मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले के सभी दोषियों को सजा होना चाहिए- वसीम अकरम

मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले के सभी दोषियों को सजा होना चाहिए- वसीम अकरम

न्यूज डेस्क
मुजफ्फरपुर,बिहार,उर्जांचल टाइगर 

मुजफ्फरपुर  बालिका गृह 34 लडकियों के साथ बलात्कार के मामले में बिहार के मुख्य विपक्षी दल राजद का क्या रुख है इस को जानने के लिए जब "उर्जांचल टाइगर" ने प्रदेश महासचिव सह प्रवक्ता वसीम अकरम से बात की गई तो उन्होंने कहा के पार्टी ने साइकिल रैली के दौरान अपना रुख स्पष्ट करते हुए इस मुद्दे को पुरज़ोर तरीके से उठाया था और जब तक बालिकओं को न्याय नहीं मिलाता तब तक लोकतान्त्रिक तरीके से यह लड़ाई जारी रहेगा।

चार्जशीट में सामने आए बातों पर उन्होंने कहा यह बेहद घिनौना कृत्य है। जो कोई भी इस अमानवीय कृत्य में शामिल है,उसे जल्द से जल्द भारतीय दंड संहिता के अनुसार कठोर से कठोर सज़ा मिलना चाहिए,दोषी चाहे कितना भी रसूखदार और राजनैतिक पहुँच वाला क्यों न हो, किसी भी कीमत पर  बचना नहीं  नहीं चाहिए।

चार्जशीट में सामने आए कई चौकाने वाली बात 

मजफ्फरपुर के बालिका गृह में 34 लड़कियों के साथ बलात्कार के मामले में पुलिस ने जो आरोप पत्र दायर किए हैं,उसमें कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। पुलिस ने 28 जुलाई को 16 पन्नो की चार्जशीट कोर्ट में दायर की।

पुलिस के चार्जशीट में जो सबसे चौकाने वाली बात थी वह यह थी की बालिका गृह में एक कमरा था जो ऑपरेशन थिएटर के रूप में काम करता था।यहां रहने वाली लडकियों के साथ शारीरिक शोषण के बाद गर्भवती होने की स्थिति में जबरन इसी ऑपरेशन थिएटर में गर्भपात करा दिया जाता था।

रात ने नग्न होकर सोने को कहते थे 

चार्जशीट में लिखा है कि बालिका गृह में रहने वाली लड़कियों को अक्सर रात में नग्न अवस्था में सोने को कहा जता था। रात में बालिका गृह की कोई महिला कर्मचारी इन लडकियों के साथ में शारीरिक शोषण किया करती थी।जब कोई लड़की शारीरिक शोषण का विरोध करती थी तो हंटर वाले अंकल यानी ब्रिजेश ठाकुर उनके गुप्तांक पर लात से मार कर उन्हें सजा दिया करते थे,जो पीड़ित लड़कियों के लिए असहनीय हुआ करता था।

चार्जशीट में 32 पीड़ितों का ब्यान 

इस सम्बंध में अपर लोक अभियोजक संगीता साहनी ने बताया कि पुलिस की चार्जशीट में 32 लडकियों का ब्यान का जिक्र है। पीड़ित लड़कियों ने अपने ऊपर कई महीनों से हो रहे शारीरिक शोषण और यातनाओं का जिक्र किया है।चार्जशीट में पुलिस ने बताया की बालिका गृह में उन्हें 67 किस्म की नशीली दवाइयां और इंजेक्शन मिले हैं।

कौन है तोंद,मुछ व हंटर वाले अंकल 

पुलिस की चार्जशीट में लडकियों के उस बयान का भी जिक्र है जिसमें उन्होंने 3 लोगों का के बारे में बताया था।लडकियों ने कहा था तीन लोगों से काफी डर लगता था, तोंद वाले नेता जी, मूंछ वाले अंकल, और हंटर वाले अंकल।
पुलिस की जांच के दौरान पीड़ित लडकियों ने हंटर वाले अंकल के रूप में बालिका गृह के संचालक ब्रिजेश ठाकुर की पहचान की है। इस बात को लेकर अभी खुलासा नहीं हुआ है कि तोंद वाले नेता और मूछ वाले अंकल आखिर कौन थे जिनका जिक्र चार्जशीट में किया गया है।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget