विद्युत मजदूर संगठन एवं संविदा मजदूर संगठन, उ0प्र0 का पूर्वान्चल विद्युत वितरण निगम मुख्यालय, भिखारीपुर, वाराणसी पर धरना-प्रदर्शन :- प्रदेश अध्यक्ष आर0 एस0 राय


प्राप्त सूचना के अनुसार सांय काल तक निगम प्रबन्धन द्वारा आंदोलन की अनदेखी करने के कारण कर्मचारी निगम कार्यालय के समक्ष जमे हुये हैं।
अजीत नारायण सिंह ।। विद्युत मजदूर संगठन एवं संविदा मजदूर संगठन, उ0प्र0 के आवह्न पर आज बिजली कर्मचारियों एवं संविदा कर्मियों ने पूर्वान्चल विद्युत निगम मुख्यालय, भिखारीपुर, वाराणसी पर धरना-प्रदर्शन करके रैली निकाली। संगठन के पूर्वान्चल निगम अध्यक्ष, इन्दे्रश राय की अध्यक्षता में हुर्इ सभा को संविदा संगठन के प्रदेश अध्यक्ष आर0 एस0 राय के अतिरिक्त उदय प्रताप सिंह, प्रवीण सिंह, वेद प्रकाश राय, राज कुमार यादव, राहुल कुमार, राम ललित चौधरी, परशुराम ठाकुर, अजय ‘वाही, प्रमोद पाण्डेय, सत्येन्द्र यादव, विनोद श्रीवास्तव, मनोज कुमार पाल, अमित त्रिपाठी, भोला सिंह कुशवाहा, विजय नारायण, नागेन्द्र यादव, छोटेलाल, कृष्ण मुरारी मौर्या आदि प्रमुख पदाधिकारियों ने सम्बोधित किया। 

प्रबन्ध निदेशक कार्यालय के समक्ष पूरे दिन चली सभा में कर्मचारियों ने अपनी मॉंगों के सम्बन्ध में तथा भ्रष्टाचार के विरोध में बार-बार जोरदार नारे लगाये। संगठनों द्वारा प्रेषित 19 सूत्रीय ज्ञापन के माध्यम से प्रमुख रूप में टी0जी0-2 को पूर्व की भॉंति वरिष्ठता से अवर अभियन्ता के पद पर पदोन्नति और कार्यालय सहायक एवं टी0जी0-2 को रू.4200 के ग्रेड-पे तथा चतुर्थ श्रेणी को रू.2600 के ग्रेड-पे की मॉंग की गयी है। इसके अतिरिक्त संविदा श्रमिकों को रू.18000 और संविदा लाइनमैन एवं एस0एस0ओ0 को रू.21000 वेतन की मॉग की गयी है। संगठन द्वारा कार्यालयों में संविदा पर नियुक्त कम्प्यूटर आपरेटर को रू.25000 न्यूनतम वेतन और हर कार्यालय में पद सृजित करके नियमित नियुक्ति की बात उठायी गयी है।

सभा को सम्बोधित करते हुये आज के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आर.0एस0 राय ने उर्जा मंत्री मा0 श्रीकांत शर्मा द्वारा गत 09 मर्इ 2017 को लखनऊ के गॉंधी सभागार में राणा प्रताप दिवस पर की गयी घोषणा के बावजूद संविदा कर्मियों को बिचौलिया हटाकर सीधे विभाग द्वारा वेतन भुगतान का आदेश जारी न किये जाने की आलोचना करते हुये उर्जा मंत्री से घोषणा का पालन कराने की अपील की। श्री राय ने मीडिया कर्मियों के सामने सभा में मौजूद संविदा कर्मियों से उनके खाते में जमा की गयी र्इ0पी0एफ0 धनराशि के बारे में हाथ उठाकर जानकारी मांगी, जिसपर इने-गिने संविदा कर्मियों को छोड़कर अधिकांश ने र्इ0पी0एफ0 न जमा किये जाने की बात बतायी। श्री राय ने कहा कि दु:ख की बात है कि 90 प्रतिशत संविदा कर्मियों का र्इ0पी0एफ0 जमा नहीं किया जा रहा है और उक्त धनराशि का गबन इन्जीनियरों की मदद से ठेकेदारों द्वारा खुले आम किया जा रहा है। उन्होंने हर संविदा कर्मचारी को र्इ0पी0एफ0 जमा की पास बुक दिये जाने की मांग को जोर-शोर से उठाते हुये कहा कि जब तक निगम के अन्तर्गत हर जिले में संविदा कर्मियों को र्इ0पी0एफ0 की पासबुक नहीं दी जाती है, निरन्तर आंदोलन जारी रहेगा। श्री राय ने संविदा कर्मियों की सेवा नियमावली बनाने की मांग करते हुये विभाग में रिक्त 70 हजार पदों पर तीन वर्षो या उससे अधिक से कार्यरत संविदा को नियमित पदों पर समायोजित किये जाने की मांग की।

श्री राय ने अपने सम्बोधन में पावर कारपोरेशन द्वारा कर्मचारियों को मिली हुयी सुविधाओं में कटौती का आरोप लगाते हुये परिचालीकीय कर्मचारियों की टी0जी0-2 पद पर 33.33 प्रतिशत पदोन्नति कोटा को घटाकर 10 प्रतिशत किये जाने सम्बन्धी एक सप्ताह पूर्व किये गये आदेश को मजदूर विरोधी और तानाशाही बताया और इस हिटलरी आदेश को तत्काल वापस लिए जाने की मांग की। उन्होंने संगठन द्वारा टी0जी0-2 से अवर अभियन्ता पद पर पदोन्नति सम्बन्धी उच्च न्यायालय में दायर याचिका के सन्दर्भ में बातचीत करके समाधान निकालने हेतु पावर कारपोरेशन से अपील करते हुये पूर्व की भांति वरिष्ठता से ही पदोन्नति किये जाने की मांग की।

अतुल निगम, प्रबन्ध निदेशक, पू0वि0वि0नि0लि0 द्वारा आज मुख्यालय से अनुपस्थित रहने के मामले को उठाते हुये श्री राय ने कहा कि लगभग दो सप्ताह पूर्व दी गयी नोटिस का संज्ञान लेते हुये प्रबन्ध निदेशक को आज मुख्यालय पर उपस्थित होना चाहिए था, अन्यथा संगठन को सूचित करना चाहिए था। परन्तु उन्होंने तानाशाही रवैया अपनाया और आंदोलन की उपेक्षा की, जो अत्यन्त ही निदंनीय है। श्री राय के सम्बोधन के बीच में ही कर्मचारियों ने जोर-शोर से आवाज लगाते हुये कहा कि जब-तक प्रबन्ध निदेशक आ नहीं जाते, कर्मचारी मुख्यालय छोड़कर अपने जिलों को वापस नहीं जायेंगे। 


Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget