बेटी बचाओ दीप यज्ञ का आयोजन दिल्ली पब्लिक स्कूल निगाही में सम्पन्न हुआ ।

बेटी बचाओ दीप यज्ञ का आयोजन दिल्ली पब्लिक स्कूल निगाही में सम्पन्न हुआ ।


सिंगरौली ।।बेटी बचाओ दिप यज्ञ का आयोजन श्रीमती आशा अरुण यादव द्वारा दिनांक 02/02/2018 दिल्ली पब्लिक स्कूल में आयोजित हुआ। इस अवसर पर विद्यालय की छात्राएं श्रुति सिंह व नियति नेहाल तथा छात्रों में नीरज कुमार सिंह व वेदीश द्विवेदी ने अपने विचार नारी सशक्तिकरण के संदर्भ में रखे। मुख्य वक्ता श्रीमती आशा अरुण यादव जी, भाजपा नेत्री व प्रमंडल सदस्य, जवाहर लाल नेहरू कृषि विद्यालय, जबलपुर, ने अपने उद्बोधन की शुरुआत यह बताते हुए की कि कैसे बच्चियां माँ के गर्भ से ही भयाक्रान्त रहती हैं कि कहीं उन्हें मार न दिया जाए और उसी डर के साये में वह बड़ी हो जाती है। मगर आज इस सदी की सबसे बड़ी जरूरत व चुनौती यह है कि बेटियाँ भयमुक्त होकर अपनी पूरी सामर्थ के साथ जीवन जी सकें। आज नारी हर छेत्र में न सिर्फ आगे बढ़ रही हैं बल्कि नेतृत्व कर रही है , आज कई ऐसे छेत्र हैं जहाँ नारी शक्ति कुछ करके दिखा रही है, एक मील का पत्थर स्थापित कर रही हैं। और इसी लिए समाज में नारी को शक्ति का दर्जा दिया गया है। यह आज से नही पौराणिक काल से हम देखते व सुनते आ रहे हैं। हमें जब भी शक्ति की आवश्यकता हुई तो हमने माँ दुर्गा की आराधना की, जब धन की आवश्यकता हुई तो माह लक्ष्मी की आराधना की, जब विद्या, ज्ञान और मार्ग प्रशस्त करने की ज़रूरत महसूस हुई तो माँ सरस्वती की पूजा आराधना की और अगर राक्षसी प्रवृत्ति का नाश करने हुआ तो माँ काली की आराधना की। जब हम इतनी शक्तिशाली हैं तो हमारे साथ दोहरा व्यवहार क्यों? हम जन्म दात्री हैं, जन्म देने वाली हैं, हम सृष्टि की निर्मात्री हैं, सृष्टि की रचना करने वाली हैं। हम कमज़ोर कहाँ हैं, फिर हमें क्यों मार दिया जाता है। हमारे ही द्वारा यह विचारणीय एवं सोचनीय है क्योंकि हम बेटियों की भ्रूण में ही हत्या कर दी जाती है। क्या हमें जीवन जीने का अधिकार नहीं है। क्यों हमें पृथ्वी पर आने का अधिकार नहीं है। क्यों हमें इस सृष्टि को देखने का अधिकार नहीं है। हम सबको मिलकर इस भेदभाव को समाप्त करना होगा। इस देश के लोगों की सोच को बदलना होगा, खुद को बदलना होगा क्योंकि किसी भी कार्य की शुरुआत कगुड से करनी पड़ती है , तभी तो आप समाज को बदलने में सफल हो पाएंगे और अगर स्वयं को बदलने में कामयाब हो गए तो समाज बदलेगा और अगर समाज बदलेगा तो पूरा देश बदलेगा और इस प्रकार हम इस भारत को विश्वगुरु बनाने में एक मील का पत्थर साबित हो सकते हैं।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे हमारे प्राचार्य डी. पी.एस., निगाही, माननीय श्री सुखवंत सिंह थापर जी ने अपने उद्बोधन में श्रीमती आशा यादव जी की तारीफ करते हुए कहा कि बच्चों एक एक यादगार पल हैं जो आपको श्रीमती यादव जी के विचार सुनने को मिले क्योंकि यह एक ऐसा कार्य कर रही हैं जो एक दिन जन आंदोलन बनकर रहेगा। हमें बेटियों को उच्च शिक्षित करने की ज़रूरत है और तभी हम समाज में व्याप्त कुरीतियों को दूर कर सकते है ।

कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि श्रीमती शर्मिष्ठा गंगोपाध्याय जी, श्री पी.एन. सिंह जी एवं श्री विजयानंद जैस्वाल जी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का सफल संचालन श्री रत्नेश कुमार सिंह जी ने किया एवं आभार प्रदर्शन श्रीमती शर्मिष्ठा गंगोपाध्याय जी के द्वारा हुआ।

कार्यक्रम में भारी संख्या में स्कूल के शिक्षक व बेटे तथा बेटीयाँ उपस्थित रहे ।
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget