उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव- भाजपा के लहर में दिग्गजों के गढ़ में हार

उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव


लखनऊ।।उत्तर प्रदेश के 16 नगर निगमों में 14 पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के मेयर उम्मीदवारों की जीत हुई है, जबकि दो पर बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवारों की जीत हुई है। इनके अलावा अधिकांश नगर पालिका अध्यक्ष, नगर पंचायत अध्यक्ष और वार्डों में भी बीजेपी उम्मीदवारों की बंपर जीत हुई है। इस जीत से बीजेपी गदगद है लेकिन इस चुनाव में कुछ वार्ड या नगर पंचायत के इलाके ऐसे रहे हैं जो बीजेपी का गढ़ होते हुए भी वहां पार्टी को हार का सामना करना पड़ा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गढ़ कहे जाने वाले गोरखपुर के वार्ड नंबर 68 में भी कुछ ऐसा ही हुआ है। यहां से बीजेपी उम्मीदवार माया त्रिपाठी को हार का सामना करना पड़ा है। निर्दलीय प्रत्याशी नादिरा खातून ने वहां जीत दर्ज की है।

ज्ञात हो कि इसी वार्ड में गोरखनाथ मंदिर आता है, जहां के अध्यक्ष और मुख्य पुजारी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं। नादिरा ने जीत के बाद कहा कि लोगों ने उनके विकास के एजेंडे को वोट दिया है। उन्होंने कहा कि जरूरी हुआ तो वो इलाके के विकास के लिए योगी आदित्यनाथ से भी मिलेंगी।

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इलाके में भी कुछ ऐसा ही हुआ है। उनके गृहनगर कौशांबी में भी बीजेपी की करारी हार हुई है। कौशाम्बी के सभी छह नगर पंचायतों में बीजेपी की हार हुई है।वहां बीजेपी का एक भी चेयरमैन नहीं जीत सका है।सिराथू नगर पंचायत क्षेत्र केशव का गृहनगर है। यहां के नगर पंचायत चेयरमैन पद पर निर्दलीय उम्मीदवार राजेन्द्र यादव उर्फ भोला यादव ने जीत दर्ज की है। यादव ने बीजेपी प्रत्याशी प्रशांत केसरी को 1680 मतों से शिकस्त दिया है।


Labels:
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget