हमें देश के ऐसी बेटियों पे नाज़ है।

chesh,saumya swaminathan,India,भारत,हिंदी समाचार,ईरान


 अब्दुल रशीद
@urjanchaltiger,उर्जांचल टाइगर 

भारत कि महिला ग्रैंडमास्टर सौम्या स्वामीनाथन 26 जुलाई से ईरान में होने वाले चेस चैम्पियनशिप से अपना नाम वापस ले लिया, वजह यह चैम्पियनशिप जिस देश में हो रहा है वह देश 21 वी सदी में रूढिवादी प्रथा को महत्व देता है।उस ढोंग प्रथा के कारण ईरान में महिलाओ पर सर ढकने की पाबंदी है।

अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता के लिए कई मानक तय होते हैं, ठीक वैसे ही पहनावे के लिए भी अंतर्राष्ट्रीय मानक तय होना चाहिए,और जो देश इन मानकों न माने उन देशों को मेज़बानी न दिया जाए।

यह बेहद आपत्तिजनक है,कि कोई देश किसी अन्य देश के खिलाड़ी को अपने यहां के रूढिवादी प्रथा जबरदस्ती थोपे और रूढ़िवादी ढोंग प्रथा के अनुसार पहनावा पहनने को बाध्य करे।

सर ढकने की रुढ़िवादी ढोंग प्रथा का किसी भी विकसित समाज में जायज़ प्रथा करार नहीं दिया जा सकता। इस ढोंग को सिरे से ही ख़ारिज कर देना चाहिए।क्योंकि इस तरह के प्रथा महिलओं के प्रति पुरुष समाज में व्याप्त कुंठित मानसिकता को दर्शाता है, जो किसी भी मायने आज के आधुनिक दौर में स्वीकार्य नहीं हो सकता।

हाँ आप अपने देश में अपने कायदे कानून को अपने प्रथा के अनुसार मानिए,लेकिन अपनी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ऐसे रूढ़िवादी सोंच का प्रदर्शन क्यों? और ऐसे प्रथा को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बहिष्कार क्यों नहीं किया गया? यह सवाल एक खिलाड़ी,एक मुक्त विचारधारा,और विकसित सोंच के ज़ेहन में आ सकता है लेकिन थोड़ा हट के सोंचिए,और अंतर्राष्ट्रीय राजनीती के मद्देनज़र सोंचिए,एक लम्हें में बात समझ जाएंगे।

भारतीय महिला खिलाड़ी चाहती तो स्कार्फ बांध कर एक और जीत,एक और ट्राफी अपने नाम कर सकती थी,लेकिन उन्होंने चैम्पियनशिप से नाम अलग करते हुए इस प्रथा को अस्वीकार्य कर इस रूढिवादी प्रथा और महिला विरोधी सोंच को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रूढिवादी मानसिकता को आईना दिखाया है। यह निर्णय की जितनी प्रशंसा की जाए कम है।

इसी रूढ़िवादी प्रथा के कारण 2016, ईरान में हुई एशियाई प्रतियोगिता में भारतीय निशानेबाज हिना संधू ने प्रतियोगिता में भाग नहीं लिया था।

हमें देश के ऐसी बेटियों पे नाज़ है।ट्राफी तो आते जाते रहेंगे।

क्या सर या चेहरा खुला रखना अंग प्रदर्शन है? 

ज़वाब कमेंट बॉक्स में जरुर दीजिएगा. अच्छा लगे तो शेयर कीजिए



टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget