खेल और शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए तालीम बेदारी जरूरी- वज़ीर अंसारी

खेल और शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए तालीम बेदारी जरूरी- वज़ीर अंसारी

दिलदारनगर-ग़ाज़ीपुर।।मौजा उसिया में कमसारोवार क्षेत्र में खेल को बढ़ावा देने के मकसद से छत्तीसगढ़ से आये डीजी एम. डब्लू वज़ीर अंसारी द्वारा अली अहमद खान के 'अहाता' में रविवार के दिन अल्लामा इक़बाल, मौलाना आज़ाद और टीपू सुल्तान की याद मे 'एडुकेशनल डे' के रूप में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान वज़ीर अंसारी ने कहा कि आज हमारा समाज पढाई और खेल से काफ़ी दूर है जो बहुत ही अफ़सोस की बात है, ये प्रोग्राम कराने का अस्ल मक़सद अपने क्षेत्र में खेल एवं शिक्षा को बढ़ावा देना है। बतौर मेहमान खुशुशी जनाब कारी मुफ्ती इनाम काश्मी ने कहा कि तालीम मे डुबकी लगाने के बजाए आप एक अच्छे और सच्चे मन से किताबो मे डूब जाए तो बेहतर होगा, जिससे आपकी क़ामयाबी की रास्ते खुद-ब-खुद खुलती नज़र आएगी। एम.एच. इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल ख़ालिद अमीर ने कमसारोवार क्षेत्र के मौजा गोड़सरा गाँव के रहने वाले महान हॉकी खिलाड़ी शहीद बदरुद्दीन खान की शहादत का मिसाल देते हुए खेल के साथ-साथ बच्चो को पढ़ाई पर जोर देने की बात कही। इस प्रोग्राम की सबसे अहम बात ये रही कि छत्तीसगढ़ के रायपुर नेशनल किक बॉक्सिंग चैंपियनशिप - 2017 मे ग़ाज़ीपुर और आजमगढ़ जिले के किक बॉक्सिंग खिलाड़ीयो ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया था जिसमे खिलाड़ियो को बेनज़ीर अंसार एडुकेशनल स्पोर्ट्स सोसाइटी द्वारा डीजी वजीर अंसारी उसियावी के हाथो प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस प्रोग्राम मे शिरक़त करने वाले पूर्व प्रधान उसिया जमालुद्दीन खान, 'बी०एस०एफ़' कमांडेंट रिटायर्ड हाजी रफ़ीक खान, दिलदारनगर सोशल वेलफेयर ट्रस्ट के क्यूरेटर वसीम रज़ा और बदरुद्दीन मेमोरियल स्पोर्ट्स क्लब गोड़सरा के मैनेजर मो० शहाबुद्दीन उर्फ शहाब खान गोडसरावी, दिलदारनगर स्थित वसीम बॉक्सिंग सेंटर के क्यूरेटर वसीम बॉक्सर और नेशनल किक बॉक्सर अब्दुल सलाम, क़ादिर, शौकत, ऐनुद्दीन, अभिषेक, इन्द्रासन, अकबर इतियादी मौजूद रहे।

लेबल:
प्रतिक्रियाएँ:

एक टिप्पणी भेजें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget