चन्दौली मेडिकल कॉलेज पर भाजपा सांसद का बयान दुर्भाग्यपूर्ण- पूर्व विधायक मनोज सिंह

चन्दौली मेडिकल कॉलेज पर भाजपा सांसद का बयान दुर्भाग्यपूर्ण- पूर्व विधायक मनोज सिंह

चन्दौली सांसद डॉ0 महेंद्रनाथ पांडेय के बयान पर पूर्व विधायक ने दी कड़ी प्रतिक्रिया।
चन्दौली (उ.प्र.)।। चन्दौली मेडिकल कॉलेज का मुद्दा बढ़ते तापमान के साथ अब सियासी सरगर्मी का रूप ले लिया है। विगत दिनों पूर्व सपा सांसद के बयान पर चन्दौली के वर्तमान सांसद व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ0 महेन्द्रनाथ पांडेय की बीच जुबानी जंग चल ही रही थी कि शनिवार को सैयदराजा के पूर्व विधायक मनोज कुमार सिंह डब्लू ने बयान जारी कर मेडिकल कॉलेज के मामले को तूल दे दिया। उल्लेखनीय है कि पिछली समाजवादी पार्टी की सरकार में मनोज सिंह ने सैयदराजा विधानसभा के माधोपुर में (जो कि उनका पैतृक गांव भी है) उद्यान विभाग की जमीन को चिकित्सा शिक्षा विभाग के नाम हस्तांतरित करवा कर मेडिकल कॉलेज निर्माण के लिए अथक प्रयास किया था। लेकिन तब सियासी वर्चस्व की जंग में पार्टी के ही नेताओं के आपसी खींचातानी में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव चन्दौली आ कर मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास करने से परहेज किया और लखनऊ से ही शिलान्यास का रस्म अदा किया। यही वजह थी कि मेडिकल कॉलेज का निर्माण शुरू नहीं हो पाया!

आज पूर्व विधायक मनोज कुमार सिंह डब्लू ने कहा कि इधर कुछ दिनों से चन्दौली मेडिकल कॉलेज के नाम पर वर्तमान चन्दौली सांसद द्वारा मीडिया में वक्तव्य आ रहा है। बिल्कुल अनभिज्ञ बनते हुए उन्होंने बयान जारी किया कि कहाँ प्रस्तावित है चन्दौली में मेडिकल कालेज? उन्होंने दस्तावेज भी मांगा! अब सवाल ये है कि शासित पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष होने के बावजूद इस तरह का सतही बयान देना क्षेत्रीय प्रतिनिधि को कितना शोभा देता है? अगर उनका क्षेत्र से थोड़ा भी सरोकार होता तो ये सवाल शायद वो नहीं करते? सर्वविदित है कि विगत समाजवादी सरकार के यशस्वी मुखिया श्री अखिलेश यादव जी ने चन्दौली को राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कालेज के सौगात दिया था। मैंने अथक प्रयास करके माधोपुर में उद्यान विभाग की जमीन चन्दौली मेडिकल कॉलेज के नाम हस्तांतरित करवा कर सभी आवश्यक प्रक्रिया पूर्ण करवा दिया था। शासन द्वारा बजट भी जारी हुआ। चुनाव आचार संहिता की वजह से कार्य शुरू नहीं हो पाया था। इतनी प्रकिया होने के बावजूद वर्तमान सांसद द्वारा इस तरह का बयान जनपदवासियों के साथ क्रूर एवं घिनौना मजाक नहीं तो क्या है? मेडिकल कॉलेज से जुड़ी समस्त दस्तावेज जिला प्रशासन एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के पास मौजूद हैं, मीडिया में बयान से पहले उन्हें जिला प्रशासन से इसकी जानकारी लेनी चाहिए थी। अगर सांसद महोदय सच में चन्दौली मेडिकल कॉलेज निर्माण के लिए प्रयासरत होते तो केंद्र व राज्य में इनकी सरकार है फिर भी बयान देकर सतही राजनीति करना चन्दौली की जनता द्वारा दिये गए जनादेश का अपमान नहीं तो क्या है? चन्दौली जनपद को बेहतर चिकित्सा शिक्षा एवं चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने की खातिर मैंने अथक प्रयास कर माधोपुर में प्रस्तावित चन्दौली मेडिकल कॉलेज को जमीन पर उतार दिया था मगर अफ़सोफ निर्माण कार्य शुरू न हो सका। चार साल से सांसद एवं पूर्व में केंद्र में मंत्री होने के बावजूद इन्होंने चन्दौली में मेडिकल कॉलेज निर्माण शुरू कराने की दिशा में एक भी प्रयास किया हो तो कोई कागज या लेटर दिखाऐं? चुनाव करीब होते ही लफ्फाजी करना जनता को गुमराह करना नहीं तो क्या है? सच्चाई तो ये है कि समाजवादी सरकार द्वारा दिये गए मेडिकल कॉलेज को राजनीति द्वेष के चलते वर्तमान भाजपा सरकार एवं भाजपा के क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि मेडिकल कॉलेज निर्माण को नहीं होने दे रहे हैं। मैने पहले भी कहा है कि माधोपुर में मेडिकल कॉलेज बनकर रहेगा चाहे इसके लिए आंदोलन करना पड़े। जनविरोधी भाजपा सरकार अपने तानाशाही से चन्दौली मेडिकल कॉलेज को बनने से नहीं रोक सकती है और न ही कहीं अन्यत्र ले जाने दिया जाएगा।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget