गुजरात- फेक एनकाउंटर के आरोपियों को चाहिए भाजपा का टिकट

गुजरात चुनाव


न्यूज डेस्क।।गुजरात  में जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आता जा रहा है, राजनीति भी अलग-अलग रूप लेती जा रही है। अब राज्य के एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिसकर्मी भी चुनावी समर में ताल ठोंकने की तैयारी कर रहे हैं। फेक एनकाउंटर के मामलों के आरोपी 3 पुलिककर्मियों- डी जी वंजारा, एन के अमीन तथा तरुण बरोट ने बीजेपी के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। 
इशरत जहां एनकाउंटर केस के आरोपी तरुण बरोट ने बापूनगर से चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है। वह रेलवे के डेप्युटी एसपी के पद से रिटायर हुए हैं। उन्होंने कहा, 'मुझे समाज की सेवा करने में खुशी होगी।' तरुण ने इशरत जहां और सादिक जमाल के एनकाउंटर केस में 3 साल जेल में गुजारे हैं। 
वहीं अमीन की निगाहें अहमदाबाद की असरवा सीट पर लगी हुई है। उन्होंने बीजेपी नेतृत्व के समक्ष अपनी इच्छा जाहिर कर दी है, लेकिन पार्टी ने अभी तक कुछ भी स्पष्ट नहीं किया है। 7 साल की जेल के बाद 2015 में रिहा हुए अमीन ने कहा, 'मैं डॉक्टर और पुलिस के तौर पर लोगों की सेवा कर चुका हूं। मेरा झुकाव राजनीति की तरफ भी है। मौका मिलने पर मैं चुनाव लड़ूंगा।' 
वहीं सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर केस के आरोप में 8 साल जेल में रहे डी जी वंजारा ने भी चुनाव लड़ने की इच्छा जताते हुए कहा कि राजनीति उनके लिए कोई अछूत नहीं है। सीबीआई कोर्ट द्वारा गुजरात में दोबारा आने की इजाजत मिलने के बाद 2016 में वह राज्य में लौट आए थे। 
गुजरात बीजेपी चीफ जीतू वघानी ने इस बारे में पूछे जाने पर कहा, 'हमें पार्टी वर्कर्स और समाज के विभिन्न हिस्सों से टिकट के आवेदन प्राप्त हुए हैं। पार्टी का शीर्ष नेतृत्व ही प्रत्याशियों के चयन को लेकर फैसला करेगा।' 

Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget