बिहार-सरगम महिला बैंड,महिला सशक्तिकरण की अनोखी मिसाल

उर्जान्चल टाईगर न्यूज डेस्क।। पटना। महिला सशक्तिकरण की अनोखी मिसाल बिहार कि महादलित महिलाओं ने महिला बैंड बना कर पेश किया है। जिसकी धुन अब बिहार में ही नहीं पूरे देश में गूंजती है,साथ ही इस बात की तस्दीक़ करती है के कोई भी लाचारी कामयाबी के बीच आ ही नहीं सकती।

बिहार की राजधानी पटना से महज़ तीन किलोमीटर की दुरी पर स्थित दानापुर के ढिबरा गाँव की काम पढ़ी लिखी 12 महादलित वर्ग से ताल्लुक रखने वाली महिलाओं ने नारी शशक्तिकरण का बेजोड़ उदाहरण पेश किया है। दैनिक मजदूरी करने वाली इन महिलाओं ने समाजसेवी संस्था नारी गुंजन के सुधा वर्गीज के सहयोग से दो साल पहले बिहार ही नहीं देश की पहली महिला बैंड पार्टी नारी गुंजन सरगम म्यूजिकल बैंड बनाया और महज छह महीने की कड़ी मेहनत से म्युज़िक का हुनर सीख कर अपना हुनर का प्रदर्शन कर लोगों को बीच शुरू किया।

पुरूष प्रधान समाज दलित महिलाओं का विकास आसानी से नहीं पचा पा रहे थे इसलिए शुरू में लोग बैंड की महिलाओं पर तंज कसते थे लेकिन पक्के इरादे और बुलंद हौंसले के सामने ज्यादा दिन टिक नहीं सका और कार्य कुशलता का डंका व आत्मविश्वास की आभा फैलने लगी।

अब सरगम महिला बैंड की महिलाएं अपनी हर परफॉर्मेंस से करीब 1000- 1500 रुपये कमा लेती हैं। बैंड की महिलाएं और मेहनत कर बेहतर करना चाहती है जिससे उनकी आमदनी में इजाफ़ा हो। बैंड की महिलाओं का मानना है के आर्थिक स्थिति सुधरने से हम अपने समाज मे बदलाव ला सकते हैं और बच्चों को शिक्षा देकर उनका भविष्य उज्जवल बना सकते हैं।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget