सिरिंज और सुइयों पर मरीज से 1250 प्रतिशत तक मुनाफ़ा कमाया जता है।- एनपीपीए

मुनाफाखोरी

न्यूज डेस्क।।राष्ट्रीय औषधि मूल्य प्राधिकरण (एनपीपीए) ने कहा है कि सिरिंज और सुइयां काफी ऊंची कीमत पर बेची जा रही हैं। वितरकों को ये उत्पाद जिस दाम पर दिए जाते हैं आगे इन्हें कई गुना कीमत पर बेचा जाता है। कुछेक मामले में तो 1,250 प्रतिशत तक का मार्जिन लिया जा रहा है। 

एनपीपीए ने कहा कि आधिकारिक सूत्रों और विनिर्माताओं तथा आयातकों से उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर उसने सिरिंज और सुइयों में व्यापार मार्जिन या मुनाफे का विश्लेषण किया है। नियामक ने एक ज्ञापन में कहा कि सुई के साथ 5 एमएल की हाइपाडर्मिक डिस्पोजेबल सिरिंज वितरकों को औसतन 2.31 रुपये पर दी जाती हैं। इन्हें 13.08 रुपये के अधिकमत खुदरा मूल्य पर बेचा जा रहा है। यानी में इसमें 1,251 प्रतिशत तक का मार्जिन लिया जा रहा है। 

वहीं सुई के बिना 50 एमएल की हाइपोडर्मिक डिस्पोजेबल सिरिंज को अधिकतम 1,249 प्रतिशत मार्जिन के साथ बेचा जा रहा है। वितरकों को इसकी लागत 16.96 रुपये पड़ती है और आगे इसे 97 रुपये के अधिकतम खुदरा मूल्य पर बेचा जा रहा है।

उर्जांचल टाइगर" की निष्पक्ष पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें। मोबाइल नंबर 7805875468 पर पेटीएम कीजिए।

प्रतिक्रियाएँ:

एक टिप्पणी भेजें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget