विद्युत उपकेन्द्र के निर्माण कार्य को युद्वस्तर पर अभियान चलाकर पूरा कराये-कमिश्नर

विद्युत उपकेन्द्र के निर्माण कार्य को युद्वस्तर पर अभियान चलाकर पूरा कराये-कमिश्नर

किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दास्त नही
वाराणसी।।कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने राजातालाब में 120 करोड़ 50 लाख की लागत से निर्माणाधीन 220 केवी विद्युत उपकेन्द्र के निर्माण कार्य को युद्वस्तर पर अभियान चलाकर शीघ्र पूरा कराये जाने का विद्युत विभाग के अभियंता को निर्देशित किया। इस उपकेन्द्र को आने वाली लाइन हेतु औराई में निर्माणधीन उपकेन्द्र के निर्माण कार्य की प्रगति काफी खराब होने की जानकारी पर उन्होने व्यक्तिगत रूचि लेते हुए कार्य में तेजी लाये जाने पर जोर दिया। जबकि राजातालाब उपकेन्द्र के लिये आने वाली लाइन हेतु साहूपुरी में बन रहे उपकेन्द्र के निर्माण कार्य की प्रगति सन्तोषजनक होने के बावजूद कुछ विद्युत विभाग के अभियंता द्वारा कुछ समस्या बताते हुए अवगत कराया गया कि जिलाधिकारी वाराणसी के माध्यम से समस्या का समाधान शीघ्र करा लिया जायेगा। कमिश्नर ने औराई एवं साहुपूरी उपकेन्द्र के निर्माण कार्य को शीघ्र पूरा कराये जाने का निर्देश देते हुए किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दास्त न किये जाने की हिदायत दी।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल मंगलवार को राजातालाब में 120 करोड़ 50 लाख की लागत से निर्माणाधीन 220 केवी विद्युत उपकेन्द्र एवं 434.91 लाख लागत से राजातालाब में निर्मित पेरिशेबल कॉर्गो का औचक निरीक्षण किया गया। निर्माणाधीन राजातालाब विद्युत उपकेन्द्र के निरीक्षण के दौरान बताया गया कि फिलहाल वर्तमान में राजातालाब उपकेन्द्र से एक लाइन लेकर उपकेन्द्र का चार्ज किया जा रहा है। जबकि 3-4 दिनों में कुरसातों उपकेन्द्र से लाइन लेकर इस उपकेन्द्र को उर्जीकृत कर दिया जायेगा। इसके बाद ठठरा, बरनी, बरकी, रूपापुर एवं लालपुर आदि क्षेत्रों में इस उपकेन्द्र से विद्युत वितरण शुरू कर दिया जायेगा। विभागीय अभियंता द्वारा बताया कि अक्टूबर/नवम्बर से इस केन्द्र को पूरी क्षमता से संचालन शुरू हो जायेगा। राजातालाब में 434.91 लाख लागत से राजातालाब में निर्मित पेरिशेबल कॉर्गो के निरीक्षण के दौरान बताया गया कि इस कॉर्गो के संचालन शुरू हो जाने से किसान अपना फल एवं सब्जी काफी सस्ते दर पर कॉर्गो में रख सकेगें। ताकि किसान समयानुसार उचित मूल्य पर अपने फल एवं सब्जी की बिक्री कर सकें। यहॉ से किसान अपने फल एवं सब्जी को ट्रासपोर्ट करके दूसरे स्थलों पर भी ले जाकर बिक्री कर सकेंगें। निर्मित कॉर्गो की क्षमता 400 में0टन का है। यहॉ पर 100 में0टन के चार चेम्बर बनाये गये है। कॉर्गो के संचालन के बाबत कमिश्नर द्वारा पूछे जाने पर बताया गया कि इस कार्गो का संचालन आईटीसी द्वारा अपने सीएसआर फण्ड से कियें जाने की सम्भावना है।

निरीक्षण के दौरान उप जिलाधिकारी राजातालाब, विद्युत विभाग के अभियंता आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget