गए गेट से जाएंगे । लाल पास धारक बास्केटबॉल ग्राउंड की तरफ से बनाए गए गेट से घुसेंगे । और सफेद पास धारक डीरेका के केंद्रीय खेल मैदान के मुख्य द्वार से प्रवेश पाएंगे । सभी प्रवेशार्थियों को अपराह्न् 4:00 बजे तक ही प्रवेश मिल पाएगा उसके बाद प्रवेश संभव नहीं है। यह जानकारी देते हुए डीरेका विजयादशमी समिति के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि सुरक्षा की जिम्मेदारी रेलवे पुलिस बल के साथ है जिला प्रशासन की भी है।
डीरेका के केंद्रीय खेल मैदान पर दशहरे के दिन जलने वाले रावण और मेघनाद और कुंभकरण के पुतलो को क्रेन से खड़ा कर दिया गया है।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget