खुद को कृष्ण बताने वाला ढोंगी पुजारी, रोज करता था 10 लड़कियों से मुंह काला

रोजाना 10 लड़कियों से करता था रेप और लक्ष्य रखा था सोलह हज़ार


ऋषि मुनि के देश भारत में अब सिद्ध महात्मा तो बड़ी दुर्लभता से दिखते हैं, लेकिन उनकी वेशभूषा में आजकल बलात्कारी बाबाओं कि भरमार जरूर दिखाई दे रही है। दरअसल चोर-डकैत बनने से ज्यादा फायदा इसी पेशे में है। इसलिए समाज के लफंगों और ढोंगियों ने दाढ़ी बढ़ाकर अब बाबागिरी के पेशे में उतर गए हैं।
नई दिल्ली।। दिल्ली में बाबा राम रहीम के सिरसा आश्रम जैसा ही एक और आश्रम सामने आया है। आरोप है कि यहां बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित का आश्रम है और पर कई लड़कियों व महिलाओं को बंधक बनाकर रखा गया था। उनको माता-पिता से मिलने नहीं दिया जा रहा है। हाईकोर्ट ने इस पर कड़ा रुख अपनाते हुए दिल्ली महिला आयोग व पुलिस को इस आश्रम का फौरन निरीक्षण करने का निर्देश दिया। और फिर जो खुलासा हुआ उस्सने सबको चौका दिया। ये खुलासा तो आसाराम बापू के कारनामे से भी आगे जा निकला।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रोहिणी के विजय विहार एरिया में स्पिरिचुअल यूनिवर्सिटी के नाम से अवैध धंधा चलाने वाला वीरेंद्र देव दीक्षित खुद को कृष्ण बताता था. वह इतना रंग मिजाजी था कि हमेशा महिला शिष्यों के बीच ही रहना पसंद करता था। यहीं नहीं हवस के पुजारी बाबा वीरेंद्र 16 हजार महिलाओं के साथ संबंध बनाने का टारगेट रखा था। हाईकोर्ट के निर्देश पर मंगलवार देर रात आश्रम की जांच करने पहुंची महिला आयोग और दिल्ली पुलिस की टीम को मिले वीडियो में यह बात सामने आई. इसके बाद हाईकोर्ट ने कहा कि इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए।

ब्रेनवॉश कर महिलाओं को दी जाती थी नशीली दवा

टीम को मिले वीडियो में सामने आया है इस वीडियो में वीरेंद्र खुद को कृष्ण बताता है और गोपियों के रूप में लड़कियों को संबंध बनाने के लिए राजी करता था. आश्रम में लड़कियों को पांच दिन तक एक कमरे में बंद रखा जाता था. इसके बाद बाबा का वीडियो दिखाकर उनका ब्रेनवॉश किया जाता था. दिल्ली वुमन कमीशन की प्रेसिडेंट स्वाति जय हिंद ने बताया कि महिलाओं को नशीली दवाएं दी जाती थीं। ताकी वह शारीरिक संबंध बनाने के लिए उत्तेजीत हो जाए।

रोजाना 10 लड़कियों से करता था रेप और लक्ष्य रखा था सोलह हज़ार

आश्रम की पांचवीं मंजिल पर टीन शेड है। यहां बगैर परमिशन के कोई नहीं जा सकता। यहां ध्यान केंद्र से हर जगह पर नजर रखी जाती है. महिलाओं के सोने की जगह पर भी। दिल्ली वुमन कमीशन की प्रेसिडेंट स्वाति जयहिंद ने बताया कि यह आश्रम नहीं, छावनी है। हर कदम पर मेटल गेट है, जिन पर ताले लगे रहते हैं. हाईकोर्ट में पिटीशन लगाने वाली सीमा शर्मा ने आरोप लगाया कि बाबा नशा करके रोज 10 लड़कियों के साथ दुष्कर्म करता था।

पहले से ही आश्रम के खिलाफ 11 एफआईआर दर्ज है

जिन 3 लड़कियों के माता-पिता कोर्ट आए हैं, उनको मुक्त करवाकर कोर्ट में पेश किया जाए। इसके लिए दिल्ली पुलिस के स्थायी अधिवक्ता राहुल मेहरा पुलिस के साथ तालमेल करें। कोर्ट ने आश्रम के संचालक वीरेंद्र देव दीक्षित को निरीक्षण के दौरान पुलिस का सहयोग करने का निर्देश दिया। कोर्ट ने यह निर्देश एनजीओ ‘फाउंडेशन फॉर सोशल एम्पावरमेंट’ की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया है। याचिका में कहा कि इस आश्रम में कई नाबालिग लड़कियों व महिलाओं को जबरन बंधक रखा हुआ है। इनमें कई लड़कियां 14 साल से आश्रम में कैद हैं। इस आश्रम के खिलाफ 11 एफआईआर दर्ज हैं, जिनमें से सात दुष्कर्म की है। इसके बाद भी स्थानीय पुलिस कोई कानूनी कार्रवाई नहीं कर रही है। कोर्ट के समक्ष तेलंगाना से आए एक दंपति ने कहा कि उनकी बेटी अमेरिका में प्रोफेसर थी।

राजस्थान की एक महिला ने किया खुलासा

राजस्थान की एक महिला वीरेंद्र देव के आश्रम में अनुयायी बनकर रह चुकी थी। उसने अपनी चारों बेटियों को भक्ति के लिए छोड़ा था, जिसमें एक नाबालिग है. नाबालिग बच्ची ने मां को बताया कि बाबा ने उसके साथ रेप किया। इस पर महिला और उसके पति ने बाबा पर रेप का केस दर्ज कराया। बाद में पूरा मामला सामने आ गया. बाबा पर रेप समेत कई धाराओं में 11 मामले दर्ज हैं। पुलिस इन सभी की जांच कर रही है। इसमें विक्टिम्स ने कृष्ण अवतार का ढकोसला समेत सारी बातें बताई हैं।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget