प्रतिभा पर्व में कम ग्रेडिंग आने पर दर्जनों प्राचार्यो पर - कलेक्टर की कड़ी कार्यवाही

सिंगरौली ब्यूरो।। शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने हेतु एवं कक्षा 9 से 12 वी तक की प्रतिभा पर्व की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में कलेक्टर अनुराग चौधरी के अध्यक्षता आयोजित हुई।
कलेक्टर के द्वारा सर्व प्रथम कम ग्रेडिंग आने वाले विद्यालयों की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान यह तथ्य सामने आया कि सभी व्यवस्थाएं होने के बावजूद भी प्राचार्यो की लापवाही के फलस्वरूप विद्यालयों के परिक्षा फल की ग्रेडिंग कम आयी है, जिस पर कलेक्टर द्वारा असांतोष जाहिर करते हुए ऐसे प्राचार्यो को टाफी खिलाकर उनका उनके स्कूल की समीक्षा की गयी, और कहां गया कि कौन सी व्यवस्था अपनाई जाय कि आप के विद्यालय का परिक्षा फल सही आ सके। मुझे हर हाल में शिक्षा के गुणवत्ता में सुधार लाना है, वही अनुपस्थित प्राचार्यो बीआरसी, का एक दिवस का वेतन काटने का निर्देश दिया गया।

इन प्राचार्यो पर हुई कार्यवाही

कम ग्रेडिंग लाने वाले जयंत प्राचार्य का पाच दिन का वेतन काटने, चितरंगी उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य का एक दिवस खरकटटा् प्राचार्य का एक दिवस खनुआ प्राचार्य का एक दिवस, कर्दा के प्राचार्य का एक दिवस बरगवां प्राचार्य सरई प्राचार्य, का एक एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया गया।

देवसर उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य नही बता सके भूगोल के प्रश्नों का उत्तर

कलेक्टर के द्वारा बैठक के दौरान उत्कृष्ट प्राचार्य देवसर से पूछा गया कि आप किस विषय के लेक्चरर है उनके द्वारा बताया गया कि मैं भू गोल पढ़ता हू कलेक्टर ने उनसे भूगोल का प्रश्प पूछे जिसका उत्तर वह नही बता सके वही आन्ध्रप्रदेश कि राजधानी भी नही बता सके जिसपर उनका पॉच दिवस का वेतन काटने एवं 20 से 50 वर्ष की सेवा पूर्ण करने पर सेवानिवृत्ति की कार्यवाही करने का निर्देश दिया गया। तथा यह भी निर्देश दिया गया कि अन्य उत्कृष्ट विद्यालायों का भी यदि सी या डी ग्रेड है उनके भी प्राचार्यो पर कड़ी कार्यवही की जाय।

कम ग्रेडिंग आने वाले विद्यालयों के प्राचार्यो को बदले

कलेक्टर के द्वारा कम ग्रेडिंग आने वाले विद्यालयों के प्राचार्यो को दूसरे विद्यालयों में बदलने हेतु प्रस्ताव तैयार किए जाने का निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिया गया। 

पीएन सिंह बने प्राचार्य विन्ध्यनगर

समीक्षा बैठक के दौरान कलेक्टर के समक्ष इस आशय का जानकारी आयी की विनध्य नगर विद्यालय की भी ग्रेडिंग बहुत ही खराब है जबकि वहा पर्याप्त शिक्षक है सूचना के बाबजूद भी वहा कि प्राचार्य जिला स्तर के बैठक में दो वार अनुपस्थित रही और आज भी नही आयी है, तथा स्टाफ पर उनका नियंत्रण सही नही होने के कारण शिक्षा के गुणवत्ता में सुधार नही हो रहा है, कलेक्टर के द्वारा मौके पर ही विन्ध्यनगर प्राचार्य का एक सप्ताह का वेतन काटने एवं निलम्बन का प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश देते हुए पीएन सिंह एडीपीसी कों आज ही विन्ध्यनगर प्राचार्य का अतिरिक्त प्रभार दिए जाने का निर्देश दिया गया, साथ ही यह भी निर्देश दिया गया कि जिन विद्यालयों का ग्रेड डी एवं ई है, ऐसे संकुल प्राचार्य अपने प्रधाना अध्यपको की बैठक आयोजित कर शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने का निर्देश दे।

जिला अधिकारी की ग्रिहाणीया पढ़ने के इच्छुक हो तो उन्हे आमंत्रित करे

कलेक्टर के द्वारा जिलें में शिक्षकों के आभाव को मद्देनजर रखते हुए यह पहल किया गया कि जिला के अधिकारीय या कम्पनियों के अधिकारियों की ग्रहाणिया जो अंग्रेजी गणित, विज्ञान समूह पढ़ाने की इच्छुक हो उनके पसंद के अनुसार विद्यालयों में एक दो घण्टे का समय उनसे दिये जाने हेतु आमंत्रित किया जाय।

बैठक में इनकी रही उपस्थिति

विधायक रामलल्लू वैष्य, जिला पंचायत के अध्यक्ष  अजय पाठक, ब्लाक अन्त्योदय समिति के अध्यक्ष लालजी साह, जिला शिक्षा अधिकारी आ.पी पाण्डेय, डीपीसी एसपी त्रिपाठी, सहायक यंत्री विनोद साह, एपीसी महेन्द्र मौर्या संजय श्रीवास्तव, सीएल सिंह, सभी विकास खण्डों के बीआरसी, एवं उपयंत्री उपस्थित रहे।

Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget