बढते अपराध ही नही थानों की बिक्री भी बन सकती है, तेज तर्रार व अत्यंत कर्तब्य निष्ठ डीजीपी ओ. पी . सिंह के सामने चुनोती ।


दीप शंकर मिश्र"दीप"विशेष संवाददाता
लखनऊ।। उत्तर प्रदेश को भले ही एक तेज तर्रार व अत्यंत कर्तव्यनिष्ठ छबि के डीजीपी के रुप मे2019 बैच के ओ .पी .सिंह मिल गये हों । 
जो पूर्व में आजम गढ़ मुरादाबाद,मेरठ,बुलन्दशहर,इलाहाबाद, लखनऊ व नैपाल से सटे जनपद लखीमपुर में अपनी व्यवहारिकता तेजतर्रार छवि का प्रदर्शन कर चुके है। नव नियुक्त डीजीपी ओपी सिंह ने अपनी पहुँच अपनी योग्यता के कारण ही -प्रदेश के प्रथम ईमानदार सन्याशी मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ व गृह मंत्री राजनाथ सिंह की पहली पसंद पसन्द बने है ।यह बात अलग है कि-कुछ लोग इस पसन्द को जातिवाद का हवाला भी दे रहे है। जो भी हों प्रदेश में पुलिस बिभाग की कुर्सी संभालने से पहले निर्भक व निडर छबि के नायक ओ पी सिंह ने प्रदेश की जनता, पुलिस बिभाग व सरकार के साथ अपने कुर्सी की मंगल कामना के लिये सबका मंगल करने वाले अमर राम भक्त हनुमान जी के मंगल दिन को ही डीजीपी की कुर्सी पर बैठने के लिये चुना इससे यह प्रतीत होता है कि-नये डीजीपी के रूप में अपने कार्यकाल में ओ.पी . सिंह प्रदेश में बढ़ते अपराधी व थानों की बिक्री को समाप्त करने के लिये एक नया इतिहास बनायेगें।शायद इसी विश्वास के साथ ही ओ पी सिंह को ईमानदार सन्याशी मुख्यमंत्री व ग्रह मन्त्री भारत सरकार ने डीजीपी की दौड़ में शामिल और भी योग्य वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों को निराश कर ओ. पी. सिंह को प्रदेश में पुलिस विभाग का मुखिया बनाया है । इस दिशा में तेजतर्रार छबि के नायक ओ. पी. सिंह का पहला कदम क्या होगा यह अभी समय के गर्भ में ।
वैसे बढ़ते अपराध की समाप्ति व थानों में ब्याप्त भ्र्ष्टाचार को नव नियुक्त डीजीपी द्वारा समाप्त किया जायेगा , इसके लिये प्रदेश की जनता ओ. पी. सिंह की तरफ बड़ी आशा भरी नज़रों में देख रही है ।

डीजीपी बनने से पूर्व ईमादार सन्याशी मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ से वार्ता करते हुये ओ.पी. सिंह


दिल्ली प्रतिनियुक्ति से रिलीव होने पर गृहमन्त्री राजनाथ सिंह से मुलाकात

अपराध व भ्र्ष्टाचार के सफाये में तेज तर्रार व कर्तव्यनिष्ठ डीजीपी ओ पी सिंह को अपने कर्तव्यों के प्रति सफलता मिले उर्जान्चल टाईगर के विशेष संवाददाता दीप शंकर मिश्र"दीप की यही प्रार्थना है कामना है।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget