बवाल के लिए बीएचयू प्रशासन जिम्मेदार- कमिश्नर

बनारस।।बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) में लड़कियों से छेड़छाड़ के मामले पर वाराणसी के कमिश्नर ने चीफ सेक्रेटरी राजीव कुमार को शुरुआती रिपोर्ट सौंप दी है। कमिश्नर नितिन गोकरन ने अपनी रिपोर्ट में यूनिवर्सिटी प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है। रिपोर्ट में कहा गया कि न तो बीएचयू ने पीड़ित की शिकायत को गंभीरता से लिया और न ही स्थिति को वक्त पर संभालने की कोशिश की। दरअसल बीएचयू परिसर में गुरुवार (21 सितंबर) को एक छात्रा से छेड़छाड़ के बाद से छात्राओं में जबरदस्त आक्रोश का माहौल है। आरोप है कि गुरुवार शाम छह बजे तीन युवाओं ने छात्रा से छेड़छाड़ और उत्पीड़न किया। पीड़िता की पहचान फाइन आर्ट्स प्रथम वर्ष की छात्रा के रूप में हुई थी। घटना के बाद छात्र-छात्राओं ने प्रशासन के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। लेकिन जब विरोध-प्रदर्शन का असर नहीं हुआ तो छात्र वीसी के लॉज पहुंचे। मगर विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं के साथ पुलिसकर्मियों ने मारपीट की। इससे बीएचयू परिसर जंग का मैदान बन गया।

इस दौरान हवाई फायरिंग व आंसू गैस के गोले दागने के बाद हालात काबू में नहीं आए तो पुलिस ने पथराव भी किया। घटना में दरोगा सहित दर्जनों छात्र घायल हुए थे। वहीं सोशल मीडिया कुछ वीडियो तेजी से वायरल हुए थे, जिनमें महिलाओं पर लाठीचार्ज किया गया। कुछ छात्राओं के सिर और पैर पर पट्टी भी बंधी नजर आई थी। वीडियो में एक छात्रा कहती नजर आई थी कि फोर्स ने उन्हें बेरहमी से पीटा। हमें पैरों से भी कुचला गया। वहीं एक अन्य वीडियो में सुरक्षाकर्मी छात्राओं को खदेड़ते हुए नजर आ रहे हैं। भारी तनाव के बाद यूनिवर्सिटी को 2 अक्टूबर तक बंद करने के आदेश दे दिए गए हैं।
Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget