38 घाटों से बालू उठाव की कवायद हुई तेज

38 घाटों से बालू उठाव की कवायद हुई तेज

जमुई(बिहार)।।सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो होली के बाद से जिले के विभिन्न प्रखंडों में अवस्थित बालू घाटों से भी बालू का उठाव शुरू हो जाएगा। सदर प्रखंड में किऊल नदी के 20 बालू घाटों की बंदोबस्ती से उत्साहित विभाग ने डीएम के माध्यम से जिले के चकाई, सोनो, झाझा, बरहट, खैरा एवं गिद्धौर अंचल के बालू घाटों की बंदोबस्ती का प्रस्ताव खान एवं भूतत्व विभाग के प्रधान सचिव को प्रेषित किया है। समाहर्ता द्वारा प्रेषित पत्र के मुताबिक जमुई जिला अंतर्गत 9 राजस्व ग्रामों के अधीन 38 बालू घाटों की बंदोबस्ती होनी है। इसके तहत जमुई अंचल अंतर्गत नवीनगर मौजा के अंतर्गत 10, खैरमा मौजा के तीन, बिहारी के तीन तथा दौलतपुर मौजा के चार बालू घाटों की बंदोबस्ती होगी। इसके अलावा खैरा प्रखंड के केंडीह मौजा में तीन, बरहट अंचल के डाढ़ा एवं भरारी के तीन, झाझा अंचल के सैर एवं पांडेडीह के तीन बालू घाटों की बंदोबस्ती की जाएगी। इसी प्रकार सोनो अंचल के बलथर मौजा में बरनार नदी के तीन बालू घाट तथा चकाई अंचल के बाबूडीह मौजा में तीन एवं गिद्धौर अंचल अंतर्गत उलाय नदी में घनश्याम थान के तीन बालू घाटों से बालू का उठाव सुनिश्चित हो सकेगा। इन घाटों से बालू उठाव प्रारंभ हो जाने के बाद जिले में कुल बंदोबस्त बालू घाटों की संख्या 58 हो जाएगी। उक्त बालू घाटों की बंदोबस्ती के उपरांत भी जिले में तकरीबन 100 बालू घाटों की बंदोबस्ती शेष रह जाएगी। बताते चलें कि जिला अंतर्गत प्रचुर मात्रा में बालू उपलब्ध है। एक अनुमान के मुताबिक लगभग 800 हेक्टेयर में बालू का उठाव के लिए पांच-पांच हेक्टेयर का 160 ब्लॉक बनाया गया है।
Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget