प्रशासन की लापरवाही से बालू माफियाओं की कट रही चांदी

प्रशासन की लापरवाही से बालू माफियाओं की कट रही चांदी

पूर्णिया(बिहार)।। जिले के धमदाहा प्रखंड क्षेत्र में इन दिनों खुले आम दिन के उजाले में बालू माफियाओं द्वारा अवैध बालू खनन का कारोबार फलफूल रहा है। माफिया अवैध तरीके से जहां कोसी नदी के बालू का खनन कर रहे है वहीं अत्यधिक मात्रा में बालू को बेचने का कारोबार धड़ल्ले से कर रहे है। माफियाओं द्वारा सैकड़ों टेलर बालू की बिक्री प्रतिदिन हो रही है।धमदाहा के विभिन्न कोसी नदी बरैना कोशी, दुर्गापुर बलुटोल, कुआंरी कोशी, सतमि जमाल धार और हथिया दियारा के खैराघाट जगहों से प्रतिदिन सैकड़ों टेलर बालू का खनन कर माफियाओं द्वारा बेचा जा रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रखंड के इन सभी कोसी घाटों से प्रतिदिन सैकड़ों टेलर बालू को बेचने का गोरखधंधा धड़ल्ले से किया जा रहा है।कोशी के बालू का उपयोग ठेकेदारों द्वारा निर्माणधीन सड़क के कार्यों में ज्यादातर बालू खपाई जाती है तो कुछ लोगों के गांव देहात के घर आंगन में बालू की सप्लाई दी जाती है। सूत्रों के मुताबिक एक टेलर बालू की कीमत चार सौ रुपए से पांच सौ रुपए तक ली जाती है। बालू माफियाओं का अपना अपना दावा है कि वो खुद की जमीन से बालू का खनन कर रहे है। जबकि कोशी नदी एवम कोशी धार से बालू का खनन किया जा रहा है। हालांकि इस सम्बन्ध में अंचल अधिकारी को अलग अलग जगहों से शिकायते भी की गई परन्तु स्थानीय अधिकारियों द्वारा इस दिशा में अबतक कोई आवश्यक कदम नहीं उठाई गई है।ज्ञात हो कि बीते सप्ताह में रंगपुरा लिबरी कोशी में हो रहे बालू के अवैध खनन के बारे में विभिन्न समाचार पत्रों में खबर प्रकाशित हुए पांच दिन हो गए बावजूद इसके अब तक कोई भी कार्रवाई तो दूर उक्त जगह पर अब तक मापी की प्रक्रिया भी नहीं हो पाई है।अधिकारियों के इस रवैये से स्थानीय जनता में काफी आक्रोश व्याप्त है। बताते चले कि कोशी नदी से अवैध तरीके से बालू खनन किये जाने से जहां कोशी की धारा के प्रभावित होने के आसार सौ फीसदी बढ़ जाएगी वहीं बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बाढ़ के समय व्यापक पैमाने पर आने वाली आपदा के खतरे भी बढ़ जायेंगे। समय रहते अगर अधिकारियों एवम विभाग द्वारा आवश्यक कदम नहीं उठाए गए तो निश्चित रूप से बाढ़ के समय इन क्षेत्रों को भयानक तबाही से दो चार होना पड़ सकता है। यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि पिछले दिनों लीबरी कोशी से पर्याप्त मात्रा में बालू खनन की बात स्वयं अंचल अधिकारी ने भी स्वीकार की थी तथा जल्द ही मापी करने के बाद कार्यवाही करने की बात कही गई थी। वावजूद इसके पांच दिन बीत जाने के बाद भी उक्त स्थल की मापी तक का कार्य नहीं हो पाया है। कार्यवाही की बात तो कोसों दूर है।अधिकारियों की इसी लापरवाही का परिणाम है कि प्रखंड के विभिन्न कोशी नदी से प्रतिदिन सैकड़ों टेलर बालू का खनन धड़ल्ले से किया जा रहा है। इस सम्बन्ध में अंचल अधिकारी अमर कुमार राय ने रटा रटाया राग अलाप हुए कहा कि स्थल निरीक्षण कर आगे की कार्यवाही की जाएगी तो वहीं अनुमंडल पदाधिकारी पवन कुमार मण्डल ने बालू माफियाओं पर नकेल कसने की बात कही और कहा अवैध बालू खननकर्ता पर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।
Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget