ईमानदार गन्ना आयुक्त संजय भूष रेडडी ने गन्ना माफियाओं/ दलालों पर कसा शिकंजा

ईमानदार गन्ना आयुक्त संजय भूष रेडडी ने गन्ना माफियाओं/ दलालों पर कसा शिकंजा


लखीमपुर बेलरायां चीनी मिली मे लगभग 20 वर्षों से नही हुई कोई AGM

 दीप शकंर मिश्र"विद्यार्थी"
विशेष संवाददाता लखनऊ ।। लखमीपुर ईमानदार व कर्तव्य निष्ठ IAS अधिकारी जो वर्तमान समय मे प्रमुख सचिव/गन्ना आयुक्त के पद पर दिल्ली प्रतिनियुक्ति से वापस लौटने पर तैनात है । उन्होंने जिन्होंने गन्ना किसानो के हित लाभ को देखते हुये वास्तविक गन्ना किसानो का बीच मे ही हक मार रहे गन्ना के दलाल / माफियाओं पर शिकंजा कसने गन्ना दलाली बन्द करने के लिये गन्ना माफियाओ को चिन्हित कर उन पर रासुका लगाने का निर्देश जारी कर दिया है । 
ईमानदार IAS संजय भूष रेड्डी ने दूरभाष पर बताया की यदि गन्ना दलालों की सांठ गांठ मेचीनी फैक्ट्री की संलिप्तता पायी गयी तो फैक्ट्री के जी एम पर भी कार्यवाही करने मे देर नही लगाई जायेगी
गन्ना आयुक्त के इस आदेश से गन्ना माफियाओं और गन्ना माफियाओं से सांठ गांठ करने वाली मिल के अधिकारीयों मे भय व्याप्त है । ईमानदार गन्ना आयुक्त अवगत हो की लखीमपुर की बेलरायां शुगर फैक्ट्री मे गन्ना माफियाओ का काफी बोल बाल रहा है इधर लगभग 10 वर्षों से फैक्ट्री मे फैक्ट्री के डेलिगेटों की कोई AGM मीटिंग नही बुलाई गयी है । इस सम्बन्ध मे बेलरायां शुगर फैक्ट्री के पूर्व उपाध्यक्ष श्याम जी पांडेय से जब हमारे विशेष संबाददाता दीप शंकर मिश्र ने जानकारी चाही तो उन्होंने ने बताया की लगभग 20 वर्षो से उक्त चीनी मिल मे कोई AGM नही बुलाई गयी है श्याम जी पांडेय ने बताया की दीप भइया AGM क्या नियमानुसार तीन माह मे एक बार होने वाली बोर्ड की बैठक ही नही समय से हो रही है तो AGM की कौन कहे।  फैक्ट्री मे AGM के नाम पर खर्च होने वाले पैसे के सम्बन्ध मे श्याम जी पांडेय बात को टाल गये परन्तु बहुत पूछने कि प्रसाशनिक मद के पैसे से ही AGM व बोर्ड की बैठकों मे पैसा खर्च किया जाता है इस सम्बन्ध मे फैक्ट्री के प्रधान प्रबन्धक लालता प्रसाद सोनकर से उनके मो 7880888991 पर AGM के 20 वर्षों से न होने व बोर्ड की बैठक का समय से न होने प्रसाशनिक मद मे वर्ष मे कितना व्यय होता है जानकारी करने पर बताया की मिश्रा जी कल से 15 नवम्बर से फैक्ट्री का शुभारम्भ होने जा रहा है इस समय काफी व्यस्त हूँ कागज देखकर आपको बताऊँगा । यहाँ पर विषय इस बात का है की नियमानुसार फैक्ट्री मे AGN या बोर्ड की बैठक समय से क्यों नही हो रही है । यदि डेलिगेटों/सदस्य की बैठक की कोई जरूरत नही तो इनके चुनाव की क्या आवश्यकता है । डेलीगेटो की तरह डायरेक्टर का चुनाव डायरैक्ट कर दिया जाय वैसै कुल मिलाकर इस बार ईमानदार गन्ना आयुक्त के आने से फैक्ट्री से सुत्रों के अनुसार तमाम फर्जी सट्टा धारकों को फैक्ट्री से रुखसत होना पडा है परन्तु AGM व बोर्ड की बैठक समय से न होने से लगता है की बेईमानी व भ्र्ष्टाचार अभी बाकी है ।
 जिलाधिकारी व उक्त चीनी मिल के चेयरमैन आकाश दीप के द्वारा भी समय से बोर्ड की बैठक न होने लगभग 20 वर्षो से AGM न होने के सम्बन्ध मे अभी तक कोई कार्यवाही नही की गयी है फर्जी सट्टा धारकों को भी ईमानदार गन्ना आयुक्त संजय भूष रेड्डी के आने के बाद ही रुखसती करनी पड़ी है बाकी बहुत कुछ समय के गर्भ मे है ।
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget