जिला आकांक्षा समिति द्वारा रक्तदान शिविर का किया गया आयोजन

जिला आकांक्षा समिति द्वारा रक्तदान शिविर का किया गया आयोजन


रक्तदान-महादान है-श्रीला गोकर्ण
वाराणसी।। जिला आकांक्षा समिति में शुक्रवार को कलेक्ट्रेट स्थित सैनिक कल्याण कार्यालय परिसर में स्वैच्छिक रक्तदान को बढ़ावा देने व समाज में रक्तदान को लेकर व्याप्त भ्रांतियों को दूर करने के उद्देश्य से स्वैच्छिक रक्तदान एवं डोनर पंजीकरण कैंप का आयोजन किया गया। कैंप का उद्घाटन आकांक्षा समिति की अध्यक्ष श्रीमती श्रीला गोकर्ण ने किया।
इस अवसर पर श्रीला गोकर्ण ने रक्तदान को महादान बताते हुए कहां की स्वैच्छिक रक्तदान से प्राप्त रक्त ही सबसे सुरक्षित रक्त होता है। प्रदेश सरकार सभी जरूरतमंदों को उच्च गुणवत्ता का सुरक्षित रक्त ससमय उपलब्ध कराने हेतु पूरी तरह कटिबद्ध है। जिससे रक्त की कमी से किसी भी जीवन को नुकसान न पहुंचने पाए। 
जिला आकांक्षा समिति की उपाध्यक्ष सुधा मिश्रा ने विशेष रुप से जोर देते हुए कहा कि स्वैच्छिक रक्तदान को बढ़ावा देकर एवं अधिकाधिक रक्तदान शिविरों का आयोजन कर रक्तकोषों में रक्त की प्रचुर मात्रा सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा जिला आकांक्षा समिति के सहयोग से स्वैच्छिक रक्तदान को बढ़ावा देने व भावी स्वैच्छिक रक्तदाताओं के पंजीकरण के क्रम में प्रदेश स्तर पर 7 से 9 फरवरी तक अभियान के रूप में स्वैच्छिक रक्तदान प्रचार-प्रसार गतिविधि के साथ स्वैच्छिक रक्तदान शिविर तथा भावी रक्तदाता पंजीकरण का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आकांक्षा समिति द्वारा प्रत्येक जनपद में रक्तदान को लेकर लोगों को जागरुक करने का अभियान चलाया जा रहा है तथा लोगों को अधिक से अधिक संख्या में स्वैच्छिक रूप से रक्तदान करने हेतु प्रेरित भी किया जा रहा है। सैनिक कल्याण कार्यालय परिसर में आयोजित आज रक्तदान शिविर के दौरान 45 यूनिट लोगों ने रक्तदान किया तथा लगभग 25 लोगों ने आगामी शिविर के आयोजन पर रक्तदान किए जाने हेतु भी अपना पंजीयन कराया। रक्तदान करने वाले स्वैच्छिक रक्तदाताओं को जिला आकांक्षा समिति की तरफ से अध्यक्ष श्रीला गोकर्ण ने प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया तथा इस अमूल्य सहयोग हेतु उनको धन्यवाद भी दिया।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget