पूरा नहीं हो पाएगा राजकोषीय घाटे का लक्ष्य

GST

न्यूज डेस्क।।फ्रांस की ब्रोकरेज कंपनी बीएनपी परिबा ने आगाह किया है कि माल एवं सेवा कर "जीएसटी" के क्रियान्वयन तथा बुनियादी ढांचा क्षेत्र पर सरकार के ऊंचे खर्च की वजह से राजकोषीय घाटा इसके तय लक्ष्य से आगे निकल जायेगा। सरकार ने चालू वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा सकल घरेलू उत्पाद "जीडीपी" के 3.2 प्रतिशत पर रहने का लक्ष्य रखा है।

वैश्विक वित्तीय सेवा क्षेत्र की कंपनी की जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि जीएसटी के बाद राजस्व संग्रहण को लेकर स्थिति साफ नहीं है। चालू वित्त वर्ष 2017-18 के अंत तक यही स्थिति बनी रहेगी। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘सरकार का बुनियादी ढांचे पर खर्च बढ़ने से राजकोषीय घाटा 3.2 प्रतिशत के लक्ष्य को पार कर जाएगा।’’ हालांकि बीएनपी परिबा ने यह नहीं बताया कि यह लक्ष्य से कितना पिछड़ेगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मुद्रास्फीति के बढ़ने की वजह से मध्यम अवधि में बेंचमार्क दरों में कटौती नहीं होगी।

यह रिपोर्ट नीति निर्माताओं, उद्योग विशेषज्ञों, बैंकरों और घरेलू निवेशकों के साथ विचार विमर्श के बाद तैयार की गई है। इसमें कहा गया है कि सरकार का बुनियादी ढांचे मसलन सड़क, रेलवे, शहरी परिवहन नेटवर्क और बंदरगाहों पर निवेश उल्लेखनीय रूप से बढ़ेगा। विशेषरूप से चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में।

हालांकि, रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले 15 से 18 माह के दौरान जो नीतिगत पहल हुई हैं उनके नतीजे 2018-19 की दूसरी छमाही से दिखेंगे।
प्रतिक्रियाएँ:

एक टिप्पणी भेजें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget