बाल विवाह - भाजपाई मंत्री और नेता के खिलाफ केस दर्ज


भोपाल।। नाबालिग आदिवासी लड़की की शादी कराने के आरोप में स्थानीय अदालत ने मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री हरिशंकर खटीक समेत चार स्थानीय बीजेपी नेताओं के खिलाफ बाल विवाह निरोधक अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है। जिन चार बीजेपी नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है उनमें पूर्व मंत्री हरिशंकर खाटीक के अलावा बुंदेलखंड विकास प्रधिकरण के पूर्व चेयरमैन सुरेंद्र प्रताप सिंह, टीकमगढ़ नगर निगम के पूर्व चेयरमैन राकेश गिरी और टीकमगढ़ के पूर्व बीजेपी जिला चीफ नंदकिशोर नापित शामिल हैं।
करीब साढ़े 5 साल पहले मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत इस नाबालिग लड़की की शादी, शादीशुदा व्यक्ति से कराई गई थी। जिला न्यायालय के न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी अमर सिंह सिसोदिया ने कांग्रेस नेता यादवेंद्र सिंह की याचिका पर पूर्व आदिम जाति कल्याण मंत्री खटीक सहित बीजेपी के 4 नेताओं को नाबालिग लड़की की शादी कराने के मामले में उन्हें 12 अक्टूबर को अदालत में पेश होने के समन जारी किए।
इन चारों बीजेपी नेताओं के खिलाफ बाल विवाह निरोधक अधिनियम की धारा 10 और 11 के तहत मामला दर्ज किया गया है।
इस संबंध में परिवाद दायर करने वाले यादवेंद्र सिंह के अधिवक्ता अनिल त्रिपाठी ने बताया कि उक्त सभी ने 25 अप्रैल 2012 को मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत टीकमगढ़ ज़िले के बलदेवगढ़ नगर पंचायत की बैसा टपरियन गांव की रहने वाली 15 साल 11 माह की लड़की की शादी एक ऐसे आदिवासी पुरुष से करवा दी थी, जो पहले से ही शादीशुदा था।
उन्होंने कहा कि जब भाजपा नेताओं ने यह शादी करवाई, उस वक्त हरिशंकर खटीक मध्य प्रदेश शासन में अनुसूचित जाति एवं अनूसूचित जनजाति कल्याण राज्य मंत्री थे, जबकि सुरेंद्र प्रताप सिंह बुंदेलखंड विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष, राकेश गिरि टीकमगढ़ नगरपालिका के अध्यक्ष और नंदकिशोर नपित टीकमगढ़ ज़िला भाजपा अध्यक्ष थे।
Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget