विद्युत कर्मचारी संयुक्त सर्घश समिति का उ.प्र.सरकार के निजीकरण करने के निर्णय के विरोध में।

विद्युत कर्मचारी संयुक्त सर्घश समिति का उ.प्र.सरकार के निजीकरण करने के निर्णय के विरोध में।

अजीत नारायण सिंह ब्यूरो वाराणसी।। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संर्घश समिति ने उ0प्र0 सरकार के कैबिनेट द्वारा पांच महानगरों वाराणसी, गोरखपुर, लखनऊ, मेरठ एवं मुरादाबाद की बिजली व्यवस्था निजी घरानो को सौपने के निर्णय को सुनकर सैकड़ो कर्मचारियों एवं अधिकारियों ने प्रबन्ध निदेशक कार्यालय पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम ली0 (डिस्काम) मुख्यालय पर जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया। समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने पूरे परिसर में स्थित मुख्य अभियन्ता (वितरण) वाराणसी, प्रेषण कार्यालय एवं अन्य कार्यालयों के यहॉं जुलूस के रूप में चक्रमण किया और सरकार के निजीकरण करने के निर्णय के विरोध में नारे लगाये। इं0 सुनील यादव, क्षेत्रीय सचिव (वाराणसी क्षेत्र) उ0प्र0 राज्य विद्युत परिषद अभियन्ता संघ, ने बताया कि विद्युत कर्मचारी संयुक्त सर्घश समिति लखनऊ के आपात बैठक में यह निर्णय लिया गया कि दिनांक- 27 मार्च 2018 को कार्य बहिस्कार किया जायेगा तथा दिनांक- 19 मार्च 2018 से प्रतिदिन प्रत्येक जिले के जनपद मुख्यालय पर अपरान्ह 03 बजे से सांय काल 05 बजे के बीच विरोध प्रदर्शन होगा। वाराणसी में प्रबन्ध निदेशक कार्यालय डिस्काम मुख्यालय पर अपरान्ह 03 बजे से सांय काल 05 बजे के बीच विरोध प्रदर्शन किया जायेगा।

आज दिनांक 17 मार्च 2018 को प्रबन्ध निदेशक कार्यालय के समक्ष इं0 सुनील यादव, क्षेत्रीय सचिव (वाराणसी क्षेत्र) उ0प्र0 राज्य विद्युत परिशद अभियन्ता संघ की अध्यक्षता में हुए विरोध सभा में सभी वक्ताओं ने सरकार के निजीकरण के फैसले का निन्दा किया। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संर्घश समिति ने मा0 मुख्यमंत्री जी उ0प्र0 शासन से इस निर्णय पर जनहित में पुनर्विचार करने की अपील की है। पूर्व में सरकार द्वारा किये गये ग्रेटर नोएडा और आगरा में किये गये निजीकरण के प्रयोग पूरी तरह असफल साबित हुए है। निजी कम्पनी द्वारा सरकारी धन का लूट किया जा रहा है। कम दाम पर बिजली पावर कार्पोरेशन से खरीद कर अधिक दाम पर जनता को बेच कर जनता के धन का करोड़ो रूपये लूटा जा रहा है। उन्ही महानगरों का निजीकरण किया जा रहा है, जिन महानगरों पर अण्डरग्राउण्ड केबिलिंग का कार्य एवं अन्य विद्युत प्रणाली नियंत्रण पर अरबो रूपया खर्च कर सुधारा गया है। प्रणाली सुधार के फलस्वरूप विद्युत आपूर्ति में सुधार हुआ है। वाराणसी में शहरी एवं ग्रामीण उपभोक्ताओं को 24 घण्टे निर्बाध विद्युत आपूर्ति की जा रही है एवं लार्इन लास लगातार घट रहा है एवं थ्रू-रेट में भी काफी बृद्धि हो रही है। विरोध प्रदर्शन के कारण आज वाराणसी जनपद में राजस्व वसूली बुरी तरह प्रभावित हुआ है।
बैठक को सर्वश्री ए0आर0 वर्मा, एस0पी0 त्रिपाठी, अनिल वर्मा, ए0के0 श्रीवास्ताव, सुनिल यादव, आर0के0 वाही, आर0बी0 सिंह, ए0के0 लाल, ए0पी0 श्रीवास्तव, राजेन्द्र सिंह, राकेश सिंहा, मदन लाल, संजय तिवारी, संतोश वर्मा, तपन हलदार, राघवेन्द्र गोस्वामी, जगदीश पटेल, प्रमोद कुमार गुप्ता, जमुना पाल, अभिशेक श्रीवास्ताव, गुप्तेश्वर राय, मनीश झॉं, ए0के0 उपाध्याय, अनिल कुमार, रमाशंकर पाल, अमिता नन्द, यूसुफ, अचल सोन, विनोद, अजय आदि अधिकारियों/कर्मचारियों ने सम्बोधित किया।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget