अख़लाक़ हत्याकांड के 15 आरोपियों को एनटीपीसी में मिलेगी नौकरी

उर्जांचल टाइगर (जो दिखेगा,वो छपेगा)

मोहम्मद अखलाक़(फाइल फोटो)
नई दिल्‍ली।उत्तर प्रदेश के दादरी निवासी अख़लाक़ नाम के एक शख़्स के घर में गाय का मांस होने का आरोप लगाकर पीट पीट कर मार डाला गया था।यह घटना २०१५ की है।इस हत्या के 15 आरोपी जमानत पर रिहा हो गए हैं। अब इन आरोपियों को नेशनल थर्मल पॉवर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) में तीन माह के अंदर संविदा पर नौकरी पर रखने पर सहमति बनी है।
सितंबर 2015 में दादरी के बिशहर गाँव में मोहम्मद अखलाक की हत्या के दोषी ठहराए जाने वाले युवकों को एनटीपीसी लिमिटेड ने अनुबंध संबंधी नौकरी पर रखा है। द हिन्दू में छपी खबर के अनुसार स्थानीय भाजपा विधायक तेजपाल नागर ने 9 अक्टूबर को एनटीपीसी के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में उनकी भर्ती की सिफारिश की।
रोजगार की पेशकश ‘महारत्न’ कंपनी की योजना का हिस्सा है, जो अपनी परियोजनाओं से प्रभावित लोगों को अवसर प्रदान करती है – बिशहर गाँव एनटीपीसी संयंत्र के पास के क्षेत्र में स्थित है और कई ग्रामीणों की जमीन तीन दशक पहले इसे स्थापित करने के लिए अधिग्रहण की गई थी।
एनटीपीसी के प्रवक्ता ने स्थानीय विधायक द्वारा युवाओं को नौकरी की पेशकश की पुष्टि की। आगे उन्होंने कहा कि “हां, हम बिशहर के बेरोजगार युवकों को नौकरी देने पर सहमत हुए हैं। अख़लाक़ मामले में आरोपी होने के साथ इसका कोई लेना देना नहीं है। बिशहर के कई निवासियों को संविदात्मक नौकरियों की पेशकश की गई है। क्योंकि यह एनटीपीसी की सभी परियोजना प्रभावित व्यक्तियों को अपनी योग्यता और विशेषज्ञता के आधार पर रोजगार देने की नीति है। ”
आपको बता दें कि भाजपा ने दिल्ली महिला आयोग द्वारा एक एसिड अटैक विक्टिम को नौकरी दिए जाने पर उसे घोटाला कहकर उनकी तनख्वाह तक LG से रुकवा दी थी।

Labels:
Reactions:

Post a Comment

डिजिटल मध्य प्रदेश

डिजिटल मध्य प्रदेश

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget