कठुआ रेप हत्याकांड- संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने घटना की कड़ी निंदा की है।

कठुआ रेप हत्याकांड की गूंज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो रही है।


न्यूज डेस्क।।कठुआ रेप हत्याकांड की गूंज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो रही है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने इस अमानवीय घटना की कड़ी निंदा की है। उन्होंने आठ वर्षीय बच्ची से रेप और हत्या की घटना को 'डरावना' बताया है,और उम्मीद जताई है कि इस संबंध में प्रशासन न्याय ज़रूर सुनिश्चित करवाएगा।

जब पत्रकारों की ओर से इस घटना पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव की प्रतिक्रिया पूछा गया तब गुटेरेश के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने कहा, "मुझे लगता है कि हम इस बच्ची के उत्पीड़न और हत्या की डरावनी घटना की मीडिया रिपोर्ट देख चुके हैं। हम ये उम्मीद जताते हैं कि प्रशासन इन अपराधियों को उनके अंजाम तक पहुंचाए, ताकि उन्हें इस बच्ची की हत्या के लिए जवाबदेह ठहराया जा सके।"

बलत्कार के आरोपियों के समर्थन में हुई थी रैली

यह मामला इसलिए ज़्यादा सुर्ख़ियों में आया क्योंकि हाल ही में हिंदू एकता मंच नाम के एक संगठन ने अभियुक्तों के पक्ष में तिरंगा यात्रा निकाली थी। इस कार्यक्रम में जम्मू-कश्मीर की बीजेपी-पीडीपी सरकार में शामिल दो भाजपाई मंत्री भी पहुंचे थे।

इन दोनों मंत्रियों ने सार्वजनिक तौर पर अभियुक्तों के पक्ष में निकाली गई इस रैली का समर्थन किया था। शनिवार को ही दोनों मंत्रियों ने अपने इस्तीफे पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को सौंप दिए थे।

क्या है मामला 

बकरवाल मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक़ रखने वाली आठ वर्षीय बच्ची 10 जनवरी को अपने घर के पास से लापता हो गई थी। एक हफ़्ते बाद पास के ही एक जंगल वाले इलाक़े से उसकी क्षतविक्षत लाश बरामद हुई।

आरोप है कि गांव के ही एक हिंदू धर्मस्थल पर छह लोगों ने बच्ची को बंधक बनाकर रखा और उससे सामुहिक बलात्कार किया। जांच के अनुसार,बच्ची को नशीली दवाइयां दी गईं।

जनवरी में हुई इस घटना के संबंध में अब तक आठ लोग गिरफ़्तार किए गए हैं, जिनमें चार पुलिसकर्मी भी शामिल हैं।पुलिसकर्मियों पर सबूत मिटाने के भी आरोप हैं।

न्याय के लिए कैंडल मार्च 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के उन्नाव और जम्मू और कश्मीर के कठुआ में हुई बलात्कार की घटनाओं के विरोध में गुरुवार आधी रात को इंडिया गेट पर कैंडल मार्च का नेतृत्व किया। इस मौके पर राहुल की बहन प्रियंका भी मौजूद थी।

उन्होंने कहा, 'देश में जो हालात हैं, जो महिलाओं के खिलाफ अत्याचार हो रहा है, मोदी सरकार को इसे रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठा रही है। देश की महिलाएं आज घर से निकलने में भी डर रही हैं। जहां भी हम देखते हैं, कहीं न कहीं किसी बच्ची को मारा जाता है, रेप किया जाता है। हम चाहते हैं कि महिलाएं यहां शांति और सम्मान के साथ जी सकें।

बेटियों को न्याय मिलेगा 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अपनी चुप्पी तोड़ते हुए घटना को 'शर्मनाक' बताते हुए कहा, "मैं यह भरोसा दिलाना चाहता हूं कि किसी अपराधी को बख़्शा नहीं जाएगा और हमारी बेटियों को न्याय मिलेगा।"
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget