मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना में अबतक कछुए की चाल पंचायत में जन प्रतिनिधियों में समन्वय का अभाव

मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना में अबतक कछुए की चाल पंचायत में जन प्रतिनिधियों में समन्वय का अभाव


मधुबनी(बिहार)।जिले के अंधराठाढ़ी प्रखंड में मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के क्रियान्वयन कछुए गति से चलरहा है। 18 पंचायतो में अबतक 126 वार्डो में काम काम चालू हो जाना चाहिए था। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताविक अब तक मात्र 24 वार्डो के वार्ड विकास समिति के खातों में सात निश्च्य योजना की राशि विमुक्त की गयी है। 

ग्राम पंचायत मरुकिया में सात शिवा में पांच मैलाम में चार अंधराठाढ़ी दक्षिण देवहार में तीन तीन और गनौली में दो वार्ड बिकास समिति के खाते में राशि हस्तांतरित की गयी है। जवकि ग्राम पंचायत जलसेन, मदना, डुमरा, अंधरा, ननौर, कर्णपुर, महरैल, गंगद्वार, हरना, रखवारी, अंधराठाढ़ी उत्तर में एक भी रुपये किसी वार्ड क्रियान्वयन समिति के खाते पर राशि नही भेजा गया है। यह भी उल्लेखनीय है कि ग्राम पंचायत मरुकिया में पूर्व के वित्तीय वर्ष से ही सात निश्चय योजना का क्रियान्वयन वार्ड विकास समिति से हो रहा है।प्रखंड वार्ड सदस्य संघ के अध्यक्ष मो.आलम ने आरोप लगाया है कि 30 से 40 फीसदी कमीशन को लेकर मुखिया और वार्ड सदस्य के बीच खिंचा तानी चल रहा है। तो कही मुखिया द्वारा यह दबाव बनाया जा रहा है कि निर्धारित हार्डवेयर की दुकान से ही मेटेरियल खरीदी जाय। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मुखिया अपने समर्थकों रिश्तेदारों को वार्ड विकास समिति के सचिव बनाने के लिए दबाव बनाए हुए है।

इस आलोक में बीडीओ आलोक कुमार शर्मा ने बताया कि मामले में दोषी पाए जाने वाले को बक्सा नहीं जायेगा। उपविकास आयुक्त मधुबनी धर्मेंद्र कुमार ने मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के निर्धारित लक्ष्य के सम्बंध में पूछने पर बताया कि हर हाल में लक्ष्य के अनुरूप सात निश्चय योजना के क्रियान्वयन कराना अनिवार्य है। लक्ष्य पूर्ण नही कराने बाले संबंधित अधिकारी बक्से नही जायेगे।
Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget