पं0 दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय मे चौबीस घंटे के भीतर हुई दूसरी बार चोरी अस्पताल प्रशासन मौन साधी हुई है।

पं0 दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय मे चौबीस घंटे के भीतर हुई दूसरी बार चोरी अस्पताल प्रशासन मौन साधी हुई है।



वाराणसी से सन्तोष कुमार सिँह।।  अभी चौबीस घंटे भी नही बीते की अस्पताल मे हुई दूसरी बार चोरी कल शुक्रवार को अस्पताल मे एक युवक जो की अपने पिता को दिखाने आये थे उनका पर्स मोबाइल चोरी का मामला अभी हल भी नही हुआ था। 
की फिर आज शनिवार को जिला अस्पताल पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय वाराणसी मे मेडिकल वार्ड के बेड नम्बर 46 पर दिनाँक-19.10.17 से भर्ती अनुज 18 वर्षीय पुत्र शिव रविदास औरंगाबाद पानी टंकी निवासी बताया गया। 
पं0 दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय मे लगभग 23 दिनो से भर्ती अनुज के पिता शिव रविदास अपने स्कूटर से आवागमन करते थे। जो की रोज की भाँति आज भी अपनी स्कूटर अस्पताल कैम्पस मे खड़ा कर अपने लड़के अनुज के पास गये थे। कु़छ ही देर बाद वापस लौटने पर शिव रविदास ने देखा की उनकी स्कूटर गायब थी बहुत खोजबीन किया लेकिन स्कूटर का कुछ भी पता नही चल पाया। 

गायब स्कूटर का नम्बर- बजाज,up65p5847 वाहन मालिक, पिषूस कुमार। पीड़ीत शिव रविदास से बातचीत करने पर बताया की अस्पताल मे लगभग 23 दिन से मरीज को लेकर पिता को आना जाना लगा रहता हैं। स्टैंड में स्कूटर न खड़ा कर कैंपस के अंदर ही रखा करता था। जो की इतने दिनो से स्कूटर खड़ा करता आ रहा था कभी ऐसा कु़छ भी नही हुआ आज किसी ने स्कूटर को गायब कर दिया। बहुत खोजबीन करने पर भी पता न चलने पर यूपी डायल 100 पुलिस को फोन कर सूचना दिया गया।
अस्पताल सूत्रों द्वारा और जानकारी हुआ कि 4:00 बजे भोर में रोजाना मरीजो और परिजनों का मोबाइल गायब होता है।
बताया जा रहा है की दीनदयाल अस्पताल मे तैनात डियूटी पर गार्ड की सुरक्षा व्यवस्था मनमानी ढँग से चल रहा है। पण्डित दीनदयाल अस्पताल में सुरक्षा एंट्री जो होता था। पब्लिक आने व जाने का वह बंद चल रहा है सुरक्षा गार्ड आराम फरमा रहे है। करीब एक हफ्तों से ये सब गोरख धंधा ज्यादा चल रहा है मरीज व परिजनो के होश उड़ गया है।
अस्पताल अधीक्षक चुपचाप बैठे मौन साधे हुए हैँ। अस्पताल मे लगे कैमरा का कोई प्रभाव नहीं पड़ता हैं जानकारी के बाद भी चुपचाप बैठे हुए हैं। 



टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget