सिंगरौली नगर निगम का रिश्वतखोर उपायुक्त रंगे हांथ पकड़ा गया ।

रिश्वतखोर उपायुक्त रंगे हांथ पकड़ा गया।


ब्यूरो कार्यालय बैढन।। सिंगरौली नगर निगम उपायुक्त सी.पी.पांडेय को लोकायुक्त की टीम ने एक लाख बीस हजार रुपए का रिश्वत लेते हुए कार्यालय में धर दबोचा।सूत्रों की माने तो नगर निगम में कोई भी काम बिना कमीशन के हो ही नहीं सकता और कमीशन का यह खेल नीचे से ऊपर तक बड़े ईमानदारी से खेला जाता है।

लोकायुक्त पुलिस के उपाधीक्षक - देवेश पाठक ने बताया कि ठेकेदार परमिंदर सिंह की शिकायत पर उपायुक्त सीपी पांडेय को निगम के उपायुक्त कार्यालय में 1,10,000 रूपये की रित लेते हुए गिरफ्तार किया गया है।


उन्होंने बताया कि सिंगरौली नगर पालिक निगम में ठोस अवशिष्ट प्रबंधन का कार्य कर रही सोच एजुकेशन एंड सोशल वेलफेयर सोसायटी की निविदा जुलाई 2017 में समाप्त हो गयी थी। सोसायटी को दो बिलों के 37 लाख रुपये का भुगतान निगम से लेना बाकी था। इस भुगतान को जारी करने के एवज में निगम के उपायुक्त एवं स्वास्थ्य अधिकारी सीपी पाण्डेय ने बिल राशि का 3 प्रतिशत रित के तौर पर मांगी।

पाठक ने बताया कि लोकायुक्त पुलिस के दल ने योजना बनाकर परमिंदर सिंह को रित की रकम के साथ उपायुक्त के पास भेजा और बाद में पांडेय को सिंह से 1,10,000 हजार रूपये की रित लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।
उन्होंने बताया कि लोकायुक्त पुलिस द्वारा उपायुक्त के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर विस्तृत जांच की जा रही है।

ज्ञात हो कि उपायुक्त सीपी पाण्डेय मूलत: सिंगरौली जिले थाना माडा क्षेत्र के कथूरा निवासी हैं और इनकी उम्र 59 वर्ष है जो 2017 के दिसम्बर माह में सेवानिवृत्व भी होने वाले थे।


लोकायुक्त का यह कार्यवाही जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है। लोगों का कहना है की जिले में भ्रस्टाचार चरम पर है अब देखना दिलचस्प होगा की अगला नंबर किसका अता है।
जारी .....
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget