जानिए विदेश से कितना सोना ला सकते हैआप

जानिए विदेश से कितना सोना आप ला सकते है


डिजिटल डेस्क, उर्जांचल टाइगर 

भारतीयों को सोना अर्थात गोल्ड से कितना लगाव है यह बात जगजाहिर है। भारतीयों के 'गोल्ड प्रेम' से दुनिया वाकिफ है। देश में लोग सोने के आभूषण पहनने के अलावा चढ़ावे में भी चढ़ा देते हैं, त्योहारों पर खरीदने का रिवाज भी बहुत प्रचलित है। विदेशों में रहने वाले भारतीयों में भी सोने को लेकर उतना ही लगाव है जितना भारत में रहने वालो को,इसलिए जब भी वह वापस देश लौटते हैं तो सोना साथ में खरीदकर जरूर लाते हैं।

विदेश से सोना लाने वालो को अक्सर तस्करी के शक में एयरपोर्ट पर रोक लिया जाता है। एयरपोर्ट अथॉरिटि को इस बात का शक रहता है कि मिडिल ईस्ट से लोग सोने की तस्करी करते हैं इसलिए लोगों को एयरपोर्ट पर रोक लिया जाता है। कुछ लोग इस डर से लोग बाहर से सोना खरीद कर नहीं लाते हैं। पढ़िए कि आप विदेश से कितना ड्यूटी फ्री सोना खरीद कर ला सकते हैं। 

कितना ड्यूटी फ्री सोना विदेश से ला सकते हैं 

अगर आपने एक वर्ष से अधिक विदेश में रह चुके हैं तो आप 50 हजार रुपए तक का सोना भारत में ड्यूटी फ्री लेकर आ सकते हैं। वहीं महिलाओं के लिए ये छूट एक लाख रुपए तक है। महिलाएं एक लाख रुपए तक की कीमत का सोना ड्यूटी फ्री गोल्ड लेकर भारत आ सकती हैं।

क्या सोने के सिक्के-बिस्किट ड्यूटी फ्री है 

अब आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि अगर ऐसा है तो क्या विदेश से सोने के सिक्के या फिर सोने के बिस्किट ड्यूटी फ्री शर्तों के अंतर्गत लेकर आ सकते हैं ? इसका जवाब है नहीं । क्योंकि ड्यूटी फ्री की शर्तें सिर्फ सोने के आभूषणों पर लागू हैं और उनकी भी सीमा है ऐसे में आपको सोने के सिक्कों और बिस्किट्स पर ड्यूटी देना पड़ेगा।

ड्यूटी शुल्क कितना चुकाना होगा 

यदि आप ड्यटी शुल्क फ्री से ज्यादा सोना लाते हैं तो कितनी ड्यूटी चुकानी होगी? तो इसका जवाब है कि आपके पास ड्यूटी फ्री सोने से जितना अधिक सोना है उसका 10.3 प्रतिशत आपको ड्यूटी शुल्क चुकाना होगा। इस मामले में भी आपको नियम और शर्तें जान लेनी चाहिए कि कोई भी व्यक्ति 1KG से अधिक सोना नहीं ला सकता है। 

बगैर रसीद सोना साथ न लाए 

आप यदि विदेश से सोने के आभूषण या फिर सिक्के खरीदकर ला रहे हैं तो आपको उसकी रसीद साथ रखनी चाहिए। ये कस्टम्स में पूछ-ताछ के दौरान आपकी मदद करेगी साथ ही आपके पास खरीददारी और सोने की सही कीमत का एक प्रमाण भी रहेगा। इस तरह की रसीद आपको आगे आने वाली परेशानियों से बचाएगी। अगर आपके पास खरीदे गए गोल्ड की रसीद नहीं है तो ऐसा मान लिया जाएगा कि आप गोल्ड की तस्करी कर रहे थे या चोरी-छिपे विदेश से सोना ला रहे थे, जिसके लिए आपको जुर्माना और जेल दोनों हो सकती है।

अफवाहों पर यकीन न करें 

आम तौर पर लोगों में ये भ्रांतियां होती है कि विदेश से यदि सोने के आभूषण खरीद कर ला रहें हैं तो उन्हें पहन कर आना चाहिए क्योंकि पहने हुए आभूषणों पर किसी तरह की ड्यूटी नहीं देनी पड़ती है। लेकिन ये सच नहीं है। यहां भी वही नियम और शर्तें लागू रहती हैं।

विदेश जाने वक्त भी दें गोल्ड का ब्यौरा 

आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि विदेश जाने से पहले आपको अपने गहनों के संबंध में कस्टम को जानकारी दे देनी चाहिए। चाहे आपने छोटी सी अंगूठी ही क्यों ना पहनी हो विदेश जाने से पहले आपको एयरपोर्ट पर ये सुनिश्चित करना होगा कि यह आभूषण आपका है और आप इसे देश से ही पहन कर जा रहे हैं। इससे आप वापसी के दौरान होने वाली परेशानी से बच सकते हैं।

अब दौर पहले के जैसा नहीं रहा। पहले देश में ये धारणा थी कि यहां मिलने वाला सोना उतना खरा नहीं जितना विदेशी सोना होता है। लेकिन सरकार के नियम अब कड़ाई से लागू किए जा रहे हैं जिससे बाजार में सिर्फ हॉलमार्क के ही सोने के आभूषण बिक रहे हैं। इसलिए अब इस बात से चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है कि देश में मिलने वाला सोना खरा है या नहीं।

Post a Comment

डिजिटल मध्य प्रदेश

डिजिटल मध्य प्रदेश

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget